भोपाल

MP के कटनी व सिंगरौली की धरती जल्द उगलेगी सोना! 120 किलो से ज्यादा सोना मिलने की संभावना

जीएसआई के अधिकारियों ने इमलिया में दो स्थानों पर 135 और 295 मीटर तक निकाले गए खनिज के सैंपल को जांच के लिए नागपुर स्थिति सेंट्रल इंडिया के मुख्यालय भेजा था, जहां से सोने में करीब 70 फीसदी की शुद्धता बताई गई है। वहीं  सिंगरौली के चकरिया गोल्ड ब्लॉक में 8.51 हेक्टेयर भूमि आरक्षित की गई है। यहां के अयस्क से करीब 65 किलो सोना निकाले जाने की उम्मीद है।

मेरे देश की धरती सोना उगले उगले हीरे मोती यह गीत मध्य-प्रदेश के लिए सही साबित होने जा रहा है जहां पन्ना जिले में लंबे समय से हीरे की खदान शुरू है तो वही अब कटनी जिले की इमलिया ग्राम पंचायत और सिंगरौली जिले की चकरिया ग्राम पंचायत में सर्वे के दौरान अपार सोने का भंडार मिला है जहा दोनों जिलों में करीब 65% सोना के शुद्धता का अनुमान लगाया जा रहा है ।

Esha Gupta बीमारी में फ्लॉन्ट की अपनी बिना ब्रा के परफेक्ट फिगर, तस्वीरें देख फैंस की बढ़ गई धड़कने

जल्द शुरू होगा उत्खनन का काम

कटनी जिले में करीब 4 से 5 महीने में सोने का उत्खनन किया जाएगा, जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया के सर्वे में धरती के अंदर सोने के भंडार की अपार संभावना जताई गई है। यदि सर्वे के मुताबिक खनन होता है तो सोने का खनन होने वाला ये एमपी का पहला जिला होगा, इसके साथ ही साथ ही प्रदेश में सबसे ज्यादा राजस्व देने वाला जिला भी बन जाएगा. वही बता दें कि सिंगरौली जिले की चितरंगी तहसील के चकरिया को सोना निकलने के लिए चिन्हित किया जा चुका है। हालांकि अभी तक खदानों की नीलामी नहीं हो पाई है। जीएसआई सर्वे में जिले के चितरंगी क्षेत्र के चकरिया में गोल्ड ब्लॉक के रूप में चिन्हित किया है।

MP- इस गांव के रोज बदल जाते हैं रास्ते,NCL-CISF फोर्स लगाकर करती है निगरानी,शाम 7 बजे बंद हो जाता है रास्ता,यह है वजह

सिंगरौली में 40 से 50 किलो है सोना

चितरंगी क्षेत्र के चकरिया में सर्वे के मुताबिक लगभग 40 से 50 किलोग्राम सोना होने का अनुमान लगाया गया है, इसकी वास्तविक मात्रा का पता खनन होने के बाद ही बताया जा सकता है। अनुमान से ज्यादा तादात में भी सोना हो सकता है, साथ ही अन्य धातुओं के होने की बात भी मानी जा रही है। कटनी जिले मे जीएसआई के अधिकारियों ने इमलिया में दो स्थानों पर 135 और 295 मीटर तक निकाले गए खनिज के सैंपल को जांच के लिए नागपुर स्थिति सेंट्रल इंडिया के मुख्यालय भेजा था, सोने की शुद्धता लगभग 65 प्रतिशत बताई गई थी। कटनी जिले में सोने के अलावा तांबा, जमीन, जस्ता, चांदी और अन्य धातुएं मिलने की भी संभावना है। हालांकि टीम दोबारा सर्वे करने आएगी। ताकि अधिक सटीक जानकारी एकत्र की जा सके। तो वही singrauli जिले मे गोल्डब्लॉक में 23.7 हेक्टेयर क्षेत्र को रिजर्व किया गया और इसी क्षेत्र में सोने के होने का अनुमान है।

MP में रहस्यमयी गांव,जहां रोज बदल जाते है रास्ते,गांव वाले घर का भूल जाते है रास्ता,यह है रहस्य

17 साल पहले शुरू हुई थी सोने की खोज

इमलिया क्षेत्र में सोने की खोज करीब 17 साल पहले शुरू हुई थी। यहां सर्वे कर खनिजों की संभावना पर काम शुरू किया गया है और यह काम बीच-बीच में होता रहा और लोगों की उम्मीदों को अधिकारियों ने बनाए रखा।जिस पर आखिरकार दस्तखत कर दिए गए। और सभी अटकलों पर विराम लग गया। इसके लिए सिंगरौली के चकरिया गोल्ड ब्लॉक में 8.51 हेक्टेयर भूमि आरक्षित की गई है। यहां के अयस्क से करीब 65 किलो सोना निकाले जाने की उम्मीद है।

बॉलीवुड से ज्यादा हॉलीवुड फिल्मों में दिखाए जाते है गंदे सीन,इसके पीछे यह रही बड़ी वजह

 

Back to top button