क्राइम

100 crores की ठगी करने वाला 70 साल का आरोपित गिरफ्तार

70-year-old accused of cheating 100 crores arrested

70-year-old accused of cheating – देश की राजधानी में दिल्ली पुलिस के हत्थे एक ऐसा ठग लगा है, जो माइनिंग के नाम पर बैंकों से और अन्य लोगों से 100 करोड़ से ज्यादा की ठगी करने के कारण काफी समय से एजेंसियों की रडार पर था. उसके नाम पर लुक ऑउट सर्कुलर… 100 crores

नई दिल्ली, 28 जून – दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने 100 करोड़ रुपये की ठगी के मामले में जिस आरोपित प्रदीप को गिरफ्तार किया है, वह बीते सात साल से फरार चल रहा था. इस फरारी के दौरान वह न केवल ठगी की वारदातों को अंजाम दे रहा था. बल्कि पुलिस को भी लगातार चकमा दे रहा था, लेकिन आर्थिक अपराध शाखा की डेढ़ महीने की कड़ी मशक्कत के बाद उसे शाहदरा इलाके से गिरफ्तार कर लिया गया. उसके अन्य साथी विनायक को भी पकड़ा गया जिसे सीबीआई के हवाले कर दिया गया है. 100 crores 

Also Read – Porn addict थीं अनुराग कश्‍यप की बेटी Aaliyah, सेक्‍स लाइफ को लेकर हैरान करने वाले किए खुलासे, देखें Video

100 crores की ठगी करने वाला 70 साल का आरोपित गिरफ्तार
photo by google

आर्थिक अपराध शाखा की संयुक्त आयुक्त छाया शर्मा ने मंगलवार को बताया कि शकुंतला नामक एक महिला ने शाखा में एफआईआर दर्ज कराई थी। उसने बताया कि उसे आरोपी ने 20 करोड़ रुपये में एक जमीन बेची थी।  दरअसल, प्रदीप पालीवार के साथी की पहचान विनायक भट्ट के रूप में हुई है, वो भी सीबीआई की लिस्ट में वांछित अपराधी है.

 

उसने बताया था कि यहां पर ग्रेनाइट की माइनिंग होती है और उसे 50 लाख रुपये महीना किराया मिलेगा। उन्होंने यह जमीन खरीद ली लेकिन जब वह मौके पर पहुंची तो पता चला कि यहां पर किसी प्रकार के ग्रेनाइट की माइनिंग नहीं है। इसके बाद उन्होंने आर्थिक अपराध शाखा में एफआईआर कराई थी.
संयुक्त आयुक्त ने बताया कि आर्थिक अपराध शाखा में आरोपी के खिलाफ दो मामले दर्ज हैं. इनमें से एक में उसे अदालत ने भगोड़ा घोषित कर दिया था जबकि दूसरे में उसकी तलाश चल रही थी. इसके अलावा गुरुग्राम, करोल बाग में भी उसके खिलाफ मामला दर्ज था. सीबीआई ने भी बैंक से 25 करोड़ रुपये का लोन लेने के मामले में उसके खिलाफ एफआईआर 2018 में दर्ज की थी.

Also Read – Horror comedy फिल्म ‘फोन भूत’ की रिलीज डेट तय, 7 अक्तूबर को होगी रिलीज

100 crores की ठगी करने वाला 70 साल का आरोपित गिरफ्तार
photo by google

आगे संयुक्त आयुक्त ने बताया कि आरोपित को पकड़ना बेहद ही चुनौतीपूर्ण था क्योंकि भारत का सिम कार्ड वह इस्तेमाल नहीं कर रहा था. उसे इस बात की जानकारी थी कि टेक्निकल सर्विलांस की मदद से वह पकड़ा जा सकता है. 100 crores

 

इसलिए उसने अपने एक कर्मचारी को जिम्बाब्वे भेजा था जो वहां से चालू सिम कार्ड बड़ी संख्या में लेकर आया था। इनमें से सात से आठ सिम कार्ड वह एक बारी में इस्तेमाल करता था. इनके नंबर से उसने व्हाट्सएप और टेलीग्राम एप डाउनलोड कर रखे थे जिनका इस्तेमाल कॉल करने के लिए वह करता था. 100 crores

 

संयुक्त आयुक्त ने बताया कि पुलिस ने उसकी एलओसी खोल रखी थी जिसकी वजह से वह हवाई जहाज से सफर नहीं करता था। इतना ही नहीं पकड़े जाने के डर से वह ट्रेन में भी नहीं जाता था. वह सड़क के रास्ते ही अपनी पजेरो कार से सफर करता था जो उसके एक रिश्तेदार के नाम पर पंजीकृत है. 100 crores

पुलिस के आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, आरोपी पालीवाल को पुलिस की यह स्पेशल विंग लगभग एक साल से ट्रैक कर रही थी, लेकिन वो टेलीग्राम और व्हाट्स एप के जरिए ही कॉलिंग करता था. यही नहीं, वो एयरपोर्ट की तरफ भूल से भी नहीं जाता था. यात्रा के लिए वो अपनी पजेरो कार का ही इस्तेमाल करता था, और उससे वो पंजाब, महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक जैसे दूर के राज्यों तक सफर करता था. ये इतना शातिर था कि एक जगह पर 24 घंटे से ज्यादा नहीं रुकता था, ताकि पुलिस उसे ट्रैक न कर सके. 100 crores

 Also Read – Shah Rukh Khan Pathaan New Look : शाहरुख खान के इंडस्ट्री में 30 साल पूरे, पठान नया लुक देख फैंस बोले – Blockbuster 

100 crores की ठगी करने वाला 70 साल का आरोपित गिरफ्तार
photo by google

पुलिस को पता चला था कि वह शाहदरा इलाके में मौजूद है जिसके बाद सोमवार को छापा मारकर पुलिस टीम ने उसे विनायक भट्ट के साथ गिरफ्तार किया था. विनायक भट्ट को पुलिस ने सीबीआई के हवाले कर दिया है. 100 crores

आरोपित ने पुलिस को बताया कि उनसे बचने के लिए वह परमानेंट ड्राइवर तक भी नहीं रखता था। वह आए दिन किराए पर ड्राइवर लेता था और फिर अगले कुछ दिनों में उसे बदल देता था. वह किसी भी एक जगह पर 12 से 24 घंटे तक ही रूकता था. यही वजह थी कि पुलिस अगर उसका पीछा भी करे तो उस तक नहीं पहुंच पाती थी. 100 crores

आरोपित महज 11वीं कक्षा तक पढ़ा है. उसने 11 कंपनियां खोल रखी हैं जिनमें वह निदेशक है. सुल्तानपुर इलाके में आरोपित का अपना मॉल भी है. पुलिस से बचने के लिए वह अपने परिवार से भी कम ही संपर्क करता था. 100 crores

Back to top button