आगर मालवा

Cadbury Chocolate : दुकान से खरीदा कैडबरी चॉक्लेट,पैकेट खोलते ही अंदर से निकले बिलबिलाते कीड़े

आगर मालवा-लोकप्रिय कैडबरी मिल्क चॉकलेट  (Cadbury Chocolate) पर लोग आंख बंद कर भरोसा करते हैं कि ये स्वास्थ्य के लिए हानिकारक नहीं होंगी। अमूमन लोगों का मानना है कि बड़ा ब्रांड है, इसलिए सब कुछ अच्छा ही होगा परंतु शायद ऐसा नहीं है। एक ग्राहक की डेयरी मिल्क (dairy Milk) में फंगस (Fungus) और कीड़ा निकला है। जबकि चॉकलेट की एक्सपायरी डेट 8 महीने बचे हुए थे। फिलहाल उपभोक्ता ने खाद्य विभाग में शिकायत की है जहां खाद्य विभाग की टीम ने कैडबरी चॉकलेट सहित अन्य खाद्य पदार्थों का सैंपल लिया है देखना होगा कि कंपनी के खिलाफ खाद्य विभाग क्या कार्यवाही करता है।

बता दें कि नलखेड़ा निवासी शुभम कुमार पिता सुशील कुमार सकलेचा ने 15 अक्टूबर को मां बगलामुखी मुख्य मार्ग स्थित फूड कोड के नाम से संचालित कैफे से एक 40 रुपए कीमत की डेरी मिल्क चॉकलेट खरीदी थी। उसने चॉकलेट को खाने के लिए अपनी पत्नी को दिया जहां पत्नी को चॉकलेट का स्वाद ठीक नहीं लगा। जब चॉकलेट को पूरी तरह खोला गया तो उसमें सफेद कलर के कई कीड़े चल रहे थे । शुभम सकलेचा द्वारा चॉकलेट के फोटो व वीडियो बनाकर एक शिकायत शुभम द्वारा जिला खाद्य अधिकारी के. एल. कुंभकार को की गई।इस दौरान दुकान में में बड़ी मात्रा में पानी लगी चॉकलेट भी रखी हुई थी।

शुभम सकलेचा जैसे ही चॉक्लेट का पैक खोला, पहली बाईट लेने से पहले ही उसे उसके ऊपर कुछ चलता हुआ नजर आया। उसने पूरे बार को पैकेट से बाहर निकाला तो हैरान रह गई। चॉकलेट में कीड़े बिलबिलाते रहे थे।शिकायत मिलने के बाद खाद्य विभाग ने मौके से चॉकलेट का सैंपल लिया है जिसे जांच के लिए प्रयोगशाला भेजा जाएगा। कार्रवाई के दौरान डीलर अनिल जैन द्वारा गोदाम का प्रवेश द्वार बंद कर मीडिया को कवरेज करने से रोका गया। वहीं मामले में कंपनी के एरिया सेल्स मैनेजर विपुल सोनी भी किसी प्रकार का जवाब देने से बचते रहे।

इनका कहना है

चाकलेट में शिकायत मिलने के बाद खाद्य अधिकारी कुंभकार द्वारा मंगलवार को नलखेड़ा पहुंचकर उक्त दुकान का पंचनामा बनाकर अन्य खाद पदार्थों के सैंपल भी लिए गए।

के.एल.कुम्भकार, जिला खाद्य अधिकारी,आगर मालवा

Back to top button