सतना : राजस्व न्यायालय में चल रहे प्रकरणों को निपटाने के लिए साहब नगर सैनिकों के जरिए ले रहे रिश्वत !

सतना — वर्तमान में जिस प्रकार से मंत्रियों के रसोईये और चौकीदार इत्यादि फर्जी तरीके से ट्रांसफर इत्यादि के नोट्स शीट तैयार कराकर विभागों के लोगों को भ्रमित कर आर्थिक लाभ रहे हैं ठीक उसी प्रकार सतना के राजस्व अधिकारियों की सेवा में लगे होमगार्ड (नगर सैनिक) भी राजस्व न्यायालय में चल रहे राजस्व प्रकरणों में फैसला कराने का दावा करते हैं और शुद्ध रूप से कहते हैं कि साहब मेरे द्वारा पैसा लेते हैं सीधे अपने हाथ में नहीं लेते इस प्रकार के( नगर सैनिक) वर्षों से राजस्व अधिकारियों की सेवा में लगे है आजकल के ये नगर सैनिक भी काफी होशियार है । अधिकारी तो बदल जाते हैं पर नगर सैनिकों के कमांडेंट ऐसे सैनिकों का बदलाव भी नहीं करते क्योंकि यह नगर सैनिक अपने विभाग के कमांडेंट की भी सेवा करते हैं वरिष्ठ राजस्व अधिकारियों को इस ओर भी ध्यान रखना चाहिए उनके मातहत काम करने वाले वर्षों से उन्हीं के कार्यालय में क्यों जमे है

Back to top button

Adblock Detected

please dezctivate Adblocker