राष्ट्रीय

Station : इस स्टेशन में ढाई साल में एक भी यात्री ने नहीं रखा कदम, यह रही वजह

snn

Station : ट्रेन के चलने के दौरान सिग्नलिंग की गई. यह स्टेशन कोई और नहीं बल्कि मेसरा स्टेशन है. कुछ साल पहले इस स्टेशन से ट्रेनें चलने लगी थीं. लेकिन आज इस स्टेशन की स्थिति कुछ और है. जिसे देख हर कोई shocked हो जाता हैं. तथा इस बारे में और भी जानने की इच्छा जाहिर करता हैं.

Station : रांची। रांची रेलवे मंडल से महज 20 किमी दूर एक ऐसा स्टेशन है, जहां ढाई साल से एक भी यात्री स्टेशन नहीं पहुंचा है. एक भी पैसेंजर ट्रेन का परिचालन नहीं हुआ हैं. लेकिन ढाई साल पहले यहां का नजारा कुछ और ही था.

 

इस स्टेशन से सैकड़ों की संख्या में यात्री आते थे. ट्रेन के चलने के दौरान सिग्नलिंग की गई. यह स्टेशन कोई और नहीं बल्कि मेसरा स्टेशन है. कुछ साल पहले इस स्टेशन से ट्रेनें चलने लगी थीं. लेकिन आज इस स्टेशन की स्थिति कुछ और है. यह पूरी तरह से परिवर्तित हो गया हैं. जिसे देखने की हर कोई इच्छा व्यक्त कर रहा हैं. तथा इस बारे में जानने की कोसिस कर रहा हैं. Station

Station : इस स्टेशन में ढाई साल में एक भी यात्री ने नहीं रखा कदम, यह रही वजह
photo by google

स्टेशन के सर्च सेंटर पर यात्री नहीं बल्कि जानवर नजर आ रहे हैं. जहां स्वच्छता का इससे कोई लेना-देना नहीं है. चारों ओर गंदगी, काई और घास उग आई है. station को देखने से लगता है. कि महीनों से इसकी सफाई नहीं की गई है. और चारो तरफ कूड़े का अम्बार लगा हुआ हैं. पूरे भवन में मकड़ी के जाले लगे हुए हैं. और साफ सफाई का कोई नामो निस्सान नहीं देखने को मिल रहा हैं. उसी समय भवन की कुछ खिड़कियां भी टूटी हुयी हैं. हालांकि अभी ट्रेनों की आवाजाही बाधित है. Station

Station : इस स्टेशन में ढाई साल में एक भी यात्री ने नहीं रखा कदम, यह रही वजह
photo by google

यात्रियों के लिए हैंडपंप उपलब्ध कराए जाते हैं, जहां जलजमाव की स्थिति बनी रहती है, जिससे गंदा पानी बहता है. प्लेटफॉर्म पर जो बैठने की व्यवस्था की गई थी. वह अब ढह रही है. यहां तक ​​कि स्टेशन परिसर की कई खिड़कियां भी तोड़ दी गईं. प्लेटफॉर्म पर बच्चों को साइकिल चलाते और मस्ती करते देखा जा सकता है. जो भी यह नजारा देखता हैं वह shocked हो जाता हैं. तथा इस बारे में और भी जानने की कोशिस करता हैं और दूसरो से इस बारे में पूंछता हैं. Station

दरअसल, कोविड के दौरान ट्रेन सेवाएं रोक दी गईं, तब ट्रेन सेवाएं शुरू नहीं हो सकीं. ट्रेन को दो महीने पहले संचालित करने की योजना थी, जिसे अपरिहार्य कारणों से रद्द कर दिया गया था. उसके बाद ट्रेन शुरू करने पर कोई फैसला नहीं हुआ. Station

सांकी से सिदेश्वर तक रेल लाइन का काम पूरा नहीं हुआ है. इस कारण बरकाना तक रेल लाइन नहीं जुड़ सकी. निर्माण इस साल के अंत तक पूरा होने की आशा जताई जा रही है.

धनबाद रेल मंडल के वरिष्ठ डीसीएम अमरेश कुमार ने कहा कि ट्रेन की आवाजाही शुरू नहीं हुई है. सांकी से सिदेश्वर तक रेल लाइन का निर्माण कार्य प्रगति पर है. जल्द ही निर्माण कार्य पूरा कर लिया जाएगा. यात्रियों को यह सुविधा कुछ ही महीनों में मिल जाएगी. जैसे ही station का पूरा karya समाप्त हो जाता हैं. सभी प्रकार की बाधित क्रियाये पुनः संचालित की जा सकेंगी. Station

 

यह भी पढ़े — model made 1 billion bikini : इस मॉडल ने 1470000000 की बिकिनी व 25 करोड़ की पहनी ब्रा , देखकर खुली रह जाएंगी आंखें

यह भी पढ़े — 7th pay commission : कर्मचारियों को 2023 में मिलेगी बड़ी खुशखबरी! महंगाई भत्ता और सैलरी में होगा इजाफा, जानें ताजा अपडेट

Back to top button

Adblock Detected

please dezctivate Adblocker