प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सिंगरौली को दिए 12 करोड़ रुपये की सहायता राशि, खबर देखें, - विंध्य न्यूज़

सिंगरौली-  प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मध्य प्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन सिंगरौली की स्व सहायता समूह की महिलाओं से एनआईसी सेंटर द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से चर्चा की।चर्चा के दौरान उन्होंने इस कोरोना संक्रमण में उनकी भागीदारी और संक्रमण काल में किए गए कार्यों की प्रशंसा की।इस दौरान जिला पंचायत सीईओ ऋतुराज जिला परियोजना प्रबंधक अंजुला झा, जिले के चितरंगी विकासखंड व देवसर विकासखंड से आई स्व सहायता समूह की महिलाओं ने भी भागीदारी की।


मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के  माध्यम से स्व सहायता समूह की महिला श्रीमती देवी ग्राम डुुुुम्मा टोला विकासखंड चितरंगी से बात की। इस दौरान सुश्री देवी ने बताया कि उनके द्वारा समूह में 12 महिलाएं हैं जो कि मुर्गी पालन का कार्य कर रही है। प्रति सदस्य 7 से 8 हजार रुपए मासिक आमदनी हो जाती है. जिले में करीब 600 महिलाएं मुर्गी पालन का कार्य कर रही है जिसमें 50 स्व सहायता समूह कार्य कर रहे हैं।वहीं श्रीमती शीला साकेत अध्यक्ष दिव्या स्व सहायता समूह ग्राम बरगवां द्वारा मच्छरदानी पेपर बैग लिफाफा मास्क आदि का निर्माण कार्य 11 समूह सदस्यों द्वारा किया जा रहा है जिसमें से प्रति सदस्य 15 से 20 हजार रुपए मासिक आमदनी हो रही है। 

इस दौरान जिला पंचायत सीईओ ऋतुराज ने समूहों के कार्यों की सराहना करते हुए बताया कि 1000 सदस्यों द्वारा मुर्गी पालन का कार्य किया जा रहा है जिसमें 12 करोड़ की धनराशि शासन द्वारा उपलब्ध कराई जाएगी।अंजुला झा जिला परियोजना प्रबंधक मध्यप्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन सिंगरौली द्वारा समूह के मुर्गी पालन केे कार्य को और अधिक बढ़ाकर आजीविका बढ़ाने के लिए समूह निर्माण कर आजीविका गतिविधियों से जोड़ने की बात कही. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान नेे कहा की मध्य प्रदेश को आत्मनिर्भर बनाने में महिला स्व सहायता समूह की महत्वपूर्ण भूमिका है। सरकार द्वारा विभिन्न आर्थिक गतिविधियों के लिए राशि समूह को प्रदान की जाएगी। उन्होंने सिंगरौली जिले में 1000 समूह सदस्यों को मुर्गी पालन के लिए 12 करोड़ की राशि दिए जाने की स्वीकृति प्रदान की। 

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने स्व सहायता समूह द्वारा निर्मित गणवेश मास्क सैनिटाइजर पीपीई किट साबुन निर्माण केे कार्यों की सराहना की। साथ ही महिलाओंं को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में आर्थिक गतिविधियों को प्रोत्साहित करनेेे के लिए सरकार द्वारा महिला स्वव सहायता समूह के ऋण प्रकरणों के ऑनलाइन संप्रेषण एवंं स्वीकृत की जानकारी दी।मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि महिलाएं बाजार की संभावनाओं को चिन्हित करें तथा उनके निर्माण में आगे आएं। सरकार हर संभव महिलाओं के साथ हैं। प्रदेश सरकार मार्केटिंग, ब्रांडिंग और हर संभव सहायता के लिए तत्पर है। आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश व्यापारियों से नहीं बल्कि लाखों महिलाओं के प्रयास से ही बनेगा।   

इस अवसर पर ऋतुराज जिला पंचायत सीईओ,अंजुला झा,जिला परियोजना प्रबंधक ,मंगलेश्वर सिंहजिला परियोजना प्रबंधक सूक्ष्म वित्त, स्वाति यादव वाय पी, संजीव सिंह प्रभारी जिला प्रबंधक मूल्यांकन एवं अनुश्रवण  उपस्थित रहे।