मेरे खाते में आया हैं 6 हजार करोड़ रुपए, 10 गुना देने को कहकर 8.30 लाख की कर ली ठगी - विंध्य न्यूज़

शंकरगढ़। धोखाधड़ी : 10 गुना रकम का झांसा देकर दो लोगों से 8.30 लाख रुपये से अधिक की ठगी करने वाले आरोपी को शंकरगढ़ पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. दरअसल, आरोपी ने उम्मीदवारों को धोखा दिया था कि उनके 6,000 करोड़ रुपये रिजर्व बैंक (RBI) में आ गए हैं। इस राशि को निकालने के लिए मुझे 3 करोड़ रुपये टीडीएस के रूप में जमा करने होंगे, अगर आप लोग मुझे राशि जमा करने में मदद करते हैं, यानी मैं आपके द्वारा दी गई राशि का 10 गुना अधिक वापस कर दूंगा। यह सोचकर कि उन्हें 10 गुना मिलेगा, एक युवक और उसके साले ने 8 लाख 30 हजार रुपये दिए। रुपये मांगने पर आरोपित ने देने से इंकार कर दिया।

बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के शंकरगढ़ थाना क्षेत्र के ग्राम सेहरा निवासी 28 वर्षीय नितेश पनकारा पिता दिवंगत. मदन राम ने शंकरगढ़ थाने में लिखित शिकायत दर्ज करायी थी कि वर्ष 2008 में चंदौरा थाना क्षेत्र के ग्राम गोरगी जाजावल निवासी 44 वर्षीय राजाराम जगत पिता हरिप्रसाद से उसका परिचय कराया गया था.

राजाराम जगत ने नितेश से कहा था कि उनके नाम पर भारतीय रिजर्व बैंक में 6,000 करोड़ रुपये आए हैं। इस रकम को निकालने के लिए 3 करोड़ रुपये टीडीएस के रूप में बैंक में जमा कराने होंगे। मेरे पास इतना पैसा नहीं है, यह एक बड़ी राशि है, आप मुझे पैसे निकालने के बाद जितना पैसा जमा करने के लिए देंगे, मैं उससे 10 गुना अधिक वापस कर दूंगा।

ऐसा लालच देकर राजाराम जगत ने धोखाधड़ी की नीयत से नितेश को बैंक के इंडक्शन चार्ज जमा करने का फर्जी कागज भी दिखाया। उस कागज को देखकर नितेश अपने धोखे के शिकार हो गए। इसके बाद उन्होंने राजाराम को नकद, चेक, निफ्ट के माध्यम से 6 लाख 49 हजार 100 रुपये किश्तों में दिए।

देवर से भी लिए गए 1 लाख 80 हजार
मनोहरपुर निवासी नितेश के साले राजू पैकरा ने भी राशि दोगुनी करने की आड़ में राजाराम को 1 लाख 80 हजार रुपये दिए. इस तरह दोनों ने राजाराम को कुल 8 लाख 29 हजार 100 रुपये दिए थे. लेकिन कुछ दिनों बाद जब दोनों 10 गुना रकम वापस मांगने लगे तो राजाराम ने मना कर दिया। इसके बाद दोनों को धोखाधड़ी का अहसास हुआ।

आरोपी को भेजा जेल
मामले में नितेश की रिपोर्ट पर शंकरगढ़ पुलिस ने धारा 420 के तहत मामला दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है. शंकरगढ़ थाना प्रभारी अमित गुप्ता के नेतृत्व में टीम गठित कर आरोपी राजाराम जगत पिता हरिप्रसाद निवासी ग्राम गोरगी जाजावल को हिरासत में लेकर पूछताछ की गयी. पूछताछ में उसने अपना गुनाह कबूल कर लिया। इसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया। यहां से उसे जेल भेज दिया गया।

ये हैं कार्रवाई में शामिल
थाना प्रभारी अमित गुप्ता, एएसआई संदीप सिंह, उमाशंकर त्रिपाठी, राफेल टिर्की, मुख्य कांस्टेबल छत्रपाल सिंह ठाकुर, उर्मिला लहरे, कांस्टेबल शैलेंद्र तिवारी, संतोष सिंह, बदलू बेक, प्रदीप मुंडा, प्रवीण कुमार चौहान, राजेंद्र पंकड़ा, भुनेश्वर राम और अमृत सिंह शामिल थे।