भाजपा विधायक की दबंगई… टीआई को दी वर्दी उतरवा लेने की दी धमकी ! - विंध्य न्यूज़

विधायक पुत्र ने टीआई के परिवार को घर उठवाने की धमकी

जबलपुर। स्नेह नगर से जिलहरी घाट चार पहिया वाहन से अनुष्ठान करने गई महिलाओं को झंडा चौक में पुलिस द्वारा चैकिंग के दौरान रोके जाने पर हंगामा हो गया। बताते हैं कि कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए जिले में कर्फ्यू लगा हुआ है ऐसी स्थिति पर हर आने जाने वाले के ऊपर पुलिस की पैनी नजर रहती है इसके लिए आने जाने वालों को पहले प्रशासन से अनुमति की जरूरत रहती है लेकिन इस पूरे मामले में वाहन में बैठे लोगों के पास कोई भी वैध पेपर नहीं था इस दशा पर पुलिस ने वाहन चालक को ग्रीन पर्ची थमा दी। इसके एक घंटे बाद थाना पनागर के भाजपा विधायक सुशील तिवारी उर्फ इंदू तिवारी दोनों बेटों व 10-15 समर्थकों के साथ पहुंचे। टीआई का आरोप है कि विधायक और उनके दोनों बेटों ने अभद्रता की और वर्दी उतरवा लेने की धमकी दी ! इतना ही नहीं विधायक के बेटे ने मेरे परिवार को घर से उठवा लेने की धमकी दी गई। रोजनामचे में घटना का उल्लेख किया हूं।इस दौरान मौके पर सीएसपी केंट व तहसीलदार गोरखपुर भी मौजूद थे। मामला अधिकारियों तक पहुंचा तो हडक़म्प मच गया। अधिकारियों ने मामले में सीएसपी से पूरे घटनाक्रम की रिपोर्ट मांगी है।

विधायक रिश्तेदार कफ्र्यू पास का कर रहे दुरुपयोग 
टीआई के मुताबिक पास प्रमोद कुमार दीक्षित के नाम पर जारी हुआ है। वाहन में कोई और था। वाहन का पास भी जिलहरी घाट पर अनुष्ठान के लिए नहीं जारी हुआ था। इस पर चालक को ग्रीन पर्ची जारी कर छोड़ दिया गया। जानकारी के अनुसार विधायक के रिश्तेदार स्नेह नगर निवासी राहुल कुमार दीक्षित और दो महिलाएं एक बच्चे के साथ रविवार रात 7.30 बजे जिलहरी घाट से अनुष्ठान कर लौट रहे थे। झंडा चौक पर टीआई ग्वारीघाट राकेश तिवारी लॉक डाउन को लेकर चैकिंग कर रहे थे। वाहन पर कफ्र्यू पास चस्पा था।

ये रही विवाद की वजह
स्थानीय लोगों की मानें तो टीआई ने कार्रवाई करने के साथ ही वाहन जब्त करने की बात कह दोनों महिलाओं को थाने ले गए। इस दौरान सुशील तिवारीविधायक ने फोन किया तो थाना प्रभारी ने कॉल रिसीव नहीं किया। इसके बाद विधायक समर्थकों के साथ थाना  पहुंचे। पुलिस सूत्रों की मानें तो इस दौरान विधायक पुत्र ने दबंगई दिखाते हुए थाना प्रभारी को काफी भला बुरा कहा साथ ही धमकाते हुए घर परिवार तब को उठाने की बात कही है। हैरानी तो इस बात की है कि यदि जनप्रतिनिधि गुंडागर्दी पर उतर आए तो आम इंसान को क्या संदेश देंगे यह सोचने वाली बात है।पूरा घटनाक्रम झंडा चौक पर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद है।

विधायक सुशील तिवारी का कहना है कि मेरे परिवार की बहू ग्वारीघाट गई थीं। उनके पास गोरखपुर तहसीलदार और मदनमहल थाने से जारी कफ्र्यू पास था बावजूद ग्वारीघाट टीआई इसे मानने को तैयार नहीं थे। उनका कहना था कि पास में दो लोगों की अनुमति है, लेकिन कार में तीन लोग सवार हैं। वरिष्ठ अधिकारियों की बात भी टीआई ने नहीं सुनी। इसके बाद थाने गया था। तब तक थाना प्रभारी वाहन छोड़ दिया था।

3 thoughts on “भाजपा विधायक की दबंगई… टीआई को दी वर्दी उतरवा लेने की दी धमकी !

  1. Nice post. I learn something more challenging on different blogs everyday. It will always be stimulating to read content from other writers and practice a little something from their store. I’d prefer to use some with the content on my blog whether you don’t mind. Natually I’ll give you a link on your web blog. Thanks for sharing.

Comments are closed.