चाय बेचने वाले की बेटी श्रम निरीक्षक अब उड़ाएगी फाइटर प्लेन,खबर देखें, - विंध्य न्यूज़


नीमच । कहते हैं यदि आप मन में कुछ करने की चाह हो और कड़ी मेहनत का इरादा हो तो हर मुश्किल काम आसान हो जाता है. इसे ही सच साबित किया है एक चाय बेचने वाले की बेटी ने. अपनी कड़ी मेहनत की बदौलत उसने अपने मुकाम को पा लिया. कुछ ऐसा ही कर दिखाया नीमच जिले के 26 वर्षीय बेटी आंचल गंगवाल ने, जहां श्रम निरीक्षक कड़ी मेहनत कर वायुसेना में फाइटर जेट पायलट बन गई है। शनिवार को हैदराबाद में आयोजित दीक्षांत समारोह में उनका सम्मान हुआ। उनके सहित अन्य प्रशिक्षणार्थियों को वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने देश सेवा के लिए समर्पित किया।

बताया जा रहा है कि एक पिता चाय बेचकर अपनी बेटी के सपनों को उड़ान दी।गंगवाल परिवार मूल रूप से जिले के जावद विकासखंड के गांव तारापुर-उम्मेदपुरा का रहने वाला है।शहर के सुरेश गंगवाल की बेटी आंचल एयर फोर्स कॉमन एडमिशन टेस्ट में 2018 में सफलता के बाद फाइटर जेट पायलट के प्रशिक्षण के लिए हैदराबाद गई थीं। चाय वाले की बेटी आंचल के पिता सुरेश गंगवाल की नीमच सिटी रोड पर रोडवेज बस स्टैंड पर चाय की गुमटी है ।गंगवाल चाय बेचकर बेटी आंचल के सपनों को उड़ान दी। आंचल के परिवार में पिता सुरेश गंगवाल, मां बबिता, भाई चंद्रेश (इंदौर में इलेक्ट्रिकल इंजीनियर) व बहन दिव्यानी (वॉलीबॉल खिलाड़ी) हैं। 

आंचल ने हर मुकाम पर सफलता की हासिल
आंचल का परिवार मुफलिसी के विभिन्न देखे हैं बावजूद इसके आंचल अप्रैल 2017 पुलिस विभाग में उप निरीक्षक के रूप में चयनित हुईं। इस पद से अगस्त 2017 में त्यागपत्र दे दिया।वही अगस्त 2017 आंचल का चयन श्रम निरीक्षक के रूप में हुआ। वह मंदसौर में बतौर श्रम निरीक्षक के पद पर पदस्थ रहीं। जून 2018 से जून 2020 तक एयर फोर्स कॉमन एडमिशन टेस्ट में सफलता। मप्र से एकमात्र युवती चुनी गई। 30 जून 2018 से हैदराबाद एयर फोर्स एकेडमी पर प्रशिक्षण की शुरुआत हुई। 20 जून 2020 को प्रशिक्षण के बाद दीक्षांत परेड हुई।

वायु सेना का राहत बचाव कर देख मिली प्रेरणा
आंचल को वायुसेना में जाने की प्रेरणा 2013 में उत्तराखंड बाढ़ पीड़ितों राहत बचाव कार्य देख एक घटना से मिली। आंचल ने बताया कि 2013 में उत्तराखंड में बाढ़ आई थी। इस दौरान भारतीय वायु सेना ने बचाव अभियान को बखूबी अंजाम दिया। इस कार्य आंचल ने टीवी पर देखकर ही उन्हें वायु सेना में जाने की प्रेरणा मिली।

2 thoughts on “चाय बेचने वाले की बेटी श्रम निरीक्षक अब उड़ाएगी फाइटर प्लेन,खबर देखें,

  1. I was suggested this website by my cousin. I’m not sure whether this post is written by him as nobody else know such detailed about my problem. You’re incredible! Thanks!

  2. When I originally commented I clicked the -Notify me when new comments are added- checkbox and now each time a comment is added I get four emails with the same comment. Is there any way you can remove me from that service? Thanks!

Comments are closed.