uncategorized

एनसीएल के नाम एक और बड़ी उपलब्धि,मिला प्रतिष्ठित’कोल मिनिस्टर-2020’ अवार्ड

माननीय कोयला मंत्री श्री प्रल्हाद जोशी के हाथों मिला विशिष्ट सम्मान,एनसीएल कृष्णशिला क्षेत्र के नव निर्मित सीएचपी का भी हुआ उद्घाटन

नॉर्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (एनसीएल) को माननीय कोयला, खान एवं संसदीय कार्य मंत्री भारत सरकार श्री प्रल्हाद जोशी के हाथों गुरुवार को प्रतिष्ठित ’कोल मिनिस्टर-2020’ अवार्ड से नवाजा गया है। नई दिल्ली में आयोजित एक समारोह में एनसीएल को यह सम्मान वर्ष-2020 में उत्पादन व उत्पादकता में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने के लिए दिया गया है।

एनसीएल की ओर से सीएमडी श्री प्रभात कुमार सिन्हा ने यह पुरस्कार ग्रहण किया। एनसीएल को यह पुरस्कार अपनी कोयला खदानों में उत्पादन व उत्पादकता में बेहतरीन प्रदर्शन कर राष्ट्र की ऊर्जा आवश्यकताओं पर खरा उतरने के लिए दिया गया है। वर्ष 2020 के फरवरी माह में देश को कोयला के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने के दृष्टिगत आयोजित ‘चिंतन शिविर’ में कोल इंडिया को वर्ष 2023-24 तक 1 बिलियन टन कोयला उत्पादन का लक्ष्य दिया गया था। इसी दौरान कोल कंपनियों में सकारात्मक स्पर्धा के माहौल को प्रोत्साहित करने हेतु प्रतिवर्ष उत्पादन-उत्पादकता, सुरक्षा एवं सतत विकास जैसे संवर्गों में ’कोल मिनिस्टर’ अवार्ड देने की घोषणा की गई थी।

मायावती सरकार में मंत्री रहे यह दो नेता हुए गिरफ्तार,गए जेल, 22 जनवरी को होगा जमानत पर फैसला

कंपनी की इस महत्वपूर्ण उपलब्धि पर एनसीएल के सीएमडी श्री पी॰ के॰ सिन्हा एवं समस्त निदेशक मंडल ने सभी कर्मियों को बधाई दी है और उम्मीद जताई है कि एनसीएल परिवार अपने समेकित प्रयासों से नए कीर्तिमान स्थापित करेगी एवं राष्ट्र की ऊर्जा आकांक्षाओं को पूर्ण करेगी ।

सिंगरौली में रेप पीड़िता न्याय के लिए लगा रही थाने के चक्कर,अफसरों तक पहुंची शिकायत,10 दिन बाद भी नही दर्ज हुई FIR,रेप पीड़िता को सुनें

एनसीएल कृष्णशिला क्षेत्र के नव निर्मित सीएचपी का भी हुआ उद्घाटन :-
समारोह में माननीय कोयला, खान एवं संसदीय कार्य मंत्री भारत सरकार श्री प्रल्हाद जोशी ने वर्चुअल विधि से एनसीएल के कृष्णशिला परियोजना में 4 एमटीपीए क्षमता के कोल हैंडलिंग प्लांट (सीएचपी) को राष्ट्र को समर्पित किया। यह सीएचपी रैपिड लोडिंग सिस्टम, 3000 टन क्षमता के साइलो,15000 टन क्षमता के बंकर, धूल शमन तकनीकी, फायर हाइड्रेंट सिस्टम, कोल क्रशर, प्री-वे हॉपर जैसी अत्याधुनिक एवं पर्यावरण के अनुकूल तकनीकियों से सुसज्जित है | इस सीएचपी के निर्माण से सड़क मार्ग से कोयला परिवहन में प्रतिदिन लगभग 10 हज़ार टन की कमी आएगी फलस्वरूप पर्यावरण प्रदूषण में कमी होगी।

img 20210121 wa00283389522967384090228

रिश्वत लेने के आरोप में थाना प्रभारी, सब इंस्पेक्टर सहित आरक्षक सस्पेंड

ग़ौरतलब है कि एनसीएल फ़र्स्ट माइल कनेक्टिविटी की कुल 9 परियोजनाओं पर लगभग 2700 करोड़ की पूंजी व्यय कर रही है l एफ़एमसी परियोजनाओं के कार्यान्वयन द्वारा मेकेनाइज्ड कन्वेयर से कोयला परिवहन एवं कम्प्यूटराइज्ड साइलो से लोडिंग सम्भव हो सकेगा, जिससे वर्ष 2023-24 तक उत्पादन लक्ष्य के अनुरूप 130 मिलियन टन से अधिक कोयले का प्रेषण पर्यावरण अनुकुल विधियों से किया जा सकेगा व सड़क मार्ग से कोयला-परिवहन पर अंकुश लगेगा । साथ ही एनसीएल, देश में कोयला-आयात को कम करने मे भी उल्लेखनीय भुमिका निभायेगी ।एनसीएल कोल इंडिया लिमिटेड की 100 मिलियन टन से अधिक कोयला उत्पादन करने वाली एक शीर्ष अनुषंगी कंपनी है जो उत्पादन के साथ-साथ सभी क्षेत्रों में उत्कृष्ट प्रदर्शन कर रही है ।

CM शिवराज ने सिंधिया की दो और मांगे की पूरी, महाराज का बढ़ा कद

20210121 1605313644879396245614676

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button