MP News

Singrauli: चुनाव परिणाम के बाद बदले-बदले नजर आ रहा  अमला,सत्ता बदलते ही अधिकारी निर्वाचित महापौर के यहां हाजिरी लगाने लगी होड़ 

Singrauli: सिंगरौली 18 जुलाई, नगरीय निकाय चुनाव परिणाम आते ही ननि सिंगरौली के अधिकारी व कर्मचारियों के सुर बदलने लगे हैं. कल शाम से ही ननि के कई चर्चित अधिकारी निर्णय पर खुशी  जाहिर करते हुए बदले-बदले नजर आ रहे हैं.Singrauli

Singrauli: गौरतलब हो की कल रविवार को नगर पालिक निगम सिंगरौली के नगरीय निकाय चुनाव का परिणाम घोषित हुआ, जहां पहली बार आम आदमी पार्टी की मेयर प्रत्याशी रानी अग्रवाल निर्वाचित घोषित हुई है.आम आदमी पार्टी के पक्ष में चुनाव परिणाम आते ही ननि के कई अधिकारी,कर्मचारी बदले-बदले नजर आ रहे hain .Singrauli

वहीं अब अधिकारियों के सुर भी बदल गये हैं. आज सोमवार को ननि दफ्तर में इसी बात को लेकर खूब चर्चाएं थीं, वहीं कुछ अधिकारी,कर्मचारी रानी अग्रवाल के जीत पर ठहाके भी लगाते रहे और कहा कि अब धौंस देने वाले नेताओं की नहीं चलेगी, यहां सूत्र बता रहे हैं की ननि चुनाव में आरोप लग रहे थे की कुछेक अमला भाजपा के खिलाफ में काम कर कर रहे हैं और ऐसे ननि अमला भाजपाईयों के निशाने पर आ जायेंगे.

ननि का कौन होगा अध्यक्ष? चर्चाएं शुरू

मेयर व पार्षद चुनाव परिणाम के बाद ननि सिंगरौली का आगामी अध्यक्ष कौन होगा? इस बात को लेकर नगरीय क्षेत्र में चर्चाएं जोर शोर से शुरू हो गयी हैं. यहां बताते चलें की 45 वार्डों में से इस चुनाव में भाजपा के 23, कांग्रेस के 12, आप के 5, बसपा के 2 व 3 निर्दलीय पार्षद चुने गये हैं.
भाजपा की ओर से सबसे प्रबल दावेदार दो बार निर्वाचित पार्षद देवेश पाण्डेय, भारतेन्दु पाण्डेय व कांग्रेस से शेखर सिंह, अखिलेश सिंह दौड़ में शामिल हैं,सूत्र बता रहे हैं की अब पार्षदों के खरीद फरोख्त की सुगबुगाहट शुरू हो गयी है. प्रबुद्ध जन मान रहा है की इस बार भाजपा ब्राम्हण पर दाव खेल सकती है.

पूर्व मेयर रेनू शाह के वार्ड से कांग्रेस मेयर प्रत्याशी को लगा बड़ा झटका,चौथे स्थान पर कांग्रेस 

Singrauli: चुनाव परिणाम के बाद बदले-बदले नजर आ रहा  अमला,सत्ता बदलते ही अधिकारी निर्वाचित महापौर के यहां हाजिरी लगाने लगी होड़ 
photo by me

वार्ड पार्षदी भी कांग्रेस पार्टी हारी,कांग्रेस नेत्री एवं पूर्व मेयर की हो रही किरकिरी, कांग्रेसी ही उठा रहे तरह-तरह के सवाल

