राजनीति

gamechanger की भूमिका निभाएगा ब्राह्मण और मुस्लिम , कार्यकर्ताओं को मनाने पूर्व मंत्री के छूटे पसीने

Brahmins and Muslims will play the role of gamechanger, the former minister's sweat to persuade the workers

Brahmins and Muslims will play the role of gamechanger, : सिंगरौली 27 जून -नगरी निकाय चुनाव अब पूरे शबाब पर है ऐसे में हर सियासी दल वोटरों को लुभाने में जुटा हुआ है लेकिन सिंगरौली का एक तबका ऐसा भी है जो साइलेंट रहकर पूरी भाजी को पलटने का माद्दा रखता है हम बात कर रहे हैं,सिंगरौली के ब्राह्मण व मुस्लिम वोटर की बात करे तो यहां का ब्राह्मण व मुस्लिम वोटर इस बार साइलेंट होकर वोट करेगा है. और इस बार अनारक्षित सीट पर ब्राह्मण को टिकट न देकर भाजपा कांग्रेस दोनों ने अपने खिलाफ कर लिया है. जबकि मुस्लिमों का कहना है कि कांग्रेस उन्हें अपनी बपौती मानती है लेकिन इस बार ऐसा नहीं है(.gamechanger). 

बता दे कि भाजपा के नाराज कार्यकर्ताओं को मनाने के लिए रीवा विधायक एवं पूर्व मंत्री राजेंद्र शुक्ला ने मोर्चा संभाल लिया है । आज रविवार को पूर्व मंत्री ने सिंगरौली क्षेत्र के कई बार वार्डों में डोर टू डोर जनसंपर्क कर भाजपा के मेयर व वार्ड पार्षद प्रत्याशियों को जिताने के लिए आशीर्वाद मांगा जरूर लेकिन वह भी ब्राह्मणों को साधने में मंत्री जी को पसीने छूट रहे हैं सोशल मीडिया पर पूर्व मंत्री राजेंद्र शुक्ला का भी खूब विरोध हो रहा है. तो वही दूसरी तरफ मुस्लिम समाज खुद को उपेक्षित महसूस कर रहा है जिसके चलते वह प्रमुख दलों का खेल बिगाड़ने पर आमादा है(.gamechanger)..

gamechanger की भूमिका निभाएगा ब्राह्मण और मुस्लिम , कार्यकर्ताओं को मनाने पूर्व मंत्री के छूटे पसीने
photo by google

भाजपा से अगड़ी जाति नाराज

दरअसल नगर पालिक निगम सिंगरौली में मेयर टिकट न मिलने से कई अगड़ी जाति के लोग नाराज चल रहे हैं । उन्हें मनाने के लिए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा ने स्वयं सिंगरौली प्रवास के दौरान नाइट हाल्ट कर अगड़ी जाति के भाजपा से जुड़े पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं को मनाने का प्रयास किया .(.gamechanger).
लेकिन विशेष सफलता नहीं मिली। फिर भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष को भी जवाबदेही सौंपी गई फिर भी उसका कोई असर नहीं पड़ा बल्कि दबी जुबान में कई भाजपाई कहने लगे कि जो जितना विरोध करता है उसे अच्छे ओहदे पर आसीन करा दिया जाता है.(.gamechanger). .

भड़ास निकाल कर चुनाव प्रचार में लगे

चर्चाओं के मुताबिक धीरे-धीरे कार्यकर्ता अपनी भड़ास निकाल कर प्रचार -प्रसार कार्य में जुट जाने के लिए वादा करने लगे और आज भारी संख्या में अगड़ी जाति के लोग भी प्रचार- प्रसार में उतर आए हैं ,अब देखना है कि पूर्व मंत्री का यह प्रयास कितना सफल होता है  यह तो आगामी 6 जुलाई को आने वाले चुनाव में पता चल जाएगा (.gamechanger)..
उधर आप में भी खींचातानी चल रही है ,जिला संगठन के कई पदाधिकारी इन दिनों प्रचार -प्रसार से दूरी बना रखा है,जिस बात को लेकर इन दिनों गली चौराहों में तरह-तरह की बातें चल रही है.(.gamechanger).
gamechanger की भूमिका निभाएगा ब्राह्मण और मुस्लिम , कार्यकर्ताओं को मनाने पूर्व मंत्री के छूटे पसीने
photo by google

भाजपा कांग्रेस से ब्राह्मण और मुस्लिम नाराज ?

भाजपा कांग्रेस के वरिष्ठ ब्राह्मणों ने जिस तरह से साइलेंट हुए हैं ऐसा माना जा रहा है कि वह बिना कुछ कहे ही सब कुछ कर चुके हैं । माना जा रहा है कि इस बार ब्राह्मण व मुस्लिम तबका अपनी उपेक्षा के चलते साइलेंट रहकर किसी तीसरे विकल्प की तलाश में हैं वह इस बार दोनों प्रमुख पार्टियों को आईना दिखाने के लिए मन बना रहे हैं हालांकि देखना होगा कि आने वाले समय में ऊंट किस करवट बैठता है.(.gamechanger).

gamechanger की भूमिका निभाएगा ब्राह्मण और मुस्लिम , कार्यकर्ताओं को मनाने पूर्व मंत्री के छूटे पसीने
photo by google

 

Back to top button

Adblock Detected

please dezctivate Adblocker