कलेक्ट्रेट परिसर में हंगामा करना शिव सैनिकों को पड़ा भारी,सिंगरौली, सीधी जिलाध्यक्ष सहित आधा सैकड़ा लोगों के खिलाफ मामला दर्ज

सिंगरौली जिला अध्यक्ष अशोक शाह और सीधी जिला अध्यक्ष विवेक पांडे समेत आधा सैकड़ा लोगों के खिलाफ धारा 341,186,188,269,270,34 आईपीसी के तहत मामला दर्ज किया गया है जिन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है जल्द ही उनकी गिरफ्तारी की जाएगी।


सिंगरौली 10 जनवरी। क्षेत्रीय समस्याओं को लेकर शिवसैनिकों ने सरई क्षेत्र की समस्याओं को लेकर प्रतिबंधित