शादी का दबाव बनाने लगी प्रेमिका, कुल्हाड़ी से गला काट कर दी प्रेमी ने हत्या

झाबुआ — शादी (Marriage) की जिद्द करना एक महिला को बड़ा महंगा पड़ गया. तंग आकर शादीशुदा प्रेमी ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर उसकी हत्या (Murder) कर दी. हत्या के पीछे की वजह अवैध संबंध को बताया जा रहा है. जानकारी के मुताबिक, युवक पहले से ही शादीशुदा थी. कुछ सालों से मृतिका का आरोपी से प्रेम प्रसंग चल रहा था. फिर आरोपी पर महिला शादी के लिए दबाव बनाने लगी. इस वजह से आरोपी ने गला रेत महिला की हत्या कर दी. वारदात के बाद से आरोपी फरार था, जिसे पुलिस ने अब मुख्य आरोपी सहित उसके पांचों साथियों को गिरफ्तार कर लिया है.

बता दें कि 25 जुलाई 44 वर्षीय महिला की लाश कडीकुआ के तालाब में मिलने के बाद अंचल में सनसनी फैल गई थी। घटना के 8 दिन बाद ही थांदला पुलिस ने इस अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने में सफलत प्राप्त कर ली है। घटना की जानकारी सोमवार को एसपी आशुतोष गुप्ता प्रेस कांफ्रेंस आयोजित कर दी।

उल्लेखनीय है कि 25 जुलाई को फ़रियादी मानसिंह ने रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। कि उसकी बेटी कमलाबाई घर से ग्राम तेजपुरा जाने का कहकर निकली थी। लेकिन वापस घर नहीं पहुंची। इधर 27 जुलाई को कडीकुंआ तालाब में एक महिला की लाश मिलने की सूचना कुछ ग्रामीणों ने पुलिस को दी। शिनाख्त करने पर पाया गया कि उक्त लाश कमलालाई की है। विवेचना में पाया गया की कमलाबाई का कई वर्षों से दुबलिया पिता भाणजी भूरिया निवासी मादलदा के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा है। घटना के दिन मृतका कमलाबाई को कुछ लोगों ने दुबलिया के साथ देखा था। दुबलिया से सख्ती से पूछताछ करने पर उसने बताया कि कमलाबाई उसके साथ शादी करना चाहती थी। जबकी दुबलिया पूर्व से ही शादीशुदा है।

जिसके चलते दुबलिया शादी के लिये मृतिका कमलाबाई को मना करता था। शादी करने की बात मृतिका बार-बार कहती थी। जिस कारण घटना दिनांक से एक दिन पहले दुबलिया ने भारत, सुनील, कमल एवं सरदार के साथ मिलकर मृतिका कमलाबाई को रास्ते से हटाने की योजना बनाई। घटना दिनांक को पूर्व योजनानुसार दुबलिया व भारत वडलीपाडा तिराहे से मृतिका कमलाबाई को मोटर सायकल पर बिठाकर कडीकुआ जंगल तरफ ले गए। तीन अन्य आरोपी सुनील, कमल एवं सरदार एक मोटर सायकल पर ग्राम मादल्दा से सीधे कडीकुआ जंगल पहुंचे। वहां पर कमलाबाई का दुबलिया के साथ चलने की बात को लेकर विवाद हुआ। विवाद के दौरान दुबलिया ने मृतिका कमलाबाई को मोटर सायकल से टक्कर मारी फिर सभी ने योजनाबद्ध तरीके से एक मत होकर तीन आरोपियों ने मृतिका कमलाबाई के हाथ-पैर पकड़े, दुबलिया द्वारा कुल्हाड़ी से एवं भारत द्वारा पत्थर से महिला के सिर पर गंभीर चोट पहुंचाई। जिससे उसकी हत्या हो गयी। उसके बाद इनके द्वारा मृतिका कमलाबाई द्वारा पहने जेवर को उतारकर आपस में बाट लिये व लाश को छुपाने के लिए उनके द्वारा मृतिका कमलाबाई के हाथ में पत्थर बांधकर तालाब में डूबो दिया व उसके बाद वहां से भाग गए।

Back to top button

Adblock Detected

please dezctivate Adblocker