MP News

Ventilator पर अस्पताल, बुनियादी सेवाएं भी मुहाल , गाड़ी की डिग्री में नवजात का शव रख कलेक्ट्रेट पहुंचा पिता

snn

Ventilator : जब शिशु का शव लेकर कलेक्टोरेट पहुंचा पिता

जिला चिकित्सालय में पदस्थ महिला चिकित्सक पर आरोप, यूपी के सोनभद्र जिला अंतर्गत बीजपुर क्षेत्र की रहने वाली है महिला,कलेक्टर ने कहा करायेंगे जांच

Ventilator : सिंगरौली 18 अक्टूबर। सिंगरोली जिले का ट्रामा सेंटर की व्यवस्था वेंटीलेटर पर है अस्पताल में बुनियादी सेवाएं भी मुहाल नहीं है मानवता को शर्मसार करने वाली एक घटना मंगलवार को देखने को मिली है जहां एक पिता ने गाड़ी की डिग्गी में नवजात का शव लेकर कलेक्ट्रेट पहुंच गया.

जिले में सरकारी सिस्टम को शर्मसार कर देने वाली एक और घटना सामने आयी है। जहां मंगलवार को दोपहर कलेक्टोरेट परिसर में चल रही जनसुनवाई के दौरान मृत नवजात शिशु को मोटर साइकिल की डिग्गी में रखकर उसका पिता कलेक्टर के समक्ष शिकायत करने पहुंचा था। जहां उसका आरोप था कि मृत नवजात शिशु को ले जाने के लिए एम्बुलेंस तक उपलब्ध नहीं करायी गयी। साथ ही अस्पताल में पदस्थ महिला चिकित्सक पर ईलाज के नाम पर 5 हजार रूपये लिये जाने का भी आरोप पीडि़त पिता ने लगाया है. Ventilator
दरअसल कलेक्टोरेट परिसर में चल रही जनसुनवाई के दौरान जिला चिकित्सालय सह ट्रामा सेंटर में 17 अक्टूबर को  दिनेश कुमार भारती निवासी रजमिलान थाना बीजपुर अपनी पत्नी मीना देवी का प्रसव कराने जिला चिकित्सालय सह ट्रामा सेंटर पहुंचा था। जहां अस्पताल में मौजूद नर्सों ने चिकित्सक न होने पर पर्ची कटाने के लिए महिला चिकित्सक सरिता शाह के निजी क्लीनिक में भेज दिया. Ventilator
जिसके बाद मरीज के परिजन चिकित्सक के आवास निजी क्लीनिक पर पहुंचे और चिकित्सक को दिखाने के लिए पहले दो सौ रूपये देकर पर्ची कटाई। जहां महिला चिकित्सक ने पीडि़त के परिजनों को महिला के अल्ट्रा साउण्ड कराकर रिपोर्ट दिखाने की बात कही गयी। जिस पर परिजन अल्ट्रा साउंड करा रिपोर्ट लेकर महिला चिकित्सक को उनके क्लीनिक मेें ही दिखाने पहुंचे. Ventilator
रिपोर्ट देखने के बाद चिकित्सक को इस बात की जानकारी हो गयी थी कि शिशु मॉ की कोख में ही मौत हो चुका है। इस दौरान महिला चिकित्सक ने परिजनों को बिना कुछ बताये जिला चिकित्सालय सह ट्रामा सेंटर के लिए रवाना कर दिया। साथ ही क्लीनिक में मौजूद महिला चिकित्सक के अटेंडर ने परिजनों से ईलाज के नाम पर 5 हजार रूपये भी जमा करा लिया। इसके बाद चिकित्सकों की टीम ने महिला का प्रसव कराया  गया इस दौरान शिशु मृत अवस्था में पाया गया. Ventilator
जिसके बाद परिजन नवजात सहित भर्ती महिला को घर ले जाने के लिए एम्बुलेंस की मांग करने लगे। बावजूद इसके जिला चिकित्सालय से एम्बुलेंस या शव वाहन मुहैया नहीं कराया गया। लिहाजा पीडि़त परिवार नवजात शिशु का शव झोले में डाल मोटर साइकिल की डिग्गी में रखते हुए जनसुनवाई में कलेक्टोरेट कार्यालय पहुंच गया। जहां उन्होंने इस मामले की शिकायत कलेक्टर राजीव रंजन मीना से की। वहीं कलेक्टर ने परिजनों को आश्वस्त किया कि टीम से जांच करा उचित कार्रवाई की जायेगी. Ventilator
…जब बाइक की डिग्गी में लेकर पहुंचा शव
मंगलवार की दोपहर कलेक्टोरेट परिसर में चल रही जनसुनवाई के दौरान जब अचानक यूपी प्रांत के सोनभद्र जिला के रजमिलान थाना बीजपुर निवासी एक व्यक्ति अपने नवजात शिशु के शव को डिग्गी में डालकर कलेक्टोरट कार्यालय पहुंचा तो जनसुनवाई में मौजूद लोगों ने उसकी समस्या को सुनकर सरकारी सिस्टम पर तरह-तरह के सवाल करने लगे। वहीं इस दौरान जिसने भी पीडि़त परिवार की हालत सुनी महिला चिकित्सक सहित जिला चिकित्सालय के कर्मचारियों को भला-बुरा कहने से तनिक भी बाज नहीं आये। लोगों ने यह तक कह दिया कि आखिर जिला चिकित्सालय के सिस्टम में सुधार कब होगा. Ventilator
 
इनका कहना है
जनसुनवाई के उपरांत कुछ लोगों ने मेरे पास आकर इस बात की शिकायत की थी की मृत नवजात शिशु को घर ले जाने के लिए एम्बुलेंस या शव वाहन नहीं दिलाया गया। साथ ही वहां मौजूद महिला चिकित्सक के अटेंडर के द्वारा 5 हजार रूपये भी ईलाज के नाम पर लिये गये हैं। जिसके बाद एसडीएम सिंगरौली के नेतृत्व में हमने टीम गठित कर दी है। जो मामले की जांच कर रिपोर्ट हमें सौंपेंगे। यदि लापरवाही बरती गयी है तो निश्चित ही संबंधित के खिलाफ कार्रवाई होगी.
राजीव रंजन मीना
कलेक्टर, सिंगरौली

यह भी पढ़े —

model made 1 billion bikini : इस मॉडल ने 1470000000 की बिकिनी व 25 करोड़ की पहनी ब्रा , देखकर खुली रह जाएंगी आंखें

यह भी पढ़े —

Jabalpur Lokayukta Trap : लोकायुक्त ने थाने के अंदर रिश्वत लेते एसआई को पकड़ा

Back to top button

Adblock Detected

please dezctivate Adblocker