राष्ट्रीय

Facebook Disease एक ‘बीमारी’ जो सिर्फ Facebook यजूर्स को होती है,जानिए फेसबुक के 11 राज और क्यों है नीला रंग

फेसबुक का नीला रंग मार्क जुकरबर्ग की बीमारी की वजह से है तो आप विश्वास कर सकते हैं लेकिन शायद यह सच है। वैसे क्या आप जानते हैं कि दुनिया में एक ऐसी बीमारी है जो सिर्फ फेसबुक यूजर्स को ही होती है, शायद आप नहीं जानते होंगे।

Secrets of Facebook: अगर आपसे पूछा जाए कि फेसबुक का रंग नीला क्यों है। तो शायद आपका जवाब होगा कि ये रंग मार्क जुकरबर्ग पर सूट कर सकते हैं या हो सकता है कि ये रंग फेसबुक डिजाइन करते समय ज्यादा बेहतर दिखें। लेकिन अगर मैं आपको बता दूं कि फेसबुक का नीला रंग मार्क जुकरबर्ग की एक बीमारी के कारण है, तो आप शायद विश्वास नहीं करेंगे लेकिन यह सच है। वैसे क्या आप जानते हैं कि दुनिया में एक ऐसी बीमारी है जो सिर्फ फेसबुक यूजर्स को ही होती है, शायद आप नहीं जानते होंगे। तो आइए हम आपको फेसबुक से जुड़ी कुछ रोचक जानकारियां देते हैं और आपको बताते हैं फेसबुक के कुछ 11 राज-

फेसबुक का नीला रंग क्यों

दुनिया में इतने रंग हैं लेकिन फेसबुक का रंग नीला क्यों है? दरअसल, फेसबुक का रंग नीला है क्योंकि फेसबुक के प्रमुख मार्क जुकरबर्ग नीले रंग को सबसे सटीक तरीके से देख सकते हैं। मार्क जुकरबर्ग को रेड-ग्रीन कलर ब्लाइंडनेस है। एक रूसी टेलीविजन टॉक शो में बोलते हुए उन्होंने कहा कि उन्हें कलर ब्लाइंडनेस है और नीला वह रंग है जिसे वे सबसे अच्छे से देख सकते हैं, इसीलिए उन्होंने फेसबुक का रंग नीला रखा है।

2. वह व्यक्ति जिसे ब्लॉक नहीं किया जा सकता

फेसबुक पर एक शख्स ऐसा भी है जिसे कभी ब्लॉक नहीं किया जा सकता। हां, मार्क जुकरबर्ग एकमात्र ऐसे व्यक्ति हैं जिन्हें फेसबुक पर ब्लॉक नहीं किया जा सकता है। अगर आपको यकीन नहीं है तो इसे आजमाएं।

3.जुकरबर्ग को ढूंढना न तो मुश्किल है और न ही असंभव

फेसबुक पर मार्क जुकरबर्ग को ढूंढना न तो मुश्किल है और न ही असंभव। जी हां, मार्क जुकरबर्ग फेसबुक पर सबसे आसान लोगों में से एक हैं। अगर आप फेसबुक पर लॉग इन करके अपने होम पेज पर हैं, तो आपका यूआरएल https://www.facebook.com है और दिलचस्प बात यह है कि अगर आप अपने उसी यूआरएल के आगे बस/4 जोड़ते हैं तो आप सीधे जाते हैं। दीवार तक पहुंच जाएगा।

4. दो देशों में फेसबुक पर भी प्रतिबंध है

फेसबुक के अरबों उपयोगकर्ता हैं जिनमें दुनिया के लगभग हर देश के लोग शामिल हैं। लेकिन दुनिया में दो देश ऐसे भी हैं जहां फेसबुक पर बैन है। ये दो देश हैं चीन और उत्तर कोरिया।इन दोनों देशों में फेसबुक पर प्रतिबंध है।

5.अगर किसी की मृत्यु हो जाती है तो खाते का क्या होगा

अगर हमारे किसी परिचित की मृत्यु हो जाती है, तो हम इसकी रिपोर्ट Facebook पर कर सकते हैं. फेसबुक ऐसे प्रोफाइल को एक तरह का यादगार अकाउंट बना देता है। इस खाते में कोई भी लॉग इन नहीं कर सकता है। ऐसे खाते में कोई परिवर्तन नहीं किया जा सकता है।

6. फेसबुक पर हर सेकेंड 5 नए लोग

फेसबुक की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक फेसबुक पर हर सेकेंड 5 नए लोग अपना अकाउंट बनाते हैं। फेसबुक पर हर रोज करीब 30 करोड़ फोटो अपलोड होते हैं। हर 60 सेकेंड में 50 हजार कमेंट और करीब 3 लाख स्टेटस लिखे जाते हैं। वहीं, फेसबुक पर करीब 90 मिलियन फेक प्रोफाइल हैं।

7. यह नाम “Like” के स्थान पर था
फेसबुक पर हर जगह लाइक का ऑप्शन नजर आता है। वैसे, इस विकल्प को लेकर फेसबुक पर काफी विवाद हुआ था। इसे पहले ‘AWESOME’ नाम दिया गया था। लेकिन बाद में LIKE हो गया।

8. यह प्रहार क्या है?

पोक फेसबुक पर एक फीचर है। आप किसी की प्रोफाइल पर जाकर उसे पोक कर सकते हैं। लेकिन इसका क्या मतलब है? इसका वास्तव में कोई मतलब नहीं है। यह सिर्फ एक खेल की तरह है। फेसबुक हेल्प सेंटर में भी आप कभी नहीं जान पाएंगे कि ‘पोक’ का मतलब क्या होता है। मार्क जुकरबर्ग ने कहा है कि उन्होंने सोचा था कि वह करेंगे।

9. फेसबुक एक बीमारी

फेसबुक की लत इन दिनों एक बीमारी बनती जा रही है। दुनिया भर में हर उम्र के लोग फेसबुक एडिक्शन डिसऑर्डर यानी फेसबुक की लत से जूझ रहे हैं। इस रोग का संक्षिप्त नाम FAD है। इस समय दुनिया में लाखों लोग FAD से पीड़ित हैं।

10. इंस्टाग्राम और व्हाट्सएप खरीदा

फेसबुक को मार्च 2004 में लॉन्च किया गया था और एक साल के भीतर ही इसके दस लाख उपयोगकर्ता हो गए थे। जून 2009 तक, यह इतना बढ़ गया था कि यह संयुक्त राज्य में नंबर एक सोशल नेटवर्किंग साइट बन गया। फेसबुक ने अप्रैल 2012 में इंस्टाग्राम और 2014 में व्हाट्सएप को भी खरीदा था।

11. कब और क्या लॉन्च हुआ

फेसबुक ने सितंबर 2004 में “वॉल”, सितंबर 2006 में “न्यूज फीड”, फरवरी 2009 में “लाइक” बटन और सितंबर 2011 में टाइमलाइन फीचर लॉन्च किया।

Back to top button