राजनीति

शिवराज जी 3 लाख करोड़ का क़र्ज़ा घी पीने के लिये है ? शहर व गांव में बिजली ट्रिपिंग के चलते नहीं सूख पा रहा पसीना

जिसे देखते हुए कांग्रेस ने सरकार उनके विरोधी इसे 'उधार लेकर घी पीने' की संज्ञा दे रहे हैं. साथ ही लिखा कीशिवराज जी, 3 लाख करोड़ का क़र्ज़ा घी पीने के लिये है ?

व्यापमं घोटाले को लेकर विवादों में रहे मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह जल्द ही सत्ता में अपने सबसे लम्बे समय तक मुख्यमंत्री बनने का जश्न मनाया हैं.इधर गर्मी में बिजली जोर का झटका दे रही है। शहर से लेकर ग्रामीण इलाके तक ट्रिपिंग के चलते लोगों का पसीना तक नहीं सूख पा रहा है। लोकल फाल्ट बढ़ने से बिजली आपूर्ति ठीक से चल नहीं पा रही है। जिसे देखते हुए कांग्रेस ने सरकार उनके विरोधी इसे ‘उधार लेकर घी पीने’ की संज्ञा दे रहे हैं. साथ ही लिखा की शिवराज जी, 3 लाख करोड़ का क़र्ज़ा घी पीने के लिये है ?

उधार लेने का इशारा 3 लाख करोड़ रुपए के कर्ज़ की तरफ़ है जो राज्य सरकार ने अब तक लिया है.सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी का कहना है कि सरकार को अपनी उपलब्धियां जनता तक पहुंचाने का पूरा हक़ है और किसी भी अर्थव्यवस्था के लिए कर्ज़ लेना नई बात नहीं है. वही पिछले दिनों राज्य के आला अफ़सरों से वीडियो कॉन्फ्रेंस में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सत्ता में अपने कार्यकाल के जश्न को नाम दिया- “दस साल-बेमिसाल.”

मध्य प्रदेश कांग्रेस ने ट्वीट कर लिखा कि प्रदेश में बिजली संकट से हाहाकार,ग्रामीण क्षेत्रों में 8-8 घंटे की बिजली कटौती।शिवराज जी,3 लाख करोड़ का क़र्ज़ा घी पीने के लिये है?हर तरफ़ मची है चीख पुकार,जल्दी हटाओ बीजेपी सरकार।

Back to top button