राष्ट्रीय

देर से शादी करने के ये हैं शारीरिक नुकसान,इस उम्र तक कर लेनी चाहिए शादी ,जानिए सही उम्र

शादी के लिए पूरा समय लेना सही बात है लेकिन ज्यादा देर करने के अपने नुकसान भी हैं। सही उम्र में शादी न करने से कई समस्याएं हो सकती हैं।आज के समय में लेट शादी (Marriage) करना एक फैशन हो गया है। वैसे तो देर से शादी करने के कई फायदे है। मगर कई बार आपको काफी नुकसान भी झेलना पड़ सकता है।

न्यूज़ फास्ट, नई दिल्ली शादी का फैसला हर किसी के लिए व्यक्तिगत होता है लेकिन हमारे समाज में एक निश्चित उम्र के बाद शादी का दबाव बढ़ने लगता है। रिश्तेदार, दोस्त या परिवार के सदस्य खुद ही शादी का दबाव बनाने लगते हैं। शादी के लिए पूरा समय लेना सही बात है लेकिन ज्यादा देर करने के अपने नुकसान भी हैं। आइए जानते हैं कि सही उम्र में शादी नहीं करने पर आपको किन समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

सही उम्र में शादी न करने पर कपल्स को कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। देर से शादी करने पर सिर्फ महिलाओं को ही नहीं बल्कि पुरुषों को भी कई सारी प्रॉब्लम्स फेस करनी पड़ती हैं। जिंदगी में हर फैसला समय रहते कर लेना चाहिए क्योंकि समय निकल जाने के बाद बहुत पछतावा होता है। किसी के लिए भी शादी का फैसला सबसे अहम होता है। यही कारण है कि इस फैसले को लेने के लिए लोग काफी वक्त लगा देते हैं। जब वह शादी का फैसला लेते हैं, तब तक शायद बहुत देर हो जाती है।

झगड़े बढ़ते हैं-

जब शादी में बहुत देर हो जाती है, तो जिम्मेदारियां और प्राथमिकताएं बदलने लगती हैं और जोड़े एक-दूसरे को समझ नहीं पाते हैं। इस वजह से वे आपस में झगड़ते रहते हैं। इसके अलावा, उम्र के साथ अहंकार का स्तर बढ़ता है, जिससे झगड़े होने की संभावना अधिक हो जाती है, क्योंकि कोई भी झुकने को तैयार नहीं होता है।

शारीरिक इंटीमेसी की कमी-

उम्र के साथ, ज्यादातर महिलाओं को शारीरिक इंटीमेसी पसंद नहीं होती है और वे उदास हो जाती हैं। इस वजह से पति-पत्नी के बीच तकरार भी बढ़ जाती है। जैसे-जैसे पुरुष बड़े होते जाते हैं, टेस्टोस्टेरोन कम होने लगता है और उनमें इंटीमेसी में रुचि भी कम होने लगती है।

इनफर्टिलिटी की संभावना को बढ़ाता है-

30 साल की उम्र के आसपास महिलाओं में प्रजनन क्षमता कम हो जाती है। 35 की उम्र के बाद इसमें तेजी से गिरावट आने लगती है। जैसे-जैसे एक महिला की उम्र बढ़ती है, उसके गर्भवती होने की संभावना कम होती जाती है और उसके इनफर्टिलिटी होने की संभावना बढ़ जाती है।

रिश्ते को ज्यादा अहमियत नहीं देना-

आज की भाग दौड़ भरी जिंदगी में लोग अपने रिश्तों से ज्यादा करियर को तरजीह देते हैं चाहे वह लड़का हो या लड़की। इस वजह से उनकी सही उम्र में शादी नहीं हो पाती है। देर से शादी करने के बावजूद वह अपने रिश्ते से ज्यादा अपने करियर को महत्व देते हैं, जिससे रिश्ते में गलतफहमियां पैदा होती हैं।

मनचाहा पार्टनर न मिलना

अगर आप 30 के बाद शादी करते हैं, तो आपको मनचाहा पार्टनर मिलने में काफी दिक्कत होती है, कुछ ही लोग ऐसे होते हैं, जिनकी जोड़ी अच्छी लगती है। एक उम्र के बाद आपको आपकी पसंद का पार्टनर मिलना मुश्किल हो जाता है।

बदलाव न कर पाना

जो लोग देर से शादी करते हैं, उन्हें अकेले रहने की आदत पड़ जाती है, इसलिए वह खुद को किसी दूसरे के लिए बदलना नहीं चाहते हैं, जिसका असर उनकी शादीशुदा जिंदगी पर भी पड़ता है।

फैमिली एडजस्टमेंट

अक्सर लोग करियर बनाने और जॉब के कारण ही देर से शादी करते हैं। ऐसे में उस उम्र तक आप बदलाव के लिए तैयार नहीं रहते हैं। आप अपनी लाइफ अपनी तरह से जीना चाहते हैं, जिसके कारण फैमिली में एडजस्ट करने में दिक्कत आती है।

Back to top button