पुलिस की सख्त चौकसी,फिर भी नहीं रुक रहा गांजा का कारोबार - विंध्य न्यूज़


सीधी. लाक डाउन में पुलिस की सख्ती और चौकसी के बावजूद जिले में गांजा का अवैध कारोबार थम नहीं रहा। राजस्थान, उड़ीसा और अन्य जगहों से जिले में अवैध नशीले पदार्थों की सप्लाई जारी है। पुलिस ने कई मामले पकड़े और कई मामलों में आरोपियों को सजा भी सुनाई गई है। इसके बावजूद न तो जिले में अवैध मादक पदार्थों की आवक रुक रही है और न ही इसका सेवन करने वालों पर लगाम लग रही है। जिससे एक ओर जहां युवा पीढ़ी गांजा की गिरफ्त में आती जा रही है वहीं लोगों के घर भी तबाह हो रहे हैं।नशीले पदार्थों की अवैध बिक्री कोतवाली पुलिस पर कई सवाल खड़े कर रहा है।


तेजी से फल-फूल रहा धंधा
जिले में गांजा तस्करी का काला धंधा तेजी से फलफूल रहा है। रोजाना करीब एक से दो क्विंटल गांजे की आमद जिले में हो रही है। उड़ीसा के मलखान गिरी और नेपाल से करीब दो हजार 22 सौ रुपये किलो में गांजा लाकर इसे पांच से आठ हजार रुपये में बेचा जा रहा है। मोटा मुनाफा होने से लोग गांजे की तस्करी में लगे हैं। 

यहां बिक रहा गांजा
जिले के कई क्षेत्रों में गांजे की गुड़िया बनाकर बिक्री हो रही है। शहर के कोटहा एस के टेन्ट हाउस के बगल में,उची हवेली,आजाद नगर,कृषि विज्ञान केंद्र के बगल के अलावा कुछ और इलाकों में इनकी कुछ लोग खुलआम बिक्री कर रहे हैं। इलाकाई लोग भी इनसे तंग है। कुछ लोगों का तो कहना है कि पुलिस को जानकारी के बाद भी कार्रवाई नहीं होती।