नमस्ते ओरछा" महोत्सव का शुभारंभ करेंगे - मुख्यमंत्री - विंध्य न्यूज़

मुख्यमंत्री कमल नाथ 6 मार्च को सुप्रसिद्ध धार्मिक पर्यटन ओरछा (जिला निवाड़ी) में ‘नमस्ते ओरछा’ महोत्सव का शुभारंभ करेंगे। प्रमुख सचिव पर्यटनफैज अहमद किदवई ने महोत्सव की तैयारियों की समीक्षा बैठक में यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इस 3 दिवसीय महोत्सव में ओरछा के प्राकृतिक सौन्दर्य, पुरातात्विक एवं ऐतिहासिक महत्व, स्थानीय खान-पान और लोक कलाओं को प्रोत्साहित किया जाएगा।

प्रमुख सचिव किदवई ने बताया कि ओरछा की धार्मिक एवं सांस्कृतिक विरासत तथा ऐतिहासिक और पुरातात्विक धरोहर को राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने के लिये महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि महोत्सव में फूड एण्ड क्राफ्ट बाजार का आयोजन किया जाएगा, जिसमें प्रदेश और देश के मशहूर व्यंजन बनाने वाले शेफ भाग लेंगे। किदवई ने महोत्सव के दौरान सभी गतिविधियों के बेहतर संचालन के लिये वरिष्ठ अधिकारियों को तैनात करने के निर्देश दिए।
समीक्षा बैठक में बताया गया कि महोत्सव के लिये ओरछा में 2 हैलिपेड़ बनाए गए हैं। पर्यटकों की सुविधा के लिये समस्त जानकारियों को समावेशित कर पंपलेट तैयार कर ओरछा नगर के सभी हॉटेल्स में रखवाए जाएंगे। पर्यटकों की सुविधा के लिये महोत्सव के दौरान ओरछा में ई-रिक्शा चलाये जाएंगे। जानकारी दी गई कि महोत्सव में आने वाले पर्यटकों को गाईड करने के लिये पर्यटन विभाग के गाइड्स के साथ-साथ नेशनल केडिट कोर (NCC) और राष्ट्रीय सेवा योजना (NSS) के छात्र-छात्राओं को ट्रेनिंग दी जा रही है। बताया गया कि ओरछा में टूरिज्म पुलिस चौकी बनाई जा रही है और दिल्ली से झांसी तक चलने वाली गतिमान ट्रेन में ‘नमस्ते ओरछा’ महोत्सव की ब्रांडिग की जा रही है।
कंचना घाट पर सांस्कृतिक कार्यक्रम
समीक्षा बैठक में बताया गया कि महोत्सव के दौरान प्रतिदिन बेतवा नदी के कंचना घाट के तट पर महा-आरती होगी। इसके बाद निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार नृत्य-नाटिका और संगीत के अन्य कार्यक्रम भी होंगे।
ओरछा में 7 मार्च को बिजनेस मीट
प्रमुख सचिव किदवई ने बताया कि मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ 7 मार्च को ओरछा में बिजनेस मीट को संबोधित करेंगे। प्रदेश में निवेश के इच्छुक उद्योगपति और बुंदेलखण्ड के ट्रेवल्स-टूर ऑपरेटर्स बिजनेस मीट में शामिल होंगे। इस मौके पर बुंदेलखंड में निवेश और पर्यटन को बढ़ावा देने के बारे में विचार विमर्श होगा।