MP News

Fraud : सरकारी नौकरी लगाने के नाम पर 15 लाख से ज्यादा की ठगी! ग्रामीणों ने पुलिस अधीक्षक से की शिकायत

Fraud : डिंडौरी – सरकारी नौकरी लगाने का झांसा देकर युवकों ने दो ग्रामीण से 105000 -105000 रुपए ठग लिए। ग्रामीणों को ठग ने अपना मोबाइल नंबर सही दिया पर नाम पड़ोसी का बताया था। दो साल बाद भी नौकरी नहीं मिली तो ग्रामीणों ने डिंडौरी पुलिस अधीक्षक से शिकायत दर्ज करवाई है। आरोपियों ने एक दर्जन से ज्यादा ग्रामीणों से 15 से 20 लाख रुपए की ठगी की है.

Fraud : जिले की शहपुरा मेहेंदवानी क्षेत्र के लगभग 14 आवेदकों ने पुलिस अधीक्षक संजय सिंह को लिखित शिकायत की हैं कि शहपुरा थाना क्षेत्र के बरगांव निवासी मेखलाल साहू द्वारा हम लोगो को शासकीय नौकरी दिलाने के नाम पर एक से डेढ़ लाख रुपये ले लिए है. उसके झांसे में आकर हम सभी ने लाखों रुपये दे दिये है लगभग एक साल बाद भी अभी तक नौकरी के नाम पर झांसा ही दे रहा है साथ ही रुपये मांगने पर आनाकानी कर अब धमकी दे रहा है की जाओ शिकायत कर दो मेरा कुछ नही होगा.वही शिकायतकर्ताओं ने बताया कि कुछ से नगद राशि तो कुछ से बैंक ट्रांसफर और फोन पे के माध्यम से राशि का भुगतान किया है.

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि ग्रामीणों द्वारा शिकायत की गई है जिसकी जांच शहपुरा एसडीओपी को दी जा रही है जांच के बाद कार्यवाही कर पीड़ितों को राशि दिलाने के साथ ही आरोपी की खिलाफ कार्यवाही की जावेगी वही आम जनता से अपील की है कि लोग इस तरह के झांसे में न आये आज डिजिटल है. सभी नौकरी ऑनलाइन आवेदन के माध्यम से होती है और किसी तरह का कोई लेनदेन नही किया जाता यदि कोई इस तरह की बात या झांसा देता है तो तत्काल पुलिस को शिकायत करें. Fraud
यह भी पढ़े —

Bala Bachchan ने शिवराज सरकार पर लगायें गम्भीर आरोप, बोलें- कांग्रेस सरकार ने ई टेंडरिंग घोटाला के गुनाहगारों की गिरफ्तारी शुरू कर दी थी लेकिन सरकार गिरा दी

Fraud : सरकारी नौकरी लगाने के नाम पर 15 लाख से ज्यादा की ठगी! ग्रामीणों ने पुलिस अधीक्षक से की शिकायत
photo by me

इंदौर  – पूर्व गृह मंत्री बाला बच्चन ने मध्यप्रदेश सरकार पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि ,जब कांग्रेस की सरकार थी और मै गृह मंत्री था और जब कमलनाथ मुख्यमंत्री थे उस समय में मैं खुद भी गृह मंत्री था और मैं आपको बताना चाहता हूं कि ईटेंडरिंग घोटाला जो हुआ था ईटेंडरिंग घोटाले की लिस्ट में यह कारम डेम भी था इसकी जांच भी शुरू हो गई है. Fraud

लेकिन शिवराज सरकार ने विधायकों की खरीद-फरोख्त पर कांग्रेसी सरकार गिरा दी और इस मामले को दबा दिया गया. Fraud

