सिंगरौली : जनसुनवाई में रोजगार सहायक पर पीएम आवास के हितग्राही ने लगाया रिश्वत लेने का आरोप


जनसुनवाई में दो सैकड़ा से अधिक लोगों ने कलेक्टर से लगाई न्याय की गुहार,कलेक्टर की पहल पर जनसुनवाई में कोविड टीकाकरण सत्र का हुआ आयोजन


सिंगरौली 9 नवम्बर। जिले के आम नागरिकों की समस्याओं के समाधान के लिए हर मंगलवार को जनसुनवाई का आयोजन कलेक्ट्रेट सभागार में कलेक्टर राजीव रंजन मीना के अध्यक्षता में किया जा रहा है।कलेक्टर ने जन सुनवाई में प्राप्त आवेदन पत्रों का तत्परता के साथ निराकरण कराया जाता है। आज की जन सुनवाई में जिले के 200 लोगो ने अपनी समस्याओं से अवगत कराते हुये कलेक्टर को अपना आवेदन दिया। जिस पर गंभीरता पूर्वक विचार करते हुये कलेक्टर ने कई आवेदन पत्रो का जन सुनवाई में उपस्थित अधिकारियों से त्वरित निराकरण कराया तथा जिन आवेदन पत्रो का निराकरण जनसुनवाई के दौरान नही किया जा सका उनके निराकरण के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिये।

आज की जन सुनवाई में कलेक्टर श्री मीना के पहल पर कोविड टीकाकरण सत्र का आयोजन कलेक्ट्रेट में किया गया। टीकाकरण सत्र में ऐसे नागरिक जो जन सुनवाई के दौरान दूर दराज के क्षेत्रों से आये थे उन्होंने अब तब वैक्सीन का दूसरो डोज नही लगवाया था उनका मौके पर ही दूसरे डोज का पंजीयन कर उनका वैक्सीन की प्रथम एवं द्वितीय डोज का टीकाकरण किया गया। आज की जन सुनवाई में सर्वाधिक आवेदन भू-अर्जन से संबंधित प्राप्त हुये। साथ जिले मे कार्यरत औद्योगिक कम्पनियो में रोजगार दिलाने, गंभीर बिमारियो के ईलाज तथा आर्थिक सहायता राशि उपलब्ध कराये जाने से संबंधित प्राप्त हुये। जन सुनवाई में कलेक्टर डीपी बर्मन, संयुक्त कलेक्टर विकास सिंह, बीपी पाण्डेय, एसडीएम ऋषि पवार, निगमायुक्त आरपी सिंह, तहसीलदार जीतेन्द बर्मा सहित जिलाधिकारी मौजूद रहे।


विद्युत बिल से परेशान उपभोक्ता ने कलेक्टर से की फरियाद
जनसुनवाई के दौरान बिजली का बिल ज्यादा आने के संबंध में कलेक्टर को आवेदन पत्र देते हुए आवेदक बाबूलाल शर्मा पिता हंसेराम शर्मा निवासी भटवा बिलौंजी ने अवगत कराया कि मेरे घर का विद्युत कनेक्शन दो साल पूर्व में कराया गया था। लेकिन बिजली का बिल एक हजार रूपये से ज्यादा आता है। जबकि घर में विद्युत की खपत एक गरीब परिवार की तरह है। जिसकी जांच कराते हुए उचित बिजली का बिल दिया जाय ताकि उसे समय पर जमा किया जा सके।


पीएम आवास के नाम पर रोजगार सहायक पर रिश्वत लेने का आरोप
ग्राम पंचायत मझिगवां-2 स्थित कर्री गांव निवासी चुल्लू बैगा पिता झेंगुरी एवं शिव प्रसाद बैगा पिता चुल्लू बैगा ने कलेक्टर को आवेदन देते हुए बताया कि प्रधानमंत्री आवास बनाये जाने को लेकर रोजगार सहायक द्वारा 1 हजार रूपये रिश्वत के तौर पर लिया गया है। जिससे हमारा आवास अधूरा पड़ा हुआ है। जिसकी जांच करा संबंधित रोजगार सहायक के खिलाफ कार्रवाई करायी जाय।


सचिव एवं रोजगार सहायक पर मनमानी का आरोप
ग्राम पंचायत कोयलखूथ के कुछ ग्रामीण जनसुनवाई में पहुंच कलेक्टर राजीव रंजन मीना को आवेदन देते हुए बताया कि ग्राम पंचायत के सचिव एवं रोजगार सहायक सचिव के द्वारा पंचायत भवन में न बैठने के कारण हम लोगों को सरकार की योजनाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है। वहीं समग्र परिवार आईडी, जन्म प्रमाण पत्र तथा प्रधानमंत्री आवास योजना में नाम जोड़वाने के लिए सहायक सचिव आलोक पनिका द्वारा 5 हजार रूपये की मांग की जाती है। जिससे हम लोग परेशान हैं। उक्त सहायक सचिव के खिलाफ जांच करा उचित कार्रवाई की मांग किया है।

Back to top button

Adblock Detected

please dezctivate Adblocker