खेल

Sachin Tendulkar की वजह से Yuvraj Singh को मिली थी सजा,1 नंबर के खिलाडी टीम इंडियन से हो गये था बाहर

Yuvraj Singh was punished because of Sachin Tendulkar, the number 1 player was out of Team Indian

भारतीय टीम में BCCI व ग्रेग चैपल का विवाद गहरा गया था । इस समय टीम व Sachin Tendulkar को काफी नुकसान हुआ है। ग्रेग चैपल टीम के कोच थे और लगातार उन चीजों के साथ प्रयोग करते थे जिनका टीम के खिलाड़ियों पर बुरा असर पड़ता था। उस समय सचिन Sachin Tendulkar और सहवाग Sehwag ने टीम की शुरुआत की थी लेकिन ग्रेग चैपल ने सचिन को पहले फील्डिंग करने का फैसला किया।

 

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट के इतिहास में युवराज सिंह Yuvraj Singh  का नाम हमेशा से आता रहा है. कभी टीम इंडिया की रीढ़ रहे युवराज सिंह Yuvraj Singh ने भारत को दो विश्व कप जीत में अहम भूमिका निभाई थी। 2011 वर्ल्ड कप के दौरान युवराज कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी से जूझ रहे थे, लेकिन फिर भी उन्होंने मैदान पर हिम्मत नहीं हारी और भारत को दूसरी बार वर्ल्ड कप जीतने में पूरा सहयोग दिया.

बता दे की युवराज सिंह  Yuvraj Singh टीम में पांचवें नंबर पर खेलने आते थे और गेंदबाज की हालत कुछ देर क्रीज पर होती तो बेहतर नहीं होती। युवराज सिंह  Yuvraj Singh ने एक स्पोर्ट्स चैनल से बात करते हुए चौंकाने वाला बयान दिया। जिसके बाद क्रिकेट के भगवान कहे जाने बाले Sachin Tendulkar भी उनके मुरीद हैं.

Sachin Tendulkar की वजह से Yuvraj Singh टीम इंडियन से हुए थे बाहर
photo by google

सचिन तेंदुलकर Sachin Tendulkar और युवराज सिंह Yuvraj Singh

युवराज सिंह और सचिन तेंदुलकर Sachin Tendulkar के बीच प्रेम संबंध कोई रहस्य नहीं है। जब भारतीय क्रिकेट टीम ने वर्ल्ड कप जीता तो युवराज सिंह ने सचिन तेंदुलकर को गले लगाया और रो पड़े। तेंदुलकर का सपना विश्व कप विजेता टीम का सदस्य बनना था। युवराज सिंह ने यह भी कहा कि वह सचिन के सपने को पूरा करना चाहते हैं। अब युवा पेजर ग्रेग चैपल विवाद के बारे में बात करते हुए कह रहे हैं कि सचिन तेंदुलकर के समर्थन के कारण उन्हें कभी कप्तानी नहीं मिली।

Read also -Malaika Arora ने पहनी आर-पार दिखने वाले कपड़े, अंडर गारमेंट देख फ़ैस हुए बेकाबू ,देखें वीडियो

ग्रेग चैपल विवाद का टीम पर गहरा असर पड़ा

भारतीय टीम में ग्रेग चैपल का विवाद गहरा गया। इस समय टीम को काफी नुकसान हुआ है। ग्रेग चैपल टीम के कोच थे और लगातार उन चीजों के साथ प्रयोग करते थे जिनका टीम के खिलाड़ियों पर बुरा असर पड़ता था। उस समय सचिन और सहवाग ने टीम की शुरुआत की थी लेकिन ग्रेग चैपल ने सचिन Sachin Tendulkar को पहले फील्डिंग करने का फैसला किया। इससे उनके खेल पर असर पड़ता है।

अब विवाद के बारे में बात करते हुए युवराज ने एक स्पोर्ट्स चैनल पर पूर्व भारतीय क्रिकेटर संजय मांजरेकर से बात करते हुए कहा कि उन्हें कप्तानी नहीं मिल सकी क्योंकि उन्होंने ग्रेग चैपल विवाद में सचिन तेंदुलकर Sachin Tendulkar का समर्थन किया था.

Sachin Tendulkar की वजह से Yuvraj Singh को मिली थी सजा,टीम इंडियन से हो गये थे बाहर
photo by google

कप्तानी नहीं मिली, सह कप्तानी चली गई – युवराज

युवराज सिंह ने खुलासा किया है कि बीसीसीआई अधिकारियों ने सचिन तेंदुलकर Sachin Tendulkar का समर्थन करने के फैसले को पचा नहीं पाया। उन्होंने स्वीकार किया कि निर्णय के कारण उन्हें सह-कप्तान की भूमिका से हटा दिया गया था।

युवराज सिंह ने कहा: “वीरेंद्र सहवाग जैसे वरिष्ठ खिलाड़ी 2007 के इंग्लैंड दौरे के लिए टीम में नहीं थे। उस समय मैं वनडे टीम का सह-कप्तान था और राहुल द्रविड़ कप्तान थे। वनडे टीम का सह-कप्तान होने के नाते मैंने सोचा था कि मैं कप्तान बनूंगा, लेकिन अचानक मुझे सह-कप्तान से हटा दिया गया। महेंद्र सिंह धोनी को 2007 के  20-20 विश्व कप में अचानक कप्तान बनाया गया था।

Back to top button