पूर्व सिंचाई मंत्री के कुछ स्टाफ के लोग घोटाले के आरोप में गिरफ्तार होना शुरू हो गए थे और यह बहुत बड़ा घोटाला है और ना केवल का कारम डेम बल्कि जो नए डैम बने हुए हैं उनकी जांच हुई तो इस सरकार की पूरी पोल खुल जाएगी, मेरी विधानसभा में भी 500 करोड़ की लोरा डैम बना था और बीच में हमारी सरकार आई तो उसकी मरम्मत की नहीं तो उस डेम के नीचे से पानी निकल रहा था इस सरकार में करप्शन और भ्रष्टाचार होता है यह बेलगाम सरकार है और यह जांच होना चाहिए और यह जनता जनार्दन का पैसा है और उसकी गाढ़ी कमाई का पैसा है और उस पर शिवराज सरकार चूना लगाने का काम कर रही है. Fraud

 

कारम डेम भाजपा सरकार का भ्रष्टाचार का सिर्फ एक नमूना है इसमें न केवल मंत्री बल्कि मुख्यमंत्री की भी पूरी संलिप्तता है. भ्रष्टाचार के माध्यम से जो पैसा जुटाया जाता है और जहां भी यह खर्चा करते हैं उस पर रोक लगना चाहिए ,शिवराज सिंह चौहान के कार्यकाल में सवा 300 करोड रुपए के कर्ज में प्रदेश है और यह सरकार प्रदेश को डूबा दिया है और आने वाले दिनों में जो प्रदेश का हाल बेहाल हो जाएगा उस पर लगाम लगाना चाहिए और कांग्रेस विधायक हमेशा विधानसभा में उन विषयों  को उठाती है लेकिन सरकार के माथे पर कोई सिकन नहीं रहती है. Fraud

https://youtu.be/UXg7MYT3WHs

 

 

पूर्व गृह मंत्री ने मध्यप्रदेश सरकार के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि मित्र होना गलत नही लेकिन हम सब यह चाहते है जनता की गाढ़ी कमाई के पेसो से जो डेम ,सड़क , पुलिया बने वह एक अच्छी क्वालिटी का हो वह घटिया नहीं होना चाहिए. इसलिए हम आने वाले सत्र में इन मुद्दों को उठाएंगे और जनता इनसे पक चुकी है और 2023 में कांग्रेस की सरकार बनेगी. Fraud
कांग्रेस के संगठन चुनाव जो चल रहे हैं उसको लेकर पूर्व गृह मंत्री ने कहा कि चाहे वह ब्लॉक कांग्रेस के अध्यक्ष की बात करें या अन्य पदों की बात करें उसकी तैयारी चल रही है. जो जहां जिनको पार्टी लगाना चाहिए जहां वहां निश्चित बनेंगे और साफ-सुथरे चुनाव होंगे और मैं पूरे मध्यप्रदेश में घूमता कमलनाथ के नेतृत्व में कांग्रेस काफी मजबूत स्थिति में है मध्यप्रदेश में 2023 में जो विधानसभा चुनाव होंगे वह जीतेंगे और कमलनाथ मुख्यमंत्री बनेंगे. Fraud
कमलनाथ को तकरीबन 40 से 45 साल से एक ही लोकसभा सीट से और अब उस लोकसभा सीट से उनके बेटे किसी भी राजनीतिक दल के पास एक लोकसभा सीट से 10 बार राजनीतिक दल के पास इतना बड़ा कद्दावर लीडर नहीं है.आदरणीय कमलनाथ को सभी तरह का तजुर्बा है जहां पार्टी लगाना जाएगा. चाहे श्रीमती सोनिया गांधी, प्रियंका गांधी ,राहुल गांधी हो लगाना चाहिए वहां लगाएंगे और कमलनाथ जी उसके रिजल्ट देंगे, मैं समझता हूं यह जनता चाहती है, हम भी चाहते हैं, कमलनाथ मुख्यमंत्री रहते अच्छी सरकार चला रहे थे और छुटे हुए काम कर सके. Fraud

Back to top button

Adblock Detected

please dezctivate Adblocker