राष्ट्रीय

दुनिया की टॉप-5 खुफिया एजेंसियां, जिनके नाम से काप उठते हैं दुश्मन, डरते हैं बड़े से बड़े आतंकी संगठन

इस आर्टिकल में हम आपको दुनिया के उन 5 सबसे ताकतवर और खतरनाक खूफिया एजेंसियों से अवगत कराएंगे। जिसका नाम मात्र सुनने से ही उनके दुश्मन कांप उठते हैं।

पूर्व भारतीय नाविक कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान में मौत की सजा सुनाए जाने के बाद से देश में आक्रोश की लहर है। पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव पर रॉ एजेंट बताते हुए पाकिस्तान में जासूसी करने का आरोप लगाया है. दुनिया भर में जासूसी सैकड़ों वर्षों से चल रही है। पुराने जमाने में राजा-महाराजा अपने दुश्मनों की जासूसी करते थे।

आधुनिक समय में, हर देश ने सरकार, राजनीतिक दलों या महत्वपूर्ण लोगों की जासूसी करने के लिए खुफिया एजेंसियों की स्थापना की है। रॉ का मुख्य काम सरकार को पड़ोसी देशों की गतिविधियों से अवगत कराना है। विशेषकर चीन, पाकिस्तान के बारे में। बांग्लादेश के निर्माण में 1971 में रॉ ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। आइए जानते हैं दुनिया की टॉप 5 खुफिया एजेंसियों के बारे में…

भारत का RAW
भारत की ख़ुफ़िया एजेंसी RAW यानी रिसर्च एंड एनालिसिस विंग को दुनिया की सबसे ताकतवर ख़ुफ़िया एजेंसी माना जाता है. इसकी स्थापना 1968 में हुई थी। इसका मुख्यालय दिल्ली में है। इस एजेंसी की ख़ासियत यह है कि यह भारत के प्रधान मंत्री के अलावा किसी के प्रति जवाबदेह नहीं है। रॉ के पास विदेशी मामलों, अपराधियों, आतंकियों की पूरी जानकारी है। इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) भी देश की सुरक्षा के लिए काम करता है। दोनों एजेंसियों ने मिलकर कई बड़े आतंकी हमलों को नाकाम किया है।

पाकिस्तान की ISI पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी ISI यानी इंटर सर्विसेज इंटेलिजेंस को दुनिया की नंबर एक ख़ुफ़िया एजेंसी माना जाता है. इसकी स्थापना वर्ष 1948 में हुई थी। इसका मुख्यालय शाहरा-ए-सुहरावर्दी, इस्लामाबाद में है। इसकी स्थापना ऑस्ट्रेलियाई मूल के एक ब्रिटिश सेना अधिकारी मेजर जनरल आर. कैथॉम, जो उस समय पाकिस्तानी सेना के चीफ ऑफ स्टाफ थे। देश की सुरक्षा के नाम पर ISI पर आतंकवाद को बढ़ावा देने का आरोप है. माना जाता है कि वह कई आतंकी हमलों में शामिल रहा है।

अमेरिका की CIA
CIA, सेंट्रल इंटेलिजेंस एजेंसी, की स्थापना 1947 में हुई थी। इसका मुख्यालय वाशिंगटन के निकट वर्जीनिया में है। सीआईए को न केवल अमेरिका में बल्कि दुनिया में भी सबसे सक्षम और शक्तिशाली माना जाता है। CIA के अलावा, U.S. में तीन एजेंसियां NSA, DIA और FBI हैं। CIA का काम साइबर क्राइम और आतंकवाद की रोकथाम सहित विदेशों से जानकारी जुटाना है। 2013 में, वाशिंगटन पोस्ट ने सीआईए को उच्चतम बजट वाली खुफिया एजेंसी का नाम दिया।

इज़राइल के MOSSAD
इज़राइल की ख़ुफ़िया एजेंसी मोसाद को दुनिया की सबसे अच्छी और ख़तरनाक ख़ुफ़िया एजेंसियों में से एक माना जाता है। इसकी स्थापना वर्ष 1949 में हुई थी। इसके निदेशक सीधे प्रधानमंत्री को रिपोर्ट करते हैं। मोसाद का मतलब मौत माना जाता है। कहा जाता है कि मोसाद की नजर एक बार लग जाए तो उसका बचना मुश्किल होता है। मोसाद के खूंखार एजेंट उसे दुनिया में कहीं भी ढूंढने के लिए बेताब हैं। मोसाद की पहुंच हर उस जगह तक है जहां इजरायल या उसके नागरिकों के खिलाफ कोई साजिश रची जा रही है।

चीन का MSS
चीनी ख़ुफ़िया एजेंसी एमएसएस यानी राज्य सुरक्षा मंत्रालय सबसे बड़ी ख़ुफ़िया एजेंसी है। इसकी स्थापना 1983 में हुई थी। इसका मुख्यालय बीजिंग में है। इसका काम दूसरे देशों की खुफिया एजेंसियों की तरह ही है, लेकिन यह देश को राजनीतिक रूप से सुरक्षित रखने का काम करता है।

Back to top button

Adblock Detected

please dezctivate Adblocker