ग्वालियरमध्य प्रदेश

भारतीय वायुसेना का मिग-21बाइसन विमान क्रैश,पायलट की मौत

ग्वालियर — जिले से बड़ी खबर आ रही है यहां भारतीय वायुसेना का लडाकू विमान मिग-21 बाइसन फाइटर जेट बुधवार को दुर्घटनाग्रस्त हो गया. इस दुर्घटना में भारतीय वायुसेना के ग्रुप कैप्टन की जान चली गई. शहीद हुए ग्रुप कैप्टन की पहचान ग्रुप कैप्टन ए गुप्ता के रूप में हुई है। यह विमान सुबह मध्य भारत एयर बेस से उड़ान भराने के बाद क्रैश हुआ है। भारतीय वायु सेना फाइटर विमान के क्रैश होने की घटना की पुष्टि की है। साथ दुर्घटना जांच के आदेश दे दिए हैं।

घटना की जानकारी लगते ही मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस हादसे को लेकर ट्वीट कर संवेदना व दु:ख व्यक्त किया है.भारतीय वायुसेना ने ट्वीट में लिखा कि, इस दुखद दुर्घटना में इंडिनय एयरफोर्स ने अपने ग्रुप कैप्टन ए. गुप्ता को खो दिया। भारतीय वायुसेना गहरी संवेदना व्यक्त करता है और दुख की इस घड़ी में परिवार के सदस्यों के साथ मजबूती से खड़ा है। दुर्घटना के कारणों का पता लगाने के लिए कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी का आदेश दिया गया है। बता दें कि इससे पहले जनवरी महीने में 5 तारीख को भारतीय वायु सेना का लड़ाकू विमान मिग-21 राजस्थान के सूरतगढ़ में हादसे का शिकार हो गया था। मिग-21 फाइटर जेट में तकनीकी खराबी आने से वह सूरतगढ़ के पास में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। हालांकि, हादसे में पायलट सुरक्षित बच गया था।

मिग-21 विमान इतना है शक्तिशाली

दरअसल, भारतीय वायुसेना ने 1961 में मिकोयान-गुरेबिच डिजाइन ब्यूरो निर्मित मिग-21 विमान को हासिल किया था। इसमें एक इंजन और एक सीट है। यह विभिन्न भूमिका निभाने वाला लड़ाकू विमान है, जो जमीन पर मार करने में सक्षम है। यह विमान लंबे समय तक भारतीय वायुसेना की रीढ़ रही है। इसकी अधिकतम गति 2230 किलोमीटर प्रति घंटा है और यह 23 मिलीमीटर के दो बैरल वाले तोप के साथ चार आर-60 लड़ाकू मिसाइल ले जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button