अज़ब-गज़ब

पीपल के पत्ते से टोटका,महिलाओं को बस में करने का अचूक तरीका, जानिए विधि !

पीपल के पत्ते से किसी को भी अपने बस में कर सकते हैं। फिर चाहे वह कोई लड़की, महिला, यह आपकी पड़ोसन ही क्यों न हो।

पीपल का पेड़ हिन्दू धर्म में सबसे पवित्र माना जाता है. पेड़ की विधिवत पूजा होती है मुख्य रूप से इसको भगवान विष्णु का स्वरूप मानते हैं. इसके पत्तों, टहनियों यहाँ तक कि कोपलों में भी देवी देवताओं का वास माना जाता है. कहा जाता है कि पीपल के मूल में ब्रह्मा,मध्य में विष्णु और शीर्ष में शिव जी निवास करते हैं। पीपल के पेड़ को काटना ब्रहम हत्या के बराबर बताया गया है।

वशीकरण के लिए पीपल के पेड़ को ही चुना गया है। वशीकरण वैसे भी अपने नाम के अनुसार कार्य करता है। इसमें कोई संदेह नहीं है। आवश्यकता है तो सिर्फ इतनी इसे सही तरीके से पूर्ण किया जाए। कई बार लोग आधी अधूरी जानकारी में वशीकरण का उपयोग करते हैं और असफल हो जाते हैं।आज हम एक ऐसा वशीकरण का टोटका बताने जा रहे हैं जिसे करने के बाद आप किसी को भी अपने बस में कर सकते हैं। फिर चाहे वह कोई लड़की, महिला, यह आपकी पड़ोसन ही क्यों न हो।

अमावस्या के दिन करें तंत्र विद्या

Amavasya को तंत्र-मन्त्र सिद्धि के लिए सबसे उपयुक्त दिन माना जाता है। इस दिन तांत्रिक अपने लिए नए प्रयोग और तंत्र मंत्र-मंत्र सिद्धियां प्राप्त करते हैं। ऐसे में हम आपको कुछ ऐसे ही अचूक उपाय बताने जा रहे हैं जिनके करने मात्र से ही असर दिखने लगेगा।

पीपल के पत्ते से करे वशीकरण

अपनी प्रेमिका को पाने के लिए पीपल के पत्ते से वशीकरण कर आप किसी भी लड़की को अपने बस में कर सकते है जिसे करने पर आपको निश्चित ही सफलता मिलेगी। इसके लिए अमावस्या के दिन सुबह नहाने के बाद पीपल के दो सूखे पत्ते ले जाएं। जो पेड़ के नीचे गिरे हुए हों।

  1. इस पीपल के पत्ते पर काजल से उसका नाम लिखें जिसे आप अपने बस में करना चाहते हैं।
  2. पत्ते में नाम लिखने के पश्चात उसे पीपल के वृक्ष के पास ही पत्ते को उल्टा कर रख दें और उसके ऊपर एक भारी पत्थर से दबा दें साथ ही दबाने के बाद पीछे मुड़कर मत देखें।
  3. अब दूसरा पत्ता लेकर घर चले जाएं और उसमें सिंदूर से उसका नाम लिखे जिसे आप बस में करना चाहते हैं।
  4. इसके पश्चात उस पत्ते को छत में लाकर उल्टा रख दें और भारी पत्थर दबा दें।
  5. यह क्रिया पूर्ण करने के बाद अगली पूर्णिमा तक पीपल की जड़ में प्रतिदिन जल डालें। मनोकामना पूर्ण होने का आशीर्वाद मांगे।
  6. ऐसा करने पर अवश्य ही सफलता प्राप्त होगी। आपने जिसके लिए यह उपाय किया है वह आपके बस में हो जाएगी। इस क्रिया को करते समय कोई संदेह नही करना चाहिए।
  7. इस दिन शराब आदि नशे से भी दूर रहना चाहिए। इसके सेवन से आपके शरीर और भविष्य पर भी दुष्परिणाम हो सकते हैं

नोट-ः उक्त समाचार में दी गई जानकारी सूचना मात्र है। विन्ध्य न्यूज समाचार इसकी पुष्टि नहीं करता है। दी गई जानकारी प्रचलित मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है। ऐसे में किसी कार्य को शुरू करने के पूर्व विशेषज्ञ से जानकारी अवश्य प्राप्त कर लें।

Back to top button