व्यापार

TVS Jupiter Classic:64 kmpl की दमदार माइलेज के साथ 8 हजार में ले जाइऐ घर, देखिए कीमत और खासियत

TVS Jupiter Classic: टीवीएस जुपिटर क्लासिक आपको केवल 8,000 रुपये में घर ले जाएगा।

TVS Jupiter Classic: अगर आप टीवीएस जुपिटर क्लासिक खरीदना चाहते हैं, तो इसके फीचर्स और स्पेसिफिकेशंस की डिटेल्स के साथ इसे अफोर्डेबल प्लान के साथ खरीदने की पूरी डिटेल्स यहां पढ़ें।हीरो से लेकर होंडा और टीवीएस से लेकर यामाहा तक के स्कूटरों के साथ, स्कूटर सेगमेंट भी मोटरसाइकिल सेगमेंट की तुलना में काफी बड़ा हो गया है।

जिसमें आज हम बात कर रहे हैं TVS Jupiter के बारे में जो उनकी कंपनी का सबसे ज्यादा बिकने वाला स्कूटर है और कम कीमत में लंबे माइलेज के लिए इसे पसंद किया जाता है।
अगर आपने यह स्कूटर शोरूम से खरीदा है तो आपको 66,273 रुपये से 76,573 रुपये खर्च करने होंगे लेकिन यहां हम आपको उस प्लान के बारे में बताएंगे जिसके जरिए आप इस स्कूटर को डाउन पेमेंट के साथ आसानी से घर ले जा सकते हैं।

टू व्हीलर सेगमेंट की जानकारी देने वाली वेबसाइट BIKEDEKHO पर दिए गए डाउन पेमेंट और ईएमआई कैलकुलेटर के मुताबिक, अगर आपने इस टीवीएस जुपिटर का क्लासिक वेरिएंट खरीदा है, तो कंपनी से संबद्ध बैंक आपको 79,888 रुपये उधार देगा।

इस लोन पर आपको 8,873 रुपये की न्यूनतम डाउन पेमेंट करनी होगी और उसके बाद हर महीने 2,859 रुपये की ईएमआई चुकानी होगी।टीवीएस जुपिटर क्लासिक पर बैंक ने कर्ज की अवधि 36 महीने तय की है और बैंक इस कर्ज पर सालाना 9.7 फीसदी ब्याज वसूल करेगा।

अगर आप इस डाउन पेमेंट ऑफर को पढ़ने के बाद इस स्कूटर को खरीदना चाहते हैं तो अब इस स्कूटर के फीचर्स, स्पेसिफिकेशंस और माइलेज का पूरा विवरण पढ़ें।
टीवीएस जुपिटर क्लासिक में कंपनी ने 109.7 सीसी का सिंगल सिलेंडर इंजन दिया है जो फ्यूल इंजेक्शन तकनीक पर आधारित सीवीटीआई इंजन है।

यह इंजन ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन के साथ मिलकर 8.88 PS की पावर और 8.8 Nm का पीक टॉर्क जेनरेट करता है। जहां तक टीवीएस जुपिटर स्कूटर के ब्रेकिंग सिस्टम की बात है तो इसमें आगे और पीछे के पहियों पर ड्रम ब्रेक का कॉम्बिनेशन है।माइलेज को लेकर कंपनी का दावा है कि यह TVS Jupiter Classic 64 kmpl का माइलेज देती है और यह माइलेज ARAI द्वारा प्रमाणित है।

महत्वपूर्ण जानकारी: टीवीएस जुपिटर क्लासिक पर उपलब्ध लोन, डाउन पेमेंट और ब्याज दर प्लान आपके बैंकिंग और सिबिल स्कोर पर निर्भर करते हैं।अगर आपकी बैंकिंग और सिबिल स्कोर में नेगेटिव रिपोर्ट आती है तो बैंक इन तीनों में अपने अनुसार परिवर्तन कर सकता है।

Back to top button