पंचांग पुराण

शुक्र राशि की बदली चाल, इन राशि वालों पर होगी रुपयों की बारिश

भौतिक सुख, शुक्र का गोचर 2022 शुक्र राशि परिवर्तन (शुक्र पारगमन) 2022 शुक्र ने अपनी राशि बदल दी है। मंगलवार यानि आज 4 जनवरी को शुक्र राशि परिवर्तन कर धनु राशि में प्रवेश किया है।

नई दिल्ली। भौतिक सुख, शुक्र का गोचर 2022 शुक्र राशि परिवर्तन (शुक्र पारगमन) 2022 शुक्र ने अपनी राशि बदल दी है। मंगलवार यानि आज 4 जनवरी को शुक्र राशि परिवर्तन कर धनु राशि में प्रवेश किया है। ज्योतिषी के अनुसार मेष, कर्क और तुला राशि वाले जातकों के जीवन में बड़ा बदलाव ला सकते हैं। फिर भी वृश्चिक राशि में चल रहा था।

आप भी जानिए शुक्र का स्वभाव –

शुक्र को सांसारिक सुखों का कारक माना गया है। वृष और तुला इनके स्वर हैं। यदि किसी जातक की कुंडली में शुक्र इसी स्व में स्थित हो तो व्यक्ति को सफलता प्राप्त होती है। मीन राशि इस ग्रह की सर्वोच्च राशि है और कन्या सबसे नीच राशि है। साल की शुरुआत में 4 जनवरी 2022 को होने वाली ये घटना 4 राशियों के लोगों में फर्क करने वाली है.वैदिक ज्योतिष में शुक्र ग्रह का विशेष महत्व है। शुक्र ग्रह को भौतिक, शारीरिक और वैवाहिक सुखों का कारक माना जाता है। बुध और शनि, शुक्र ग्रह के मित्र ग्रह हैं। जबकि शुक्र के सूर्य और चंद्रमा शत्रु ग्रह हैं। शुक्र एक राशि से दूसरी राशि में गोचर 23 दिन में करता है। शुक्र ग्रह की स्थिति जन्मकुंडली में शुभ व उच्च होने की होने पर जातक को किसी भी चीज की कमी नहीं रहती है। शुक्र के शुभ प्रभाव से मां लक्ष्मी का आशीर्वाद भी प्राप्त होता है

मेष राशि-
मेष राशि वालों के लिए शुक्र की उपस्थिति अचानक धन लाभ ला सकती है। ज्योतिषियों के अनुसार इस राशि के लोगों को नौकरी के साथ-साथ व्यापार में सफलता के साथ-साथ लाभ की भी उम्मीद है। अगर आप गोचर के दौरान कहीं निवेश करते हैं तो आपको अच्छा रिटर्न मिल सकता है। आपके हाथ में कोई बड़ा प्रोजेक्ट आ सकता है।मेष राशिफल चक्र की सबसे पहली राशि है. इस राशि के लोग जोशीले होते हैं. उनमें दूसरों को माफ करने की प्रवृत्ति भी होती है. मेष राशि के लोगों के लिए भाग्यशाली संख्या 9, 18, 27, 36, 45, 54, 63 और 72 माना जाता है.

वृष राशि –
वृष राशि वालों के लिए भी शुक्र का दिखना शुभ साबित होगा। अगर आप नौकरी की तलाश में हैं तो यह समय आपकी मनोकामना पूरी करेगा। इसके लिए प्रबल संभावनाएं हैं। इतना ही नहीं इस दौरान आपकी आर्थिक स्थिति में भी सुधार हो सकता है। इस दौरान बने नए दोस्त और रिश्ते भविष्य में आपके लिए फायदेमंद हो सकते हैं।वृषभ राशि का स्वामी शुक्र होता है और शुक्र ग्रह दाम्पत्य जीवन, पार्टनर, वैभव आदि का कारक होता है। इसलिए वृष राशि के जातकों के लिए कला, विलासिता की वस्तुएं, पेंटिंग, गायक, नृत्य, संगीत, सिनेमा, अभिनय, फैशन आदि क्षेत्र अनुकूल होते हैं। वृषभ राशि के लिए कृषि, धातु, होटल आदि से संबंधित व्यवसाय शुभ होता है।

कर्क राशि – कर्क राशि के जातकों के लिए शुक्र का दिखना बहुत शुभ रहेगा। इस दौरान आपको कई माध्यमों से धन लाभ होते हुए दिखाई दे रहे हैं। इतना ही नहीं इस दौरान आप अपने हुनर का भी भरपूर प्रदर्शन कर पाएंगे। जीवनसाथी का सहयोग और सहयोग दोनों मिलेगा।शुक्र एक राशि में लगभग 23 दिनों तक स्थित रहते हैं। इसके बाद फिर राशि परिवर्तन करते हैं। ज्योतिष शास्त्र में शुक्र ग्रह को भोग, विलास और सुख-सुविधाओं का कारक माना गया है। शुक्र का राशि परिवर्तन ज्योतिष शास्त्र में विशेष महत्व रखता है। शुक्र के शुभ होने पर जहां व्यक्ति को सभी तरह के सुखों की प्राप्ति होती है, वहीं शुक्र के अशुभ होने पर व्यक्ति का जीवन पर बुरा प्रभाव डालता है। यदि किसी जातक की कुंडली में शुक्र ग्रह की स्थिति मजबूत हो तो ऐसे जातक अपने जीवन में समस्त प्रकार के भौतिक सुखों का आनंद प्राप्त करते हैं।

तुला राशि –
तुला राशि के लोग अपने क्षेत्र में आगे बढ़ेंगे। आपने अब तक जितने भी काम रुके हैं, उनमें गति आने लगेगी। व्यापार क्षेत्र से जुड़े लोगों को भी लाभ हो सकता है। करियर में अच्छी तरक्की हासिल करें। अगर आप लंबे समय से किसी बीमारी से पीड़ित हैं तो इससे निजात मिल सकती है। अगर आप इस दौरान किसी चीज में निवेश करते हैं तो इससे आपको लंबे समय में फायदा हो सकता है।ज्योतिष शास्त्र में वृष और तुला राशि के स्वामी शुक्र को भोग, विलास और सुख-सुविधाओं आदि का कारक ग्रह माना गया है। … शुक्र के शुभ होने पर व्यक्ति को भौतिक सुख-सुविधाओं की प्राप्ति होती और जीवन के कष्ट दूर होते हैं। वहीं शुक्र के अशुभ प्रभाव होने पर जीवन में उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ सकता है।

Back to top button