राष्ट्रीय

LPG Cylinder Subsidy 2022: ग्राहकों के खाते में 237 रुपये आ रही सब्सिडी,ऐसे करें चेक

LPG Cylinder Subsidy 2022: गैस सब्सिडी के पैसे चेक करने के दो तरीके हैं। पहला पंजीकृत मोबाइल नंबर के माध्यम से और दूसरा एलपीजी आईडी के माध्यम से जो आपकी गैस पासबुक में उल्लेखित है।

snn

LPG Cylinder Subsidy 2022: LPG गैस सिलेंडर ग्राहकों के लिए खुशखबरी है। एलपीजी गैस सिलेंडर के लिए उपभोक्ताओं को फिर से सब्सिडी दी जा रही है। सब्सिडी का पैसा ग्राहक के खाते में ट्रांसफर कर दिया गया है।हालांकि कुछ ग्राहकों को 158.52 रुपये या 237.78 रुपये (एलपीजी सब्सिडी) मिल रही है। इसके चलते अभी भी असमंजस की स्थिति बनी हुई है। बता दें कि पिछले कुछ दिनों से ऐसी घटनाएं हुई हैं जहां ग्राहकों के खातों में सब्सिडी नहीं दी जा रही है. लेकिन अब शिकायतें आना बंद हो गई हैं।

आपको बता दें कि गैस सब्सिडी के पैसे चेक करने के दो तरीके हैं। पहला पंजीकृत मोबाइल नंबर के माध्यम से और दूसरा एलपीजी आईडी के माध्यम से जो आपकी गैस पासबुक में उल्लेखित है।

कंडोम में रेड चिली सॉस का इस्तेमाल करने बालो के लिए चेतावनी, डॉक्टरो ने कही यह बड़ी बात!

आइए जानते हैं क्या है प्रोसेस

सबसे पहले आप http://mylpg.in/ पर जाएं और एलपीजी सब्सिडी ऑनलाइन पर क्लिक करें। यहां आपको तीन एलपीजी सिलेंडर कंपनी के टैब मिलेंगे। जिस कंपनी के पास सिलेंडर है उस कंपनी पर क्लिक करें। मान लीजिए आपके पास इंडेन गैस का सिलेंडर है तो इंडेन पर क्लिक करें।

तीन-तीन नौकरी करने के बाद थक जाती थी महिला, प्रेमी को रोमांस के लिए गिफ्ट में सौंप दी लड़की!

इसके बाद Complaints ऑप्शन को सेलेक्ट करने के बाद Next बटन पर क्लिक करें। फिर आपके सामने आपके बैंक विवरण के साथ एक नया इंटरफ़ेस खुल जाएगा। विवरण दिखाएगा कि सब्सिडी का पैसा आपके खाते में आ रहा है या नहीं।

सरकार सब्सिडी पर कितना खर्च करती है?

वित्त वर्ष 2011 में सब्सिडी पर सरकारी खर्च 3,559 रुपये था। वित्त वर्ष 2020 में यह खर्च 24,468 करोड़ रुपये था। दरअसल यह जनवरी 2015 में शुरू हुई डीबीटी योजना के तहत है जिसके तहत ग्राहकों को बिना सब्सिडी के एलपीजी सिलेंडर की पूरी राशि का भुगतान करना होता है। साथ ही सरकार ग्राहक के बैंक खाते में सब्सिडी का पैसा वापस कर देती है। चूंकि यह रिटर्न प्रत्यक्ष है, इसलिए इस योजना का नाम डीबीटीएल रखा गया है।

MP- इस गांव के रोज बदल जाते हैं रास्ते,NCL-CISF फोर्स लगाकर करती है निगरानी,शाम 7 बजे बंद हो जाता है रास्ता,यह है वजह

Back to top button

Adblock Detected

please dezctivate Adblocker