विडो बुआ की हत्या करने वाला भतीजा गिरफ्तार,बाल अपचारी के साथ घटना को दिया था अंजाम, 48 घण्टे के अंदर अंधी हत्या का खुलासा

प्रथम दृष्टया में मिला कि सुखवंती अगरिया उम्र 65 वर्ष का अज्ञात आरोपियों ने कठोर बस्तु से सिर पर हमला कर गला दबाते हुए हत्या कर दिया गया है। जहां अज्ञात आरोपियों के विरूद्ध भादवि की धारा 302 के तहत अपराध पंजीबद्ध करते हुए विवेचना शुरू कर दी गयी।

सिंगरौली 25 मार्च। बरगवां थाना क्षेत्र के गिधेर में एक 65 वर्षीय महिला की निर्मम हत्या किये जाने के बाद सूचना पर बरगवां पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेते हुए हत्या की पतासाजी कर आरोपी युवक व उसके साथी बाल अपचारी को गिरफ्तार करने में बड़ी सफलता हासिल की है।


घटना के संबंध में बरगवां टीआई आरपी सिंह से मिली जानकारी के अनुसार ग्राम गिधेर निवासी विधवा सुखवंती अगरिया उम्र 65 वर्ष का शव उसी के घर में खून से लथपथ मिला था। इस सूचना के आधार पर पुलिस अधीक्षक वीरेन्द्र कुमार सिंह एवं एएसपी अनिल सोनकर के निर्देशन व एसडीओपी मोरवा राजीव पाठक के मार्गदर्शन में पुलिस की एक टीम गठित कर घटना स्थल पर पहुंच मौके से शव को अपने कब्जे में लेते हुए एफएसएल टीम से निरीक्षण कराकर कार्रवाई पूर्ण की गयी।

इस दौरान प्रथम दृष्टया में मिला कि सुखवंती अगरिया उम्र 65 वर्ष का अज्ञात आरोपियों ने कठोर बस्तु से सिर पर हमला कर गला दबाते हुए हत्या कर दिया गया है। जहां अज्ञात आरोपियों के विरूद्ध भादवि की धारा 302 के तहत अपराध पंजीबद्ध करते हुए विवेचना शुरू कर दी गयी। इस दौरान पता चला कि संदेही राजकुमार अगरिया पिता छोटकू अगरिया उम्र 19 वर्ष निवासी गिधेर एवं उसके साथ में एक बाल अपचारी घटना दिनांक की रात्रि में संदिग्ध अवस्था में देखे गये थे। पुलिस इसे आधार मानकर राजकुमार अगरिया को हिरासत में लेकर पूछताछ की गयी। जहां उसने सुखवंती अगरिया की हत्या करना कबूल किया। उक्त कार्रवाई में टीआई आरपी सिंह के नेतृत्व मेें एसआई खेलन सिंह करिहार, एएसआई प्रवीण मरावी, अनिल मिश्रा, प्रआर अनूप मिश्रा, फूल सिंह, रावेन्द्र सिंह, रमेश रावत एवं आर.पंकज चतुर्वेदी तथा प्रतीक कुमार का योगदान सराहनीय रहा।


मृतिका भतीजे पर करती थी चोरी का शक
बरगवां पुलिस के अनुसार आरोपी राजकुमार ने कबूल किया कि मृतिका रिश्ते में बुआ लगती थी। वह आये दिन गाली-गलौज करती थी। साथ ही 17 मार्च को गाली-गलौज कर रही थी। आरोपी राजकुमार अगरिया अपने बाल अपचारी के साथ मिलकर मृतिका के घर में रात करीब 9 बजे सूनसान घर में घुसकर आंगन में पड़े मूसर से उसके सिर के पीछे हमला कर मौत की नींद सुला दिया। साथ ही बाल अपचारी आरोपी ने गले को डण्डे से दबा दिया। उसने बताया कि वह गल्ला चोरी का शक कर रही थी और इसी शक वश वह गाली-गलौज करती थी। बरगवां पुलिस ने 48 घण्टे के अंदर अंधी हत्या का पर्दाफास करने में कामयाब रही।

Back to top button