SINGRAULI NEWS : माड़ा पुलिस अपराधियों को दे रही संरक्षण ! ग्रामीणों का फूटा गुस्सा, किया चक्काजाम


रजमिलान के कियोस्क दुकान में 3 अगस्त की दोपहर आरोपियों ने घुसकर संचालक के साथ किया था बेरहमी से मारपीट, पुलिस की कार्यप्रणाली पर उठने लगे सवाल

सिंगरौली 5 अगस्त। रजमिलान के कस्बे में दिन दहाड़े कियोस्क व स्टेशनरी दुकान में घुसकर संचालक के साथ मारपीट,तोडफ़ोड़ करने व लाखों रूपये पार कर देने वाले आरोपियों की गिरफ्तारी न किये जाने के खिलाफ कल देर शाम ग्रामीणों का गुस्सा फूट गया और भाजपा नेताओं के साथ पांच घण्टे से अधिक समय तक चक्काजाम कर दिया। जिसके चलते कोल सहित अन्य वाहनों के पहिए थम गये थे। जाम छुड़ाने के लिए पुलिस को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी।


दरअसल हुआ यूं था कि 3 अगस्त को रजमिलान कस्बे में स्थित अंश कम्प्यूटर स्टेशनरी व यूनियन बैंक ग्राहक सेवा केन्द्र में दोपहर करीब 2 बजे रमाकर शाह पिता जज्ञसेन शाह उम्र 28 वर्ष निवासी कर्सुआराजा के दुकान में शातिर आरोपी छोटन सिंह उर्फ जग्गा सिंह, सूरज सिंह व मुलायम यादव पहुंच बेवजह बेतुका सवाल जबाव करते हुए मारपीट करने लगे। दुकानदार किसी तरह आरोपियों के चंगुल से बाहर निकला लेकिन तब तक में दुकान में जमकर तोड़-फोड़ किया।

फरियादी का आरोप है कि घटना के समय करीब 2 लाख 95 हजार रूपये भी गायब हो गये। घटना की सूचना उसी दिन फरियादी थाने पहुंच गया, लेकिन आरोप है कि माड़ा पुलिस रिपोर्ट लेने में घण्टों इधर-उधर लटकाती व भटकाती रही। जिसके चलते घटना सूचना के करीब 3 घण्टे बाद किसी तरह मामला दर्ज किया। इस दौरान पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ भादवि की धारा 327, 323, 427, 34 के तहत नामजद आरोपियों के विरूद्ध अपराध पंजीबद्ध कर आश्वस्त किया कि 24 घण्टे के अंदर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जायेगा। पुलिस अपने वायदे के मुताबिक खरी नहीं उतरी तो कल 4 अगस्त की शाम करीब 5 बजे से लेकर रात 11 बजे तक रजमिलान तिराहे पर सैकड़ों ग्रामीण, आधा दर्जन से अधिक सरपंच लामबंद होकर भाजपा वरिष्ठ नेताओं के साथ चकाजाम शुरू कर दिया। बताया जा रहा है कि करीब 5 घण्टे से अधिक समय तक रजमिलान में चक्काजाम चलता रहा। चक्काजाम हटाने व लोगों का गुस्सा शांत कराने के लिए पुलिस को काफी पापड़ बेलने पड़े। अंतत: फिर से पुलिस ने आश्वासन दिया कि 24 घण्टे में आरोपियों को हरहाल में गिरफ्तार कर लिया जायेगा। बावजूद इसके तीनों आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं। तो वहीं इस दौरान ग्रामीणों ने माड़ा पुलिस की लुंज-पुंज कानून व्यवस्था के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। आरोप है कि पुलिस अवैध कार्यों एवं अपराधियों को बढ़ावा दे रही है। जिसके चलते क्षेत्र के आताताईयों, अराजकतत्वों, गुण्डा बदमाशों का हौसला बुलंद हो गया है। ऐसे शातिर अपराधियों पर सख्त कार्रवाई नहीं हुई तो यहां के ग्रामीण फिर से चक्काजाम आंदोलन करने के लिए चेतावनी दे दिया है।

घटना स्थल पर पहुंचे एसडीएम

चक्काजाम कर हंगामा कर रहे व्यवसाईयों, ग्रामीणों को समझाने के लिए माड़ा टीआई रावेन्द्र द्विवेदी जब असफल हो गये तब माड़ा एसडीएम, तहसीलदार व बरगवां टीआई एनपी सिंह को एसपी ने भेजा। चार घण्टे से अधिक समय तक लोगों को समझाने बुझाने का काम चलता रहा। ग्रामीणों की मांग थी कि बीच बाजार से शराब की दुकान हटायी जाय, अराजकतत्वों पर सख्ती के साथ कार्रवाई हो। साथ ही चौबीस घण्टे के अंदर आरोपियों की गिरफ्तारी हो। एसडीएम व पुलिस ने फिर से आश्वस्त किया है कि आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जायेगा।


कार्रवाई के नाम पर खानापूर्ति


कम्प्यूटर स्टेशनरी व कियोस्क दुकान में दिन-दहाड़े घुसकर पीडि़त के साथ मारपीट कर दुकान में जमकर तोड़-फोड़ करने, लाखों रूपये पार कर दिये जाने के बावजूद पुलिस कार्रवाई के नाम पर महज खानापूर्ति की है। पीडि़त के साथ-साथ प्रबुद्धजनों का आरोप है कि दुकान या घर में घुसकर मारपीट करना भादवि की धारा 452 के श्रेणी में आता है। किन्तु यहां पुलिस इस तरह की धारायें नहीं लगायी है। जिस पर पुलिस की संदिग्ध कार्यप्रणाली को लेकर तरह-तरह के सवाल उठाये जाने लगे हैं।
घटना की वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद


घटना की पूरी वारदात कियोस्क संचालक दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद है। फुटेज को देखने के बाद ऐसा लग रहा है कि आरोपी पूरी योजनाबद्ध तरीके से दुकान में घुसकर मारपीट व तोड़-फोड़ सहित अन्य वारदातों को अंजाम दिये हैं। दिन-दहाड़े बीच तिराहे में हुई घटना को लेकर पुलिसिंग कार्रवाई सवालों के कटघरे में आ गयी है।


दुकानदारों की मांग पूरी हो: रामनिवास

भाजपा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य रामनिवास शाह ने कहा कि आरोपीगण दुकान में घुसकर कियोस्क संचालक के साथ मारपीट किये हैं। पुलिस ने चौबीस घण्टे के अंदर आरोपियों को गिरफ्तार करने का आश्वासन दिया था। किन्तु आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं। इसीलिए ग्रामीण रजमिलान में चक्काजाम कर दिया। वहीं दुकानदारों की मांग है कि बाजार से शराब की दुकान हटानी चाहिए और आरोपियों पर सख्ती के साथ कार्रवाई हो। एसडीएम, तहसीलदार व टीआई से इस मुद्दे पर मैं स्वयं स्थल पहुंच चर्चा भी किया हूॅं।


इनका कहना है आरोपियों के विरूद्ध भादवि की धारा 327 सहित अन्य धाराएं लगायी गयी हैं पुलिस इनके धर पकड़ के लिए कार्रवाई कर रही है।
वीरेन्द्र कुमार सिंह


पुलिस अधीक्षक, सिंगरौली

Back to top button

Adblock Detected

please dezctivate Adblocker