होली त्यौहार के मद्देनजर हुई शांति समिति की बैठक,जनप्रतिनिधि सहित आमजन हुए शामिल - विंध्य न्यूज़

होली त्यौहार के मद्देनजर हुई शांति समिति की बैठक, जनप्रतिनिधि सहित आमजन हुए शामिल

बैढ़न- संवाददाता, दीपक वर्मा की रिपोर्ट


सिंगरौली।  थाना परिसर में होली को लेकर शांति समिति की बैठक आयोजित की गई। जिसमें विभिन्न तरह के सुझाव और हिदायतें दी गई। एसपी के निर्देश पर जिले के सभी थाने-चौकियों में प्रभारी क्षेत्र के लोगो की बैठके ले रहे है। शान्ति समिति की इन बैठकों में होली त्यौहार सौहार्दपूर्ण माहौल में मनाने के निर्देश दिए जा रहे है। इसी कड़ी में शनिवार को बरगवा थाने में भी शान्ति समिति की बैठक आहूत की गई। इस दौरान बरगवां थाना प्रभारी मनीष त्रिपाठी द्वारा थाना क्षेत्र के लगभग सभी गांव से और सभी समुदाय के लोगों को बुलाकर बातचीत की। जिससे होली त्यौहार को सौहार्द पूर्ण रूप से मनाया जा सके। जिससे रिश्ते भाईचारा सौहार्दपूर्ण बना रहे। इस दौरान मौजूद लोगों ने होली के दिन बाइक सवारों द्वारा शराब पीकर तेज गति से गाड़ी चलाने की शिकायत की जिस पर थाना प्रभारी द्वारा बताया गया कि इस बार थाना बरगवां क्षेत्र में पिछली बार की अपेक्षा दुगुनी मोबाइल पार्टियां क्षेत्र की निगरानी करेंगे। सात मोबाइल पार्टियों से क्षेत्र में भ्रमण कर निगरानी करेगी। किसी भी वाहन चालक के शराब पिए पाए जाने पर पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। लगातार होली तक सघन वाहन चेकिंग कर समझाइश दी और नहीं मानने पर सख्त कार्यवाही के भी निर्देश दिए हैं। शांति समिति की बैठक में विभिन्न गांव के सरपंच व आम नागरिक पत्रकार बंधु उपस्थित रहे।

3 thoughts on “होली त्यौहार के मद्देनजर हुई शांति समिति की बैठक,जनप्रतिनिधि सहित आमजन हुए शामिल

  1. I’m curious to find out what blog platform you happen to be working with? I’m having some minor security issues with my latest website and I would like to find something more secure. Do you have any recommendations?

  2. Throughout this great design of things you get a B+ just for hard work. Where you actually confused everybody was first in your details. You know, as the maxim goes, details make or break the argument.. And it couldn’t be much more correct here. Having said that, permit me reveal to you just what exactly did work. Your writing is definitely really engaging and this is most likely the reason why I am taking the effort to opine. I do not really make it a regular habit of doing that. Secondly, while I can certainly see the jumps in reason you make, I am not convinced of just how you seem to connect the ideas which make the conclusion. For now I shall subscribe to your issue however trust in the foreseeable future you connect the facts better.

Comments are closed.