राष्ट्रीय

PM के साथ नंगे पैर दिखे संत तो भड़के पूर्व कलेक्टर,बोले-कड़ाके की ठंड में संतो के जूते बाहर उतरवाए, खुद साहब जूता शाल पहन कर मिले

प्रधानमंत्री मोदी की तिरुपति के संतों के साथ एक तस्वीर खूब वायरल हो रही है, जिसे लेकर पूर्व आईएए ने पीएम मोदी पर तंज कसा है लेकिन कई यूजर्स ने पूर्व कलेक्टर को भी आईना दिखाया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में तिरुपति से आए संतों से भेंट मुलाकात की और उनका हाल चाल भी जाना । सोशल मीडिया पर PM मोदी व संतो के वीडियो और तस्वीरें सोशल साइट्स पर खूब वायरल हो रहे हैं। तस्वीर में प्रधानमंत्री मोदी संतों के साथ नजर आ रहे हैं। लेकिन जिस तस्वीर में साधु नंगे पांव नजर आ रहे हैं, वहां प्रधानमंत्री मोदी शॉल ओढ़े और जूते पहने नजर आ रहे हैं. इस तस्वीर को लेकर अब पूर्व कलेक्टर सूर्य प्रताप सिंह ने प्रधानमंत्री मोदी पर तंज कसते हुए लिखा है कि आप भी देखिए महान हिंदू की झलक.

बता दे कि पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर को अपने ट्विटर हैंडल से साझा किया। उन्होंने निशाना साधते हुए लिखा, “तिरुपति से आए संतों के जूते कड़ाके की ठंड में बाहर ही उतरवा लिए और उन्हें नंगे पांव बुलाया। खुद साहब जूते-शाल सब पहनकर मिले। विराट हिंदू की झलक आप भी देखिए, अंधभक्त चाहें तो इस पर भी सफाई दे सकते हैं। इस ट्वीट के बाद लोगो ने जमकर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं।

पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह के अलावा सोशल मीडिया यूजर भी उनकी इस तस्वीर पर खूब कमेंट कर रहे हैं। अब्दुल नाम के यूजर ने पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह के ट्वीट के जवाब में लिखा, “अंधभक्तों की टोली को देर से समझ आएगा। अभी बहुत कुछ देखने को मिलेगा। जय हिंद।” वहीं एक यूजर ने लिखा, “जनता खुद ही सफाई कर रही है।”

बता दें कि कुछ यूजर ने इस ट्वीट के लिए उल्टा पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह पर ही निशाना साधा। तृप्ति नाम की यूजर ने प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीर साझा करते हुए सूर्य प्रताप सिंह को जवाब दिया। इस तस्वीर में पीएम मोदी ने जूते नहीं पहने थे। ऐसे में इसे शेयर करते हुए उन्होंने लिखा, “सर रिटायर्ड हो, आराम करो, ऐसे हाइपर होकर गलतियां न करो।”

रामेश्वर आर्य नाम के यूजर ने ट्वीट का जवाब में लिखा,’ ब्राह्मणदेव के संस्कार हैं किसी के घर मे ऑफिस में प्रवेश करने से पहले अपने चप्पल, खड़ाऊ उतार देते हैं नमनः है इन दिव्य पुरुषों को जिन्होंने वर्ष के पहले दिन ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को भगवान तिरुपति भगवान श्रीशैल का आशीर्वाद प्रसाद स्वरूप प्रदान किया। नमो विजयी भवः

नरेन्द्र सिंह नाम के यूजर ने ट्वीट का जवाब में लिखा,’ झूठ बोलना कोई आप से सीखे आपने कौन सी आंखो से देखा हमें तो बिना जूते के साहब दिखाई नहीं दिए टेवल के आरपार देखने वाली कोई आंखें आप के पासहैंतो पता नहीं उसी जगह प्रसाद लिया फिर जूते पहनने बाहर गए जूते पहनकर आए टेवल के उसी किनारे फोटो करायाआपको ऐसी झूठ बोलने में शर्म आनी चाहिए।

आयुष नाम के यूजर ने सूर्य प्रताप सिंह के ट्वीट के जवाब में लिखा, “भाईसाहब ये हमारी भारतीय सभ्यता है कि किसी के घर के अंदर जाओ तो जूते-चप्पल बाहर ही रख कर जाते हैं और मोदी जी खुद के घर में ही हैं।” एक यूजर ने लिखा, “जरूरी नहीं कि शिक्षा आपको मूलभूत समझ भी दे, ये आज साबित हो गया।”

Back to top button