राजनीति

CM शिवराज सरकार का बड़ा फैसला, 12 जिलों को होगा लाभ, यह है पूरा कार्यक्रम

सीएम शिवराज सिंह चौहान एक के बाद एक जनहित के मुद्दों पर बड़ा फैसला ले रहे हैं अब वह Pavitra Betwa nadi के तट पर शाम को दीपोत्सव में एक साथ पांच लाख दीपक जलाए जाएंगे।

Bhopal, Vindhya news report । 10 अप्रैल 2022 श्री रामनवमी को लेकर मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार (एमपी शिवराज सरकार) खूब तैयारी कर रही है। रविवार को सीएम शिवराज सिंह चौहान “श्री राम राज्य” आर्ट गैलरी का अनावरण करेंगे। इस मौके पर श्रीराम जन्मोत्सव प्रदेश के 12 स्थानों ओरछा, चित्रकूट, उज्जैन, उमरिया, शहडोल, विदिशा, राजगढ़, शिवपुरी, नीमच, रतलाम, छिन्दवाड़ा और पन्ना में ”श्रीराम जन्मोत्सव” का भव्य आयोजन किया जा रहा है। लेकिन दीपोत्सव में एक साथ 5 लाख दीपक जलाए जाएंगे।

श्री रामनवमी (मुख्यमंत्री श्री रामनवमी) के शुभ अवसर पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान 10 अप्रैल, 2022 को श्री राम राजा सरकार मंदिर परिसर ओरछा में “श्री राम राज्य” आर्ट गैलरी का उद्घाटन करेंगे। इस अवसर पर पवित्र बेतवा नदी के तट पर शाम को दीपोत्सव में एक साथ पांच लाख दीप जलाकर भगवान श्रीराम में आस्था प्रकट की जाएगी. इस अवसर पर संस्कृति, पर्यटन एवं धार्मिक न्यास एवं धार्मिक मामलों की मंत्री सुश्री उषा ठाकुर भी मौजूद रहेंगी।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि श्री रामनवमी का पर्व पूरे प्रदेश में हर्षोल्लास और श्रद्धा के साथ मनाया जाएगा. राज्य के 12 स्थानों पर भव्य रूप से “श्री राम जन्मोत्सव” का आयोजन किया जा रहा है।श्री राम राजा राजकीय मंदिर परिसर ओरछा में संस्कृति विभाग द्वारा भगवान श्री राम के चरित्र पर आधारित “श्री राम राज्य” आर्ट गैलरी तैयार की गई है। यह भारत के लगभग सभी राज्यों की लोकगीत शैलियों में भगवान श्रीराम के एक चरित्र को दर्शाता है। भगवान श्रीराम के 36 गुणों और उनकी विशिष्टता को सचित्र अभिव्यक्ति दी गई है। वहीं उनके राज्याभिषेक को झाँकी के रूप में कलात्मक ढंग से प्रदर्शित किया गया है। भगवान श्रीराम पूरे देश में केवल ओरछा में एक राजा के रूप में पूजनीय हैं।

यह होगा कार्यक्रम

श्री रामनवमी के अवसर पर 10 अप्रैल 2022 को शाम 7 बजे से “श्री राम जन्मोत्सव” मनाया जाएगा।

नृत्य, नृत्य नाटिका और संगीत के माध्यम से भगवान श्रीराम की महिमा का प्रदर्शन किया जाएगा।

रामायण के विभिन्न विषयों पर प्रस्तुतियों के साथ भजन संध्या भी होगी।

पवित्र बेतवा नदी के तट पर शाम को दीपोत्सव में एक साथ पांच लाख दीपक जलाए जाएंगे।

कार्यक्रम एमपी– ओरछा, चित्रकूट, उज्जैन, उमरिया, शहडोल, विदिशा, राजगढ़, शिवपुरी, नीमच, रतलाम, छिंदवाड़ा और पन्ना के 12 स्थानों पर होगा.

Back to top button