ग्वालियर

शिवराज कें कैबिनेट मंत्री को सरेराह महिला ने जड़े थप्पड़!यह है माजरा

एक महिला बबीना बाई प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न तोमर पर बरस पड़ीं. महिला की नाराजगी देख मंत्री तोमर ने बाकायदा उनके पैर छूते हुए कहा वे उनके बेटे जैसे हैं. यदि बेटे से कोई गलती हुई है तो वह उनकी पिटाई भी कर सकती हैं. इतना ही नहीं ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न तोमर ने महिला से उनकी पिटाई करने की बात कहते हुए महिला के हाथों से अपने दोनों गालों पर थप्पड़ भी लगवाए.

ग्वालियर. मध्यप्रदेश सरकार के वरिष्ठ मंत्री को भरे बाजार तमाचे मारे गए. एक महिला ने कैबिनेट मंत्री प्रद्युम्न सिंह को थप्पड़ जड़े, यह देख बाजार में सन्नाटा छा गया. घटना को देखकर हर कोई हैरान रह गया.वजह तमाचा किसी आम को नहीं बल्कि खास को जड़ा गया था. लेकिन शायद आपको जानकर हैरानी होगी कि मंत्री को महिला ने अपनी मर्जी से तमाचा नहीं मारा था, बल्कि उन्होंने खुद महिला से तमाचा मारने को कहा था. आप सोच रहे हैं भला मंत्री ने खुद को तमाचा क्यों मरवाया, तो हम आपको इसकी वजह बताने जा रहे हैं. 

घटनाक्रम के अनुसार मंडी से हटाई गई एक महिला बबीना बाई प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न तोमर पर बरस पड़ीं. महिला की नाराजगी देख मंत्री तोमर ने बाकायदा उनके पैर छूते हुए कहा वे उनके बेटे जैसे हैं. यदि बेटे से कोई गलती हुई है तो वह उनकी पिटाई भी कर सकती हैं. इतना ही नहीं ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न तोमर ने महिला से उनकी पिटाई करने की बात कहते हुए महिला के हाथों से अपने दोनों गालों पर थप्पड़ भी लगवाए.

सब्जी मंडी में सरेआम ये अजब वाकया देख लोग हैरत में पड़ गए. सब्जी बेचने वाली महिला ने मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के गाल पर चांटे जड़े लेकिन कोई कुछ नहीं कर सका. भीड़ में से कुछ लोगों ने महिला के हाथ पकड़ने की कोशिश की लेकिन स्वयं मंत्रीजी ने उन्हें रोका. इस प्रकार महिला का गुस्सा शांत कराने मंत्री खुद ही सरे बाजार पिटे.बबीना बाई ने मंत्रीजी को खूब खरी-खोटी सुनाई. बबीनाबाई की नाराजगी खत्म करने प्रद्युम्न तोमर ने उनके पैर छुए और कहा कि माई पहले मेरी पिटाई कर ले फिर तेरी बात सुनूंगा. इसके बाद मंत्री ने बबीनाबाई के हाथों से अपने दोनों गाल पर खुद ही थप्पड़ लगवाए.

दरअसल हजीरा की सब्जी मंडी को इंटक मैदान में शिफ्ट कर दिया गया है. क्षेत्रीय विधायक होने के नाते ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न तोमर नयी व्यवस्था का हाल जानने विस्थापित दुकानदारों के बीच पहुंचे थे. लेकिन दुकानदार नाराज बैठे थे. महिला दुकानदार बबीना बाई ऊर्जा मंत्री को देख उनपर फूट पड़ीं.नगर-निगम के इस फैसले का विरोध भी हुआ, इस दौरान सब्जी विक्रेताओं ने कई गंभीर आरोप भी लगाए गए हैं, उनका कहना है कि कई सालों से संचालित इस मंडी को बड़े नेताओं के इशारे पर पूंजी पतियों के लिए खाली कराया जा रहा है. 

सब्जी दुकानदारों को दूसरी जगह पर शिफ्ट किए जाने पर सियासत भी खूब हो रही है. कांग्रेस ने आरोप लगाए हैं कि यह सब केंद्रीय मंत्री और ग्वालियर के महाराज ज्योतिरादित्य सिंधिया के इशारे पर किया जा रहा है. कांग्रेस का कहना है कि महाराज अब तानाशाह होते जा रहे हैं, गरीब जनता के ऊपर अतिक्रमण के नाम पर कार्रवाई की जा रही है, गरीब का रोजगार छीना जा रहा है और दावा किया जा रहा है कि ग्वालियर को स्मार्ट बना रहे हैं. वहीं कांग्रेस के आरोपों पर मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर ने भी पलटवार किया, उन्होंने कहा कि कांग्रेस का विरोध खोखली राजनीति है. उनका कहना है कि कांग्रेस के पास कोई मुद्दा नहीं बचा है तो वह और कर भी क्या सकती है. 

Back to top button