uncategorized

पूर्व मंत्री कमलेश्वर पटेल मृतकों को 50-50 लाख रुपए की आर्थिक सहायता राशि देनें व घटना की निष्पक्ष न्यायिक जांच की मांग

सीधी– घटना की सूचना मिलते ही विधायक एवं पूर्व मंत्री कमलेश्वर पटेल घटनास्थल पर पहुंचे। समाचार लिखे जाने तक श्री पटेल अपने साथियों के साथ रामपुर नैकिन शव गृह में ही रहकर सभी शवों को उनके घरों तक पहुंचाने में प्रशासन के साथ मिलकर कार्य कर रहे हैं।


विधायक एवं पूर्व मंत्री कमलेश्वर पटेल ने इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए मृतकों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की। उन्होंने ईश्वर से प्रार्थना कर सभी दिवंगत आत्माओं को शांति एवं शोकाकुल परिजनों को साहस प्रदान करने के साथकहा की इस घटना के दोषी शासन एवं प्रशासन है।आज व्यवसायिक परीक्षा मंडल (व्यापम) के द्वारा स्टाफ नर्स पद की ऑनलाइन परीक्षा आयोजित की गई है। यह परीक्षा जिला मुख्यालयों पर आयोजित ना होकर रीवा संभाग की सतना में परीक्षा केंद्र बनाया गया।विधायक श्री पटेल ने आगे कहा कि सीधी,सिंगरौली एवं रीवा जिले के परीक्षार्थी सतना पहुंच रहे थे। इस बस में लगभग सभी परीक्षार्थी थे, जो सतना परीक्षा देने जा रहे थे। शासन लापरवाही पूर्वक नीति नहीं बनाता तो आज की यह दुर्घटना घटित नहीं होती।

श्री पटेल ने कहा कि दूसरी ओर प्रशासन ने सीधी-रीवा-सिंगरौली राजमार्ग को पिछले 5 दिनों से बंद किया हुआ था,इसके चलते वैकल्पिक मार्ग नहर के रास्ते बस सतना की ओर जा रही थी।विधायक श्री पटेल ने मांग की है कि शासन ने मृतकों को 5-5 लाख रुपये देने की घोषणा की है, जो बहुत ही कम है उन्होंने कहा कि मृतकों के परिवार के चिराग चले गए, इसकी पूर्ति तो हो नहीं सकती लेकिन सरकार को मृतक के परिजनों को 50-50 लाख रुपए एवं नौकरी देना चाहिए। श्री पटेल ने मांग की है कि इस पूरे हादसे की निष्पक्ष जांच न्यायिक जज से करवाना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button

Adblock Detected

please dezctivate Adblocker