रीवा-शहडोल की प्रभारी मंत्री मीना सिंह ने पहली बार अफसरों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए की चर्चा,  - विंध्य न्यूज़

कांफ्रेंस के दौरान मंत्री ने लॉकडाउन की स्थिति, वृद्धजनों,प्रवासी मजदूरों की कठिनाईयों के निराकरण के सहित लॉ एंड ऑर्डर पर अफसरों से की चर्चा,

रीवा. प्रदेश में भाजपा सरकार बनने के बाद रीवा तथा शहडोल संभाग की प्रभारी एवं आदिमजाति कल्याण विभाग मंत्री मंत्री मीना सिंह ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा की। कांफ्रेंस के दौरान मंत्री ने लॉकडाउन की स्थिति, प्रवासी मजदूरों की कठिनाईयों के निराकरण के सहित लॉ एंड ऑर्डर पर अफसरों से चर्चा की। मंत्री ने कहा कि रीवा तथा शहडोल संभागों में अब तक कोरोना वायरस के संक्रमण का एक भी प्रकरण नहीं आया है। इस स्थिति को बनाएं रखने के लिए अधिकारी लगातार प्रयास करें। कोरोना के विरूद्ध चल रहे संघर्ष में सबके सहयोग और परिश्रम से ही सफलता मिलेगी.प्रभारी मंत्री ने कहा कि वृद्धजन व निशक्तजन हितग्राहियों को दो माह की पेंशन की राशि जारी कर दी गई है। सोशल डिस्टेंसिंग बनाएं रखते हुए इसका वितरण कराएं।

आइजी चंचल शेखर ने कानून व्यवस्था को नियंत्रण में बताया। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाले 279 व्यक्तियों पर कार्यवाही की गई है। दवाए राशन दुकानों तथा सब्जी दुकानों में भी की गई
वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में मुख्य रूप से मुख्य वन संरक्षक अतुल खेड़े, कलेक्टर बसंत कुर्रे, डीएफओ चन्द्रशेखर सिंह, पुलिस अधीक्षक आबिद खान, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी अर्पित वर्मा अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

प्रभारी मंत्री ने मुख्य वन संरक्षक अतुल खेड़े को निर्देशित करते हुए कहा कि तेंदूपत्ता संग्रहण के लिए भी लॉकडाउन के गाइड लाइन के अनुरूप व्यवस्थाएं कराएं। महुआ तथा अन्य वनोपज के संग्रहण की भी अच्छी व्यवस्था करें। सरकार ने महुआ के लिए 35 रुपए प्रति किलो समर्थन मूल्य घोषित किया है। इसका लाभ हर महुआ संग्राहक को अनिवार्य रूप से मिलना चाहिए.संबल योजना के पात्र हितग्राहियों को तत्काल राशि जारी करें। कर्मकार मण्डल में पंजीकृत मजदूरों को भी राशि जारी करें। जो मजदूर अन्य स्थानों में फंसे हुए हैं उन्हें शासन की मंशा के अनुसार एक-एक हजार रुपए की राशि तत्काल जारी कराएं। इस कार्य को सर्वोच्च प्राथमिकता दें। जिलों में हो रहे गेंहू के उपार्जन में भी सोशल डिस्टेंसिंग एवं कोरोना से बचाव के उपाय सभी उपार्जन केन्द्रों में करें। । इस दौरान कमिश्नर डा. अशोक कुमार भार्गव ने दोनों संभागों में अब तक की स्थित की जानकारी दी।

2 thoughts on “रीवा-शहडोल की प्रभारी मंत्री मीना सिंह ने पहली बार अफसरों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए की चर्चा, 

Comments are closed.