MP News

Singrauli का जयंत,मटवई, खनहना, करौंटी चेक पोस्ट बना अवैध वसूली का अड्डा,रीवा, सतना, धार,ग्वालियर से आकर कर रहे वसूली

snn


Singrauli सिंगरौली 8 अक्टूबर। चेक पोस्ट खनहना, जयंत, मटवई एवं करौटी अवैध वसूली का अड्डा बन चुका है। सभी चेक पोस्टों पर करीब आधा सैकड़ा से अधिक दूसरे जिले से लोग आकर वाहनों से वसूली कर रहे हैं। यह गोरखधंधा काफी अर्से से चला आ रहा है, किन्तु चेक पोस्ट प्रभारी पूरी तरह से बेसुध हैं। वहीं अवैध वसूली करने का इशारा व हरी झण्डी रीवा से मिली है.

गौरतलब हो कि जिले के खनहना, जयंत, मटवई एवं करौंटी चेक पोस्ट इन दिनों सुर्खियों हैं। आरोप है कि इन चेक पोस्टों पर वाहनों से अवैध वसूली व्यापक पैमाने पर चल रही है। मटवई एवं खनहना चेक पोस्ट उदाहरण हैं। मटवई गेट के चेक पोस्ट पर एक वाहन के चालक ने वहां तैनात चेक पोस्ट प्रभारी के गुर्गों पर मारपीट का आरोप लगाते हुए एसपी तक शिकायत किया है।

इसके पहले रवि मिश्रा नामक चेक पोस्ट प्रभारी पर मारपीट, अवैध वसूली का गंभीर आरोप लग चुका था। यहां तक की रवि मिश्रा के खिलाफ भाजपाईयों ने 4 महीने पूर्व विन्ध्यनगर में धरना भी दे दिया था। विन्ध्यनगर पुलिस के हस्तक्षेप के बाद मामला किसी तरह डैमेज कन्ट्रोल हुआ। लेकिन गत दिवस मटवई चेक पोस्ट पर रजमिलान निवासी निर्मल कुमार साहू ने चेक पोस्ट के गुर्गों पर मारपीट एवं अवैध वसूली का संगीन आरोप लगाया है।

सूत्र बता रहे हैं कि उक्त सभी चेक पोस्टों पर प्रभारी के संरक्षण में बाहर से आकर उनके गुर्गें वसूली कर रहे हैं। उनके गुर्गों के मंशा मुताबिक सुविधा शुल्क न देने पर मारपीट भी करने लगते हैं। चेक पोस्ट अवैध वसूली का अड्डा बन चुका है। आरोप यहां तक लगाये जा रहे हैं कि इन सबकी जानकारी प्रदेश के परिवहन मंत्री को भली-भांति है, लेकिन परिवहन विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों की चुप्पी से कई सवाल खड़े किये जा रहे हैं। फिलहाल चेक पोस्ट खनहना, मटवई, जयंत, करौंटी में कामर्शियल वाहनों से की जा रही अवैध वसूली को लेकर जहां चेक पोस्ट प्रभारी की संदिग्ध भूमिका को लेकर तरह-तरह की चर्चाएं चल रही हैं। वहीं प्रदेश सरकार की जमकर किरकिरी भी हो रही है। यदि अवैध वसूली पर रोक नहीं लगायी गयी तो मुख्यमंत्री के जीरो भ्रष्ट्राचार की बातें केवल हवा हवाई साबित होंगी।


चेक पोस्ट पर आधा सैकड़ा गुर्गें करते हैं वसूली
सूत्र बताते हैं कि चेक पोस्ट खनहना, जयंत, मटवई एवं करौंटी में 10 से 15 व्यक्ति कामर्शियल वाहनों से वसूली के लिए तैनात रहते हैं। इनकी भूमिका बाउंसर की तरह रहती है। यदि कोई भी वाहन चालक नानुकूर एवं तेज आवाज में बात किया तो मारपीट करना शुरू कर देते हैं। चर्चाएं यहां तक हैं कि उक्त सभी व्यक्ति अन्य जिले के हैं। सूत्र तो यहां तक बता रहे हैं कि रीवा जिले के एक विभागीय व्यक्ति के इशारे पर इन चेक पोस्टों पर वसूली जमकर की जा रही है। रीवा जिले का सिंगरौली में वसूली कराने वाला व्यक्ति कौन है इसका भी खुलासा होने वाला है।

Back to top button

Adblock Detected

please dezctivate Adblocker