IAS अफसर को रेप मामले में CM ने दिए निलंबित करने के निर्देश, जानिए क्या है मामला - विंध्य न्यूज़

रायपुर। रेप मामले में आरोपी आईएएस अफसर जनक प्रसाद पाठक को निलंबित कर उच्च स्तरीय दल गठित कर जांच के आदेश दिए गये हैं। इस मामले में CM भूपेश बघेल ने सख्त कदम उठाते हुए मुख्य सचिव को जांच के निर्देश दिए हैं। हाल ही में आरोपित आईएएस अफसर का तबादला कलेक्टर पद से हुआ है। वे अभी संचालक भू-अभिलेख के पद पर कार्यरत हैं।


मिली जानकारी के मुताबिक एक एनजीओ संचालक व डभरा क्षेत्र की पूर्व जनपद सदस्य महिला ने जांजगीर चाम्पा जिले के पूर्व कलेक्टर जेपी पाठक के खिलाफ गंभीर आरोप लगाए हैं। बुधवार 3 जून को महिला ने एसपी ऑफिस पहुंच कर शिकायत दर्ज कराई है। सूत्रों की मानें तो पीड़िता ने पुलिस को कलेक्टर और उसके बीच हुई बातचीत की रिकार्डिंग और कुछ तस्वीरें पुलिस को सौंपी है।


महिला ने पुलिस अधीक्षक के नाम दिए शिकायत पत्र में बताया है कि, वह डभरा क्षेत्र की पूर्व जनपद सदस्य हैं, तथा एनजीओ चलाती हैं। काम दिलाने का झांसा देकर उसके साथ दुराचार किया गया। बताया जाता है कि महिला 15 मई को कलेक्टोरेट पहुंची थी। इस दौरान चैंबर में ही कलेक्टर ने उसके साथ संबंध स्थापित किये थे और उन्होंने उसे काम दिलाने का भरोसा दिलाया था, लेकिन काम नहीं मिला। 

पीड़िता का कहना है कि कलेक्ट्रेट में ही सरकारी नौकरी में कार्यरत हैं कलेक्टर में जल्द ही पति की अच्छी पदस्थापन कराने का आश्वासन दिया था। वही महिला को यही डर था यदि व कलेक्टर के खिलाफ शिकायत करती है तो उसके पति के साथ अधिकारी षड्यंत्र कर कार्यवाही कर सकते हैं। कलेक्टर का स्थानांतरण होने के बाद उसने एफआईआर कराने की हिम्मत जुटाई है। उसकी आपबीती सुनने के बाद उसे कोतवाली थाना भेजा गया। 

MP.कोरोना संक्रमित भाई बहन ने वीडियो वायरल कर संक्रमण फैलाने की दी धमकी,मचा हड़कंप, जानिए फिर क्या हुआ

बीजेपी से राजेंद्र शुक्ला की बगावत ! सोनू सूद से मदद के बहाने अपने ही सरकार के दावों की खोली पोल,

यकीन मानिए,मौत ऐसी आती है,देखिए मौत का वीडियो,

मध्य प्रदेश: कब तक पांच मंत्री चलाएंगे सरकार ?  अटकलों के बीच गुज़रती जा रही तारीख़,आखिर क्यों,