राष्ट्रीय

PM Modi का चॉपर ऑल वेदर हेलिकॉप्टर फिर उड़ान क्यों नहीं भरी, पंजाब सरकार की इस दलील में कितनी सच्चाई

सूत्रों ने आगे बताया कि प्रधानमंत्री का हेलीकॉप्टर हर मौसम में चलने वाला हेलीकॉप्टर है. तब भी हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल नहीं किया गया। हालांकि यहां कोई पहाड़ी इलाका नहीं है। दरअसल, रैली में शामिल होने के लिए प्रधानमंत्री को हेलीकॉप्टर से बठिंडा से फिरोजपुर के लिए उड़ान भरनी थी, लेकिन खराब मौसम के कारण सड़क मार्ग से यात्रा करनी पड़ी.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फिरोजपुर यात्रा के दौरान बड़े सुरक्षा उल्लंघनों के लिए पंजाब सरकार पर सवाल खड़े किए जा रहे हैं । प्रधानमंत्री की सुरक्षा में कमी का मामला अब सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया है. पंजाब सरकार भी अपना बचाव करने से नहीं कतरा रही है. राज्य के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने खुद यह मानने से इनकार किया है कि प्रधानमंत्री मोदी की सुरक्षा में किसी तरह की लापरवाही की गई है. इस बार पंजाब सरकार ने आत्मरक्षा के लिए प्रधानमंत्री मोदी के हेलीकॉप्टर की मदद ली है.

पंजाब सरकार के सूत्रों ने इंडिया टुडे को बताया कि पीएम का हेलीकॉप्टर हर मौसम में चलने वाला विमान था लेकिन इसका इस्तेमाल नहीं करने का फैसला किया गया. सूत्रों ने आगे बताया कि प्रधानमंत्री का हेलीकॉप्टर हर मौसम में चलने वाला हेलीकॉप्टर है. तब भी हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल नहीं किया गया। हालांकि यहां कोई पहाड़ी इलाका नहीं है। दरअसल, रैली में शामिल होने के लिए प्रधानमंत्री को हेलीकॉप्टर से बठिंडा से फिरोजपुर के लिए उड़ान भरनी थी, लेकिन खराब मौसम के कारण सड़क मार्ग से यात्रा करनी पड़ी.

पंजाब के मुख्यमंत्री ने सुरक्षा उल्लंघन से किया इनकार

प्रधानमंत्री के लिए सुरक्षा की कमी एक बड़ा मुद्दा है. भाजपा और अन्य सहयोगी दल पंजाब कांग्रेस सरकार पर इस नाकामी का आरोप लगा रहे हैं। दूसरी ओर, पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने किसी भी सुरक्षा उल्लंघन से इनकार किया है। उन्होंने दावा किया कि कम भीड़ के कारण प्रधान मंत्री मोदी ने फिरोजपुर की अपनी यात्रा रद्द कर दी थी। चन्नी ने इसे राज्य को बदनाम करने की साजिश बताया। सूत्र बताते हैं कि जब पीएम का हेलीकॉप्टर सभी मौसम में उड़ान भर सकता है तो फिर पंजाब में क्यों उड़ान नहीं भरी।

20 मिनट तक फ्लाईओवर पर खड़ा रहा प्रधानमंत्री मोदी का काफिला

हम आपको बता दें कि बुधवार को प्रधानमंत्री मोदी के पंजाब दौरे पर सुरक्षा में बड़ी चूक हुई, जब फिरोजपुर में कुछ प्रदर्शनकारियों ने फ्लाईओवर को जाम कर दिया, जहां से प्रधानमंत्री मोदी का काफिला गुजर रहा था. इससे प्रधानमंत्री करीब 20 मिनट तक फ्लाईओवर पर फंसे रहे। सामने की सड़क खाली नहीं होने के कारण प्रधानमंत्री मोदी बीच में ही एयरपोर्ट लौट आए। कार्यक्रम स्थल पर प्रवेश नहीं होने के कारण कार्यक्रम को रद्द करना पड़ा। वहीं दूसरी तरफ कार्यक्रम स्थल में खाली कुर्सियां कुछ और ही कहानी बयां कर रही है लेकिन असल में सच्चाई क्या है यह जांच के बाद ही स्पष्ट हो पाएगा।

पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी का ट्वीट एक बार फिर विवादों को हवा दे दी है उन्होंने बिना प्रधानमंत्री का नाम लिया उन पर तंज कसा है लिखा की जिन्हें कर्तव्य से ज्यादा जान की फिक्र हो उसे भारत जैसे देश में बड़ी जिम्मेदारी नहीं लेनी चाहिए। सीएम के ट्वीट पर एक यूजर ने कमेंट कर लिखा कि वही तो हम भी कह रहे है, तुम्हारा कर्तव्य था पीएम को सुरक्षा देना पर तुमने अपने मालिको से अपनी जान की फिक्र थी, तुम्हे जब मालिको से इतना डर लगता है तो तुम्हे cm नहीं बनना चाहिए था। बहुत सारे दरबारी थे, तुम्ही एक बन सकते थे, क्यों cm बन कर पद की मर्यादा को भी तार तार किया।

Back to top button