भांजे ने अपने मामा को लगाया 42 लाख का चूना,पैसे निकाल हवाई जहाज चढ़ने का शौक किया पूरा

सिंगरौली 2 नवम्बर। मुआवजे की 42 लाख रूपये की चपत लगाने वाले तीन आरोपियों को विन्ध्यनगर एवं कोतवाली टीआई ने जांच उपरांत दबोचते हुए मामले का पर्दाफास किया है। यह मामला लंघाडोल थाना क्षेत्र के बेलवार गांव का है। जहां फरियादी को विस्थापित के बदले कंपनी से मुआवजा की रकम मिली थी। यह खुलासा पुलिस अधीक्षक वीरेन्द्र कुमार सिंह के निर्देशन, एएसपी अनिल सोनकर के मार्गदर्शन में दोनों टीआई व अन्य पुलिस सेवकों ने किया है। आरोपी फरियादी का भांजा भी शामिल है और आरोपियों ने रकम हड़पने के बाद रईसजादों की तरह कई शौक पूरा किया जिसमें हवाई जहाज का सफर भी शामिल है।

विन्ध्यनगर पुलिस ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से बताया कि फरियादी दधिबल प्रसाद साहू पिता सुग्रीव प्रसाद साहू निवासी ग्राम बेलवार थाना लंघाडोल वर्तमान निवासी घूनी थाना माड़ा जिसकी पैतृक जमीन का मुआवजा करीब 47 लाख रूपये मिला था। जिसे उसने अपने बचत खाता आईडीबीआई बैंक शाखा बैढऩ में जमा किया था। उसे उक्त बैंक का एटीएम कार्ड मिला था अशिक्षित होने के कारण वह उसे उपयोग नहीं किया था उसका मोबाइल नंबर खाता में अंकित कराया था। उसने पुलिस को बताया कि करीब दो माह पहले मेरा मोबाइल अचानक बंद हो गया था उसके रिश्ते का भांजा संत कुमार शाह घूनी गांव में उसके पड़ोस में रहता था। जिसे उसको जानकारी थी की दधिबल के खाते में 42 लाख रूपये है। जिसे वह अपने साथी कुलदीप शर्मा पूर्व में कियोस्क बैंक संचालित करता था और उमाकांत के साथ पैसे निकलने की योजना बनायी।

उक्त घटना क्रम की जानकारी फरियादी के बैंक स्टेटमेंट से प्राप्त हुई। तीनों आरोपियों संत कुमार शाह उर्फ संते पिता नारायण दास शाह निवासी घूनी चौकी बंधौरा, कुलदीप शर्मा पिता अवधराज शर्मा निवासी जरौंधा चौकी खुटार एवं उमाकांत शाह पिता स्व.हरि प्रसाद शाह निवासी गहिलरा चौकी खुटार थाना बैढऩ से क्रय की गयी वस्तुओं की जानकारी उनके बैंक स्टेटमेंट से जप्त की गयी। पुलिस रिमाण्ड प्राप्त कर अन्य वस्तुओं एवं पैसे की रिकवरी की जाती है। घटना के अनुक्रम में थाना विन्ध्यनगर में धारा 420, 379 ताहि एवं 66 डी आईटी एक्ट के तहत मामला पंजीबद्ध कर जांच की जा रही है। उक्त कार्रवाई विन्ध्यनगर निरीक्षक रावेन्द्र द्विवेदी, कोतवाली टीआई अरूण पाण्डेय, एसआई राममिलन तिवारी, जीतेन्द्र भदौरिया, उदय करिहार, प्रआर मुनेन्द्र राणा, आनंद पटेल, नितिन गौतम, म.प्रआर अल्पना दुबे, सायबर सेल से मनीष शुक्ला, दीपक परस्ते का विशेष योगदान रहा।

आरोपियों ने हवाई सफर के शौक को भी किया पूरा
पुलिस ने आगे बताया कि तीनों ने मिलकर दधिबल का एटीएम कार्ड व मोबाइल चोरी कर लिया व मोबाइल में कोड बनाकर बैक का एक्सेस फ्लो अपने मोबाइल में लगातार पैसों का आहरण एटीएम बूथ, कार्ड स्वैप कर खरीददारी कर एवं अन्य खातों में पैसा स्थानांतरित कर लिया। आरोपियों ने इस दौरान मुम्बई, कलकत्ता, जयपुर, दिल्ली की हवाई यात्रा कर एवं आलीशान होटलों में रूके तथा घर गृहस्थी का हर सामान खरीदा एवं मोटर साइकिल, भैंस तथा घर बनवाये। साथ ही काफी मात्रा में आभूषणों की खरीददारी भी किया।

तीन लाख रूपये के धोखाधड़ी का आरोपी पहुंचा जेल
लंघाडोल पुलिस ने अंगूठा लगाकर 3 लाख रूपये की धोखाधड़ी करने वाले एक शातिर बदमाश को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार 1 नवम्बर को फरियादी रामजी विश्वकर्मा ने थाना लंघाडोल में शिकायत दर्ज कराया कि (परिवर्तित नाम व पता) नाम रमेश गुप्ता पिता सादुलाल गुप्ता थाना लंघाडोल ने उसके खाते से अंगूठा लगाकर 3 लाख रूपये का हड़प लिया है। सूचना को गंभीरता से लेते हुए थाना प्रभारी लंघाडोल बालेन्द्र त्योगी ने उक्त सूचना पर थाना में धारा 420, 506 भादवि के तहत मामला पंजीबद्ध कर विवेचना में ले लिया। विवेचना के दौरान पुलिस ने आरोपी को मुखबिरों की सूचना पर धर दबोचते हुए जेल भेज दिया गया। इस कार्रवाई से थाना क्षेत्र में पुलिस के प्रति लोगों का विश्वास बढ़ा है तथा अवैध कारोबार में संलिप्त कारोबारियों में हड़कम्प मचा हुआ है। उक्त कार्रवाई सउनि सोनवानी, प्रआर संत कुमार, विपिन तोमर, आर.पुष्पराज सिंह, फतेबहादुर सिंह, आकाश डोंगरे, संतोष राठौर की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

Back to top button

Adblock Detected

please dezctivate Adblocker