खनिज अधिकारी के संरक्षण में चल रहा है जिले का अवैध रेत उत्खनन व परिवहन,  - विंध्य न्यूज़

पट्टा क्षेत्र के बाहर कर रहे रेत का अवैध उत्खनन व परिवहन,गोतरा में हो रहा अवैध उत्खनन,

सीधी –  जिला स्थित डोल रेत खदान में दिनांक 15 जून की सुबह प्रशासन एवं वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन में थाना प्रभारी बहरी द्वारा अवैध उत्खनन एवं पट्टा क्षेत्र से हटकर संविदा कार द्वारा रोड निर्माण कर पट्टा क्षेत्र के बाहर अवैध रेत उत्खनन किए जाने पर छापे मार कार्यवाही में चार हाईवा व दो पोकलेन मशीन जप्त की गई परंतु हम आपको यहां बता दें कि प्रशासन एवं जिला खनिज अधिकारी संविदाकार पर मेहरबान होने से ठेकेदार पर कार्यवाही करने से खुद को बचा रहेे हैं कार्रवाई ना होने से एक तरफ मध्यप्रदेश शासन एवं जल जीव का व्यापक स्तर पर नुकसान हो रहा है वहीं दूसरी तरफ  विधि अनुसार कार्यवाही नहीं होने से अवैध रेत का उत्खनन रुकने का नाम नहीं ले रहा है।     


पट्टा क्षेत्र से बाहर किया जा रहा उत्खनन
बताया जा रहा है कि खनिज अधिकारी महक कुछ महीनों में ही रिटायरमेंट होने वाले हैं शायद यही वजह है कि उन्होंने कम समय में ज्यादा से ज्यादा पैसा कमाने का भूत सवार हो गया है यही वजह है कि डोल रेत खदान में लगातार नियम विरुद्ध रेत का अवैध उत्खनन व परिवहन किया जा रहा है। डोल रेत खदान में थाना प्रभारी ने जांच में यह पाया गया कि संविदाकार द्वारा पट्टा क्षेत्र से बाहर सोन घड़ियाल अभ्यारण एवं वन विभाग की जमीन में अवैध रूप से रोड का निर्माण कर रेत उत्खनन हेतु मार्ग का निर्माण कराया गया एवं पट्टा क्षेत्र से बाहर जाकर रेत का उत्खनन किया जा रहा था और थाना प्रभारी द्वारा उक्त तथ्यों की प्रारंभिक जांच कर अवैध रूप से लिप्त वाहनों को जप्त कर प्रशासन को एवं प्रशासन के निर्देश पर जिला खनिज अधिकारी को मामले में जांच करने के लिए कार्यवाही सौंप दी गई।

रेत माफियाओं पर कार्रवाई करने से कतरा रहे हैं खनिज अधिकारी

जिला के खनिज अधिकारी रहमान साहब द्वारा संविदा कार पर इतना मेहरबान है की खान एवं खनिज अधिनियम वर्णित प्रावधानों को अनदेखा करनियम विरुद्ध तरीके से रेत का अवैध उत्खनन व परिवहन करा रहे ठेकेदार के विरुद्ध नियमानुसार कार्यवाही करने से बचाने के फिराक में हैं. सूत्रों की मानें तो गोतरा रेत खदान में लगातार रेत का अवैध उत्खनन और परिवहन किया जा रहा है इसकी जानकारी खनिज अधिकारी को बखूबी है बावजूद इसके रेत माफियाओं पर कोई कार्यवाही नहीं कर रहे हैं.

खनिज अधिकारी पूरे मामले में लीपापोती करने में लगे

अवैध रेत का उत्खनन संविदा में वर्णित पट्टा क्षेत्र के बाहर रेत का अवैध उत्खनन किया जा रहा था और पट्टा क्षेत्र से बाहर मार्ग का निर्माण किया गया था. जिससे यह स्पष्ट होता है कि पट्टा क्षेत्र से बाहर जहां अवैध रेत का उत्खनन किया जा रहा था.  सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सोन घड़ियाल अभ्यारण क्षेत्र एवं वन विभाग की भूमि के अंतर्गत अवैध उत्खनन हो रहा था जिससे प्रथम दृष्टया यह प्रमाणित होने से जिला खनिज अधिकारी को उपरोक्त मामले में जांच के लिए सोन घड़ियाल अभ्यारण क्षेत्र एवं वन अधिनियम के अनुसार वन विभाग को भी उपरोक्त मामले में जांच के लिए एवं कार्यवाही के लिए मामले को सौंपा जाना चाहिए परंतु जिला खनिज अधिकारी संविदा कार को अवैध रूप से लाभ पहुंचाने एवं विधि अनुसार कार्यवाही उसे बचाने के लिए स्वत: इस मामले को संज्ञान में लेकर मामले की लीपापोती में लगे हुए हैं.


गोतरा में हो रहा रेत का अवैध उत्खनन
विश्वस्त सूत्रों की माने तो गोतरा क्षेत्र में पहले भी रेत माफियाओं के खिलाफ कार्यवाही करने गए तहसीलदार और एसडीएम पर रेत माफियाओं ने हमला कर चुके हैं। लेकिन कार्यवाही करने के बाद अधिकारियों दूसरी बार वह गोतरा रेत खदान में कार्यवाही के लिए नहीं गए। बताया तो यहां तक जा रहा है कि खनिज अधिकारियों की सांठगांठ की वजह से लगातार गोतरा रेत खदान से रेत का अवैध उत्खनन व परिवहन किया जा रहा है
खनिज अधिकारी ने नहीं दिया अपना पक्ष
इस मामले में जिला खनिज अधिकारी से वर्जन के लिए मेरे द्वारा जिला खनिज अधिकारी के मोबाइल नंबर पर लगातार संपर्क किया गया परंतु जिला खनिज अधिकारी का कोई रिस्पांस न मिलने से उनसे बात नहीं हो पाई। प्रशासन की उपरोक्त लचीलापन कार्यवाही एवं रवैया के कारण सीधी जिला में लगातार अवैध रेत का उत्खनन लगातार जारी है. इस मामले में यह भी बताया जा रहा है कि खनिज अधिकारी सीधी जिले के चिन्हित पत्रकारों को खदानों में भेजकर खदान के संचालकों से उपकृत करवा रहे हैं.

2 thoughts on “खनिज अधिकारी के संरक्षण में चल रहा है जिले का अवैध रेत उत्खनन व परिवहन, 

  1. I have learn some good stuff here. Certainly price bookmarking for revisiting. I surprise how much attempt you set to create this kind of wonderful informative web site.

Comments are closed.