MP News

NH-39 के सजहर मार्ग में भारी वाहनों के आवाजाही पर कलेक्टर ने लगाई रोक,संविदा कंपनी की गुणवत्ताविहीन कार्य की खुली पोल

NH-39 : सिंगरौली 11 सितम्बर। सीधी-सिंगरौली राष्ट्रीय राजमार्ग-39 निर्माणाधीन फोर लेन के सजहर घाटी में सड़क में लंबी दरार पडऩे के कारण हैवी वाहनों के आवाजाही पर रोक लगाते हुए परिवर्तित मार्गों से वाहनों के संचालन कराये जाने का कलेक्टर निर्देश पर जिला परिवहन अधिकारी ने पत्र जारी किया है.

NH-39 : गौरतलब हो कि राष्ट्रीय राजमार्ग सीधी-सिंगरौली 39 निर्माणाधीन फोरलेन के सजहर घाटी में करीब 2 सौ मीटर लंबी सड़क में दरक आ गयी.

आरोप है कि संविदा कंपनी के द्वारा गुणवत्ताविहीन कार्य कराये जाने के कारण सड़क के निर्माण कार्यों की पोल खुल गयी है। किसी प्रकार की दुर्घटना न हो इसके लिए कलेक्टर ने ऐतिहातन उक्त स्थान का कार्य पूर्ण होने तक की स्थिति  में भारी वाहनों के आवाजाही पर रोक लगा दिया गया है। जिला परिवहन अधिकारी विक्रम सिंह राठौर के अनुसार कलेक्टर के आदेश 9 सितम्बर के तहत सीधी-सिंगरौली को यात्री वाहन बस, टैक्सी आदि मार्ग-बैढऩ से बरगवां, बरगवां-बड़ोखर, गिधेर, देवसर, कर्थुआ-बहरी, सीधी पहुंच मार्ग एवं भारी माल वाहनों का संचालन बैढऩ-परसौना, रजमिलान, सरई, महुआगांव, टिकरी-सीधी की ओर से ही वाहन का संचालन के लिए परिवर्तित किया गया है. NH-39
इधर उक्त सड़क का निर्माण कार्य भी तीव्र गति से कराये जाने के लिए कलेक्टर ने एमपीआरडीसी के अधिकारियों एवं संविदाकार को निर्देशित किया है। साथ ही कार्य की गुणवत्ता बेहतर हो इसके लिए कड़े निर्देश दिये गये हैं. NH-39

Singrauli : सिंगरौली नल जल योजना के कार्य में हुआ भ्रष्ट्राचार, भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व स्पीकर चन्द्रप्रताप विश्वकर्मा का गंभीर आरोप

NH-39 के सजहर मार्ग में भारी वाहनों के आवाजाही पर कलेक्टर ने लगाई रोक,संविदा कंपनी की गुणवत्ताविहीन कार्य की खुली पोल
photo by me

Singrauli : सिंगरौली 12 सितम्बर। शहरी क्षेत्र में नल जल योजना के कार्य में शैशव काल से ही आरोप लग रहे थे। उस समय इन आरोपों को ज्यादा तरजीह नहीं दी जा रही थी. लेकिन भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व स्पीकर तथा मेयर प्रत्याशी चन्द्रप्रताप विश्वकर्मा ने मुख्यमंत्री, नगरीय प्रशासन मंत्री,महापौर, निगमायुक्त को पत्र लिखकर पूर्व के आरोपों को बल दे दिया है. NH-39

Singrauli — गौरतलब हो कि घर-घर नल जल योजना का शहर में निर्माण कार्य कई सालों से चल रहा है। कुछ जगहों पर वाटर ट्रीटमेंट प्लांट के जरिये लोगों को पानी भी सप्लाई हो रही है। केंद्र, राज्य और स्थानीय निगम की ज्वाइंट नल जल योजना का काम मेसर्स चंद्रा निर्माण एजेंसी को मिला है, लेकिन यह योजना अफसरों और ठेकेदार के लिए काफी लाभदायक साबित हुई है। वरिष्ठ भाजपा नेता एवं पूर्व नगर निगम स्पीकर ने मुख्यमंत्री, नगरीय प्रशासन मंत्री, महापौर, आयुक्त को पत्र लिखकर बड़ा आरोप लगाया है. NH-39

पिछली परिषद ने बड़े घोटाले की वजह से निर्माण एजेंसी का भुगतान जांच होने तक रोक दिया था और तत्कालीन कार्यपालन यंत्री एके सिंह को ऑफिस अटैच भी कर दिया था, उसके बाद कोरोना काल में मामला पेंडिंग रहा और अब बगैर जांच के ही बड़े घोटाले पर पर्दा डालने और निर्माण एजेंसी को भुगतान करने अधिकारी जी जान से जुटे हैं. NH-39

लेकिन भाजपा नेता के इस पत्र ने अधिकारियों के अरमानों पर पानी फेर दिया है। उधर पूर्व निगम स्पीकर के बयान पर महापौर रानी अग्रवाल ने कहा कि यह मामला तो भाजपा नेता के जमाने का है फिर भी मैं फाइल देखूंगी की क्या हकीकत है. NH-39

 

यह भी पढ़े —

 

CM Shivraj का बैढऩ शहर के बीचो-बीच अतिक्रमणकारी के घर चला बुल्डोजर,राजस्व,ननि एवं पुलिस टीम रही मौजूद

NH-39 के सजहर मार्ग में भारी वाहनों के आवाजाही पर कलेक्टर ने लगाई रोक,संविदा कंपनी की गुणवत्ताविहीन कार्य की खुली पोल
photo by me

Back to top button

Adblock Detected

please dezctivate Adblocker