खून की कमी से जूझ रहे ब्लड बैंक को मिला सीधी चैलेंज कप समिति का सहारा - विंध्य न्यूज़

रक्तदान से हार्ट अटैक का खतरा होगा कम और शरीर बनेगा एक्टिव – डॉ. अनुप

सीधी — जिले का ब्लड बैंक रक्त की कमी से जूझ रहा था लेकिन सीधी चैलेंज कब समिति एवं कुवर एंड ब्रदर्स के सामूहिक रक्तदान से ब्लड बैंक कि मैं अब रक्त की कमी नहीं रहेगी। मिली जानकारी के मुताबिक बुधवार को सीधी चैलेंच कप समिति एवं कुॅवर एण्ड ब्रदर्श के द्वारा सामूहिक रूप से रक्त दान किया गया, बताया गया कि विपदा की घड़ी में जहॉ
चारो कोरोना वायरस का भय लोगों को सता रहा है और हर कोई अपने अपने घरों तक ही सीमित हो कर रहे गये हैं। जिसके चलते  जिला चिकित्सालय में स्थित ब्लड बैंक में खून की कमी के चलते जरूरतमंदों की जीवन रक्षा में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। 

डॉ.अनुप मिश्रा सहित दर्जनों यूवकों नें ब्लड बैंक जा कर जरूरमंदो के प्राण रक्षा हेतु रक्त दान किया। समाज सेवी डॉ. अनुप ने बताया कि आमतौर पर लोगों के दिमाग में गलत धारणा होती है कि रक्तदान से शरीर में बीमारी आती है, इससे शरीर कमज़ोर पड़ जाता है या फिर इससे एचआईवी होने का खतरा बना रहता है। उक्त बातें पूरी तरह से निराधार हैं। सत्यता तो यह है कि आप के एक यूनिट ब्लड से दो बच्चों
या एक व्यक्ति के प्राणों की रक्षा आवश्यकता पडऩे पर होती है साथ ही रक्त दान के पश्चात हार्ट अटैक का खतरा कम हो जाता है एवं लिवर हेल्दी होता है
साथ ही वजन कम करने में रक्त दान बरदान साबित होता है। खून का दान करना हमेशा से ही अच्छा माना गया है, इस दान से लोगों को जिंदगी बचती है। रक्त
दान के बाद जो मानसिक संतुष्टि मिलती है वो अन्य किसी भी दान में नहीं मिल सकती है।

रक्त दान करते समय डॉ. अनुप नें बताया कि इसके अनेको फायदे हैं,इस दान से हार्ट अटैक कि संभावनाएं कम होती हैं क्योंकि रक्तदान से

खून का थक्का नहीं जमता, इससे खून कुछ मात्रा में पतला हो जाता है और हार्ट अटैक का खतरा टल जाता है। खून का दान करने से वजन कम करने में मदद मिलती है इसीलिए हर साल कम से कम 2 बार रक्तदान करना चाहिए। रक्तदान से शरीर में एनर्जी आती है क्योंकि दान के बाद नए ब्लड सेल्स बनते हैं,
जिससे शरीर में तंदरूस्ती आती है। खून डोनेट करने से लिवर से जुड़ी समस्याओं में राहत मिलती है शरीर में ज़्यादा आइरन की मात्रा लिवर पर दवाब डालती है और रक्तदान से आइरन की मात्रा बैलेंस हो जाती है। आइरन की मात्रा को बैलेंस करने से लिवर हेल्दी बनता है और कैंसर का खतरा भी कम हो
जाता है।

इनका रहा सराहनीय योगदान –
रक्त दान महादान कार्यक्रम में इंजी. आर बी सिंह, अजीत सिंह चन्देल लल्ला, भवानी सिंह,डॉ अनूप मिश्रा,नीरज कुन्देर, रितेश सिंह,आशीष मोटवानी,गौरव सिंह चौहान,पवन द्विवेदी,भूपेन्द्र तिवारी,नरेन्द्र बहादुर सिंह, राकेश सिंह बघेल सहित सीधी चैलेंज कप समिति के अन्य सदस्यों नें रक्त दान
कर जीवन रक्षा कार्यक्रम को सफल बनाया।

3 thoughts on “खून की कमी से जूझ रहे ब्लड बैंक को मिला सीधी चैलेंज कप समिति का सहारा

  1. You really make it appear really easy along with your presentation however I find this topic to be actually one thing that I think I might never understand. It seems too complicated and very wide for me. I’m taking a look forward to your next put up, I will attempt to get the dangle of it!

  2. Good site! I really love how it is easy on my eyes and the data are well written. I am wondering how I could be notified whenever a new post has been made. I’ve subscribed to your RSS which must do the trick! Have a nice day!

Comments are closed.