MP News

Ashadh में जेठ मास की तरह धूप,खेती बाड़ी चौपट, अन्नदाताओं के माथे पर खिंची चितां की लकीरें,किसानों में मची हाय तौबा, बिजली भी दे रही दगा

Ashadh सिंगरौली 11 जुलाई आषाढ़ में जेठ माह की तरह प्रचण्ड धूप के चलते खेती बाड़ी पूरी तरह से चौपट होने की खबर पर है.अधिकांश  खरीफ फसल पानी के भाव मे  में सूख गयी हैं.

Ashadh जिसके कारण अन्नदाताओं के माथे पर चिंता की लकीरे खिंची हुई हैं.वहीं बारिश के न होने से अन्नदाताओं में हाय तौबा मची हुई है.दरअसल इन्द्र भगवान तकरीबन 10 दिानों से ऊर्जाधानी पर रूठे हुए हैं,जिसके कारण बारिश थम जाने के कारण खरीफ फसलों की बोनी करीब-करीब जहां हुई है.Ashadh.
Ashadh में जेठ मास की तरह धूप,खेती बाड़ी चौपट, अन्नदाताओं के माथे पर खिंची चितां की लकीरें,किसानों में मची हाय तौबा, बिजली भी दे रही दगा
photo by google
वहां मक्का, अरहर की अधिकांश फसलें सूख भी गयी हैं,अन्नदाताओं के मुताबिक करीब एक सप्ताह से जिले में बारिश न होने से जहां किसानों की चिंताएं बढऩे लगी हैं.Ashadh
 वहीं तेज धूप व उमस भरी गर्मी से लोगों का हाल बेहाल है,जिले के शहरी सहित ग्रामीण अंचलों में जहां खरीफ की फसल बोने को लेकर किसानों की चिंताएं बढऩे लगी हैं.वहीं तेज धूप व उमस भरी गर्मी से लोग हलाकान व परेशान हैं.जिले के किसान करीब एक पखवाड़े पूर्व हुई बारिश से यह मान रहे थे की जिले में मानसून ने दस्तक दे दी है.लेकिन एक सप्ताह से बारिश न होने से किसानों के माथे पर चिंताएं बढऩे लगी हैं.Ashadh
Ashadh में जेठ मास की तरह धूप,खेती बाड़ी चौपट, अन्नदाताओं के माथे पर खिंची चितां की लकीरें,किसानों में मची हाय तौबा, बिजली भी दे रही दगा
photo by google
बिजली भी दे रही दगा
Ashadh जिले में बिजली की आंख मिचौली का खेल लगातार जारी है.एक ओर जहां चिलचिलाती धूप व उमस भरी गर्मी ने सबको बेहाल कर रखा है,वहीं बिजली की आंख मिचौली व बेतहासा कटौती तथा लो बोल्टेज उपभोक्ताओं के लिए सरदर्द बनी हुई है यह समस्या कई महीने से है,बारिश के थमने के बाद नियमित बिजली न होने से खरीफ फसल बोनी का कार्य भी प्रभावित है.Ashadh

Back to top button