व्यापार

Mukesh Ambani 5.95 लाख करोड़ गुजरात में करेंगे निवेश,10 लाख लोगो को मिलेगी नौकरी

देश के उद्योगपति मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) की रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) ग्रीन एनर्जी सेक्टर में बढ़ा दांव लगाने जा रही है. कंपनी इस सेक्टर में लाखों करोड़ रुपये का निवेश करने जा रही है। रिलायंस गुजरात में 5.95 लाख करोड़ रुपये का निवेश करेगी, जिससे 10 लाख नौकरियां पैदा होंगी।

नई दिल्ली – देश के उद्योगपति मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) की रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) ग्रीन एनर्जी सेक्टर में बढ़ा दांव लगाने जा रही है. कंपनी ने लाखों करोड़ों रुपए इस सेक्टर में रुपये इन्वेस्ट करने जा रही है, जहां काम शुरू होते ही 10 लाख से ज्यादा लोगों को रोजगार मिलेगा। इस काम की शुरुआत भी हो चुकी है जहां रिलायंस इंडस्ट्रीज ने गुरुवार को सरकार के साथ एक ईएमयू साइन कर लिया है।

गुजरात सरकार के साथ हुआ बड़ा MoU
Reliance Industries ने गुरुवार को गुजरात सरकार के साथ ग्रीन एनर्जी सेक्टर में एक एमओयू पर साइन किया. ये MoU वाइब्रेंट गुजरात शिखर सम्मेलन 2022 (Vibrant Gujrat Summit 2022) के लिए प्रमोशनल एक्टिविटी के तौर पर हस्ताक्षर किया गया है. इसके बाद कंपनी ने राज्य में ग्रीन एनर्जी और अन्य प्रोजेक्ट्स में कुल 5.95 लाख करोड़ रुपये का निवेश करेगी. रिलायंस इंडस्ट्रीज की इस सेक्टर से 10 लाख से ज्यादा लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे।

Carbon Free State बनेगा गुजरात आरआईएल लघु और मध्यम उद्यमों (SME) की सहायता के लिए एक इको-सिस्टम विकसित करेगी और उद्यमियों को नई टेक्नोलॉजी और इनोवेशन को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करेगी, जिससे रिन्यूएबल एनर्जी और ग्रीन हाइड्रोजन का उपयोग किया जा सकेगा। Reliance Industries ने कहा कि वह अगले 10 से 15 साल में 100 गीगावाट का रिन्यूएबल एनर्जी पॉवर प्लांट और ग्रीन हाइड्रोजन इको-सिस्टम विकसित करने पर 5 लाख करोड़ रुपये का निवेश करेगा. इससे गुजरात को नेट जीरो और कार्बन मुक्त राज्य बनाने में मदद

छोटे उद्योगों का होगा कायाकल्प गुजरात सरकार के हाथ मिलाने के बाद आरआईएल ने कच्छ, बनासकांठा और धोलेरा में 100 गीगावाट अक्षय ऊर्जा बिजली परियोजना के लिए भूमि की तलाश शुरू कर दी है। कंपनी ने कच्छ में 4.5 लाख एकड़ जमीन की मांग की है। आरआईएल द्वारा मौजूदा परियोजनाओं और नए उपक्रमों में अगले 3 से 5 सालों में 25,000 करोड़ रुपये का निवेश किया जाएगा। कंपनी इसके अलावा 60,000 करोड़ रुपये का निवेश सोलर सेल, इलेक्ट्रोलाइजर, बैटरी इत्यादि की मैन्युफैक्चरिंग के प्लांट और 25,000 करोड़ रुपये का निवेश अगले 3 से 5 साल में अपनी मौजूदा परियोजनाओं, 7,500 करोड़ का निवेश जियो नेटवर्क (Jio Network) के अपग्रेडेशन पर करेगी.

Back to top button