पीएम मोदी और सीएम योगी पर आपत्तिजनक टिप्पणी करना पड़ा भारी,केस दर्ज - विंध्य न्यूज़

भड़काऊ पोस्ट करने की वजह से कई बार जा चुका जेल,

लखनऊ। देश के लिए महामारी का रूप धारण कर चुका कोरोना वायरस के संक्रमण पर अंकुश लगाने के प्रयास में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दिन रात मेहनत कर लोगों की जान बचाने के प्रयास में लगे हैं तो वहीं कुछ असामाजिक तक उनके खिलाफ अभद्र वह आपत्तिजनक टिप्पणी करने से बाज नहीं आ रहे हैं। राजधानी लखनऊ में पीएम मोदी तथा सीएम योगी आदित्यनाथ पर टिप्पणी करने के मामले में एक युवक के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। दरअसल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर अभद्र टिप्पणी करने वाले प्रशांत कन्नौजिया के खिलाफ आशियाना थाने में रिपोर्ट दर्ज की गई है। भाजपा लखनऊ के युवा नेता शशांक शेखर सिंह ने यह रिपोर्ट दर्ज कराई है। आरोपित के खिलाफ हजरतगंज कोतवाली में भी केस दर्ज है। अपने को पत्रकार बताने वाले प्रशांत कन्नौजिया को पहले भी गिरफ्तार किया गया था। पुलिस अब हजरतगंज के केस में भी आरोपित की जमानत खारिज कराएगी। आरोपी ने 1 मार्च 2020 को समाज को बांटने बाला भड़काऊ ट्वीट किया था वही 20 फरवरी को सवर्ण समाज दलित समाज केेेे बीच जंग छेड़ने की बात कही थी।

25 मार्च 2020 को सीएम योगी आदित्यनाथ को अनपढ़ कहने के साथ डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के खिलाफ जातिगत टिप्पणी करने वाले प्रशांत कन्नौजिया का मन बढ़ गया था। अब उसने पीएम नरेंद्र मोदी पर भी अमर्यादित टिप्पणी की है। शशांक शेखर ने कहा है कि प्रशांत कनौजिया आपराधिक किस्म का आदमी है जिसके ऊपर कई मामले दर्ज हैंइससे पहले भी प्रशांत कन्नौजिया जेल जा चुका है।

पीएम मोदी पर अशोभनीय टिप्पणी करने वाले और दलितों को हिंदुओं से अलग बताने वाले उपद्रवी एवं तथाकथित पत्रकार प्रशान्त कन्नौजिया के खिलाफ भाजपा के युवा नेता शशांक शेखर सिंह ने आशियाना थाने में तहरीर दी थी।उनकी तहरीर पर पर एफआईआर दर्ज की गई है। प्रशांत के खिलाफ आईपीसी 500,501,505 और आईटी एक्ट में मुकदमा दर्ज हुआ है।