MP News

Bhopal : लोकायुक्त ने विद्युत यांत्रिकी कोलार में पदस्थ प्रभारी को 40 हजार की रिश्वत लेते पकड़ा

snn

Bhopal : कार्यपालन यंत्री विद्युत यांत्रिकी कोलार कार्यालय में पदस्थ प्रभारी विद्युत यांत्रिकी जी के पिल्लई को रिश्वत लेते पकड़ा है, जी के पिल्लई आवेदक से उसकी मृतक माँ के जीपीएफ और अन्य लाभों के भुगतान के लिए रिश्वत की मांग की थी.

Bhopal : भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश में रिश्वतखोर ऊपर लोकायुक्त टीम आए दिन कार्यवाही कर रही है बावजूद इसके भ्रष्ट अधिकारी कर्मचारी अपनी रिश्वतखोरी से बाज नहीं आ रहे हैं.

अब मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में लोकायुक्त ने कार्यपालन यंत्री विद्युत यांत्रिकी कोलार कार्यालय में पदस्थ प्रभारी विद्युत यांत्रिकी जी के पिल्लई को रिश्वत लेते पकड़ा है, जी के पिल्लई आवेदक से उसकी मृतक माँ के जीपीएफ और अन्य लाभों के भुगतान के लिए 40 हजार रिश्वत ले रहा था. Bhopal
मिली जानकारी के अनुसार आवेदक सिद्धार्थ सक्सेना निवासी जवाहर चौक भोपाल द्वारा पुलिस अधीक्षक लोकायुक्त भोपाल को 20 सितंबर को लिखित शिकायत की गई कि उसकी मां नीना सक्सेना जो कार्यालय कार्यपालन यंत्री विद्युत यांत्रिकी कोलार रोड भोपाल में ट्रेसर के पद पर पदस्थ थी. Bhopal
जिनकी मौत पिछले जून माह में हो गया है. जिसके बाद आवेदक अपनी दिवंगत मार के जीपीएफ और अन्य लाभों के भुगतान के लिए आवेदन किया तो विद्युत यांत्रिकी कोलार रोड में पदस्थ स्थापना प्रभारी जीके पिल्लई रिश्वत की मांग कर रहे हैं. Bhopal
पीड़ित ने बताया है कि उसकी मां ने सर्विस रिकॉर्ड में आवेदक को ही नॉमिनी बनाया है। जब आवेदक ने अपनी स्वर्गीय मां के जीपीएफ और अन्य लाभों के भुगतान के लिए कार्यालय कार्यपालन यंत्री विद्युत यांत्रिकी कोलार रोड भोपाल में आवेदन किया तो वहां पदस्थ स्थापना प्रभारी जी. के. पिल्लई उसे कई महीने दफ्तर के चक्कर कटवाए और फिर बाद में भुगतान के बदले में आवेदक से 40000 रुपए रिश्वत की मांग की. Bhopal
आवेदक की उक्त शिकायत का सत्यापन कराया गया जो सही पाई गई। जिसके बाद गुरुवार को पुलिस अधीक्षक लोकायुक्त भोपाल के निर्देशन में 10 सदस्यीय ट्रैप दल नियुक्त करते हुए रिश्वतखोर स्थापना प्रभारी को पकड़ने के लिए योजना बनाई जहां बनाई गई योजना के मुताबिक आवेदक Bhopal
एम. पी. नगर में मिलन रेस्टोरेंट में आरोपी जी के पिल्लई, स्थापना प्रभारी, कार्यालय कार्यपालन यंत्री, विद्युत/ यांत्रिकी जल संसाधन विभाग कोलार रोड भोपाल को 40000 रुपए की रिश्वत दी. स्थापना प्रभारी ने आवेदक से जैसे ही रिश्वत की राशि हाथों में पकड़ा तो पहले से तैयार लोकायुक्त टीम ने उसे रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया है. Bhopal

Back to top button

Adblock Detected

please dezctivate Adblocker