सिंगरौली 18 जुलाई, नगर पालिक निगम सिंगरौली का चुनाव इस बार काफी दिलचस्प था. भाजपा, कांग्रेस के कई दिग्गज नेताओं के वार्डों में उन्हीं के प्रत्याशियों को करारी हार का सामना करना पड़ा है. वार्ड क्र.42 में कांग्रेस पार्टी को जहां मेयर प्रत्याशी करीब 245 मतों में सिमट गये, वहीं कांग्रेस पार्टी वार्ड पार्षदी भी हार गयी है.
  इस वार्ड में पूर्व मेयर एवं कांग्रेस पार्टी की नेत्री रेनू शाह का गृहवार्ड है. इस वार्ड में कांग्रेस प्रत्याशियों की हुई फजीहत को लेकर कांग्रेस नेत्री की आगामी विधानसभा की दावेदारी पर भी खतरे के बादल मडऱाने लगे हैं.Singrauli
दरअसल नगर पालिक निगम सिंगरौली में संपन्न हुए चुनाव के बाद वार्ड व बूथवार मिले मतों की समीक्षा कार्यकर्ता ही करने लगे हैं. जानकारी के मुताबिक नगर पालिक निगम सिंगरौली के वार्ड क्र.42 चर्चाओं में है.चर्चा भी क्यों न हो यहां नवनिर्वाचित आप पार्टी की मेयर रानी अग्रवाल एवं कांग्रेस पार्टी की नेत्री व पूर्व मेयर रेनू शाह का गृह वार्ड है.Singrauli
जानकारी के अनुसार इस वार्ड में कुल बूथ आधा दर्जन बनाये गये थे.  मतदान क्र.219 से लेकर 225 तक हैं। जिसमें कांग्रेस मेयर प्रत्याशी अरविन्द सिंह चंदेल को महज 245, बसपा प्रत्याशी बंशरूप शाह को 472, बीजेपी प्रत्याशी चन्द्रप्रताप विश्वकर्मा को 413 एवं आम आदमी पार्टी की प्रत्याशी रानी अग्रवाल को 1059 मत मिले हैं.Singrauli
कांग्रेस पार्टी नेत्री रेनू शाह के वार्ड में कांग्रेस के मेयर प्रत्याशी को महज 245 मत मिलने के बाद इनके प्रचार-प्रसार पर भी सवाल शुरू हो गया है. कांग्रेस के कार्यकर्ताओं का कहना है की कांग्रेस पार्टी के हार की वजह  पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारियों ने अच्छे तरीके से कार्य नहीं किया है, वार्ड क्र.42 में कांग्रेस पार्टी के मेयर प्रत्याशी चौथे स्थान पर रहे.
वहीं वार्ड प्रत्याशी कांग्रेस पार्टी का परफार्मेंस बेहद खराब था, यहां तीसरे स्थान पर संतोष करना पड़ा है. वार्ड पार्षद संतोष शाह भाजपा से निर्वाचित हुए हैं. जबकि इसी वार्ड में नवनिर्वाचित मेयर रानी अग्रवाल का भी मतदाता सूची में नाम है,उन्होंने सबसे ज्यादा 1089 मत पाकर सभी दल के प्रत्याशियों को चौका दिया है. Singrauli

दावेदारी पर लग सकता है ग्रहण

प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सिंगरौली ननि मेयर प्रत्याशी अरविन्द सिंह चंदेल के समर्थन में जनसभा को संबोधित करने 24 जून को आये हुए थे,इस दौरान उन्होंने पर ही कहा था की रेनू शाह के कहने पर ही अरविन्द सिंह को मेयर का प्रत्याशी कांग्रेस पार्टी की ओर से बनाया गया है.
अरविन्द सिंह को जीताने की जिम्मेदारी रेनू शाह की है, पूर्व मुख्यमंत्री का इशारा था की यदि कांग्रेस पार्टी की यहां से जीत मिलती है तो रेनू शाह का विधानसभा में टिकट कन्फर्म हो जायेगा,लेकिन विधानसभा में रेनू शाह की दावेदारी पर ग्रहण लग सकता है. Singrauli

अरविन्द, चन्द्रप्रताप का गृह वार्डों में रहा दबदबा

नगरीय निकाय के घोषित चुनाव परिणाम में कांग्रेस  पार्टी के मेयर प्रत्याशी  अरविन्द सिंह एवं बीजेपी मेयर प्रत्याशी चन्द्रप्रताप विश्वकर्मा, आप मेयर प्रत्याशी रानी अग्रवाल ने जहां अपने-अपने वार्डों में सर्वाधिक मत हासिल किये हैं. जबकि बीएसपी प्रत्याशी बंशरूप ने भी अपने वार्ड में अपनी लाज भी नहीं बचा सके. प्राप्त आंकड़ों के मुताबिक वार्ड 29 आप प्रत्याशी रानी अग्रवाल को सबसे ज्यादा 994 मत हासिल हुए हैं.Singrauli
 बसपा मेयर प्रत्याशी का यह गृहग्राम वार्ड है अरविन्द सिंह को महज 290, बीजेपी को 694 एवं बीएसपी प्रत्याशी बंशरूप शाह को 807 मत प्राप्त हुए हैं. वार्ड क्र.38 बीजेपी प्रत्याशी चन्द्रप्रताप का गृहग्राम वार्ड है यहां उन्हें सबसे ज्यादा 787 मत प्राप्त किये हैं और वार्डवासी मतदाताओं ने इनकी लाज बचा दिया है.Singrauli
अरविन्द सिंह को 424, बीएसपी को 413 एवं आम आदमी पार्टी को सबसे कम 388 मत प्राप्त हुए. वहीं वार्ड क्र.24 कांग्रेस मेयर प्रत्याशी अरविन्द सिंह का गृहवार्ड है. यहां उन्हें सबसे ज्यादा 652 मत हासिल हुए. जबकि बीजेपी के 215, बीएसपी को महज 21 व आम आदमी पार्टी को 453 मत हासिल हुए हैं.Singrauli
Singrauli: चुनाव परिणाम के बाद बदले-बदले नजर आ रहा  अमला,सत्ता बदलते ही अधिकारी निर्वाचित महापौर के यहां हाजिरी लगाने लगी होड़ 
photo by google

Back to top button