विवादित बयान के बाद मंत्री बिसाहू लाल का यू टर्न, स्वर्ण महिलाओं को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी पर मांगी माफी - विंध्य न्यूज़

अनूपपुरआए दिन अपने बयानों की वजह से सुर्खियों में रहने वाले मध्य प्रदेश के खाद्य नागरिक आपूर्ति मंत्री बिसाहूलाल सिंह ने अपने बयान के लिए हाथ जोड़कर माफी मांग ली है बता दें कि पिछले दिनों उन्होंने कहा था कि ठाकुर ठाकुर लोग अपनी महिलाओं को घर में बंद कर कर रखते हैं उन्हें पकड़कर बाहर निकालने की जरूरत है इस बयान के बाद उनका काफी विरोध हो रहा था करणी सेना ने तो उनका मुंह काला करने की धमकी तक दे डाली थी मंत्री बिसाहूलाल अपने बेतुके बयान की महज 24 घंटे के भीतर माफी मांग ली उन्होंने कहा कि उनका मकसद किसी समुदाय को नीचा दिखाना नहीं था।

बिसाहूलाल ने शुक्रवार को मीडिया से बात करते हुए कहा कि मेरे बयान को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया। उन्होंने कहा कि कार्यक्रम में जो बातें कही गई हैं, उसके कुछ अंश छिपाकर विघ्न पैदा करने वाले लोगों ने गलत ढंग से उनकी बातों को रखा। यदि उनका पूरा वीडियो जारी किया जाता तो शायद ऐसी स्थिति नहीं बनती। मेरे विधानसभा क्षेत्र का प्रोग्राम था। मैंने वह बात विधानसभा क्षेत्र में पार्टी के पदाधिकारियों के लिए बोली थी। प्रदेश के लोगों के संबंध में मैंने कोई बात नहीं बोली। न ही मैंने किसी जाति के बारे में कुछ बोला। अगर इसके बाद भी किसी की भावनाओं को ठेस पहुंची है या दुख हुआ है तो मैं अपने बयान के लिए क्षमा मांगता हूं। एक प्रश्न के जवाब में उन्होंने कहा कि बात कांग्रेस की हो या भाजपा की, मैंने महिलाओं को लेकर कुछ भी अपशब्द नहीं कहे। हमारा सिर्फ इतना कहना था कि सब लोगों को आगे आना चाहिए। समाज के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम करना चाहिए। 

यह दिया था बयान – अनूपपुर विधायक व मंत्री बिसाहू लाल सिंह ने बुधवार को ग्राम फुनगा में नारी शक्ति सम्मेलन में महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा था कि महिला और पुरुष को समान रूप से काम करना चाहिए। ग्रामीण महिलाएं खूब काम करती हैं खासकर ठाकुर ठकार समाज के लोग अपने घर की औरतों को कोठरी में बंद कर रखते हैं, काम करने निकलने नहीं देते। उन्होंने कहा था कि समाज में समानता लाना है तो ठाकुर ठकार जाति की महिलाओं को पकड़ कर बाहर निकालो। गांव की महिलाएं धान काटती हैं, गोबर लीपती हैं और अन्य काम करती हैं। यह काम बड़े घर की महिलाएं भी करें तभी महिलाओं में समानता आएगी।इसी बात को लेकर विवाद खड़ा हो गया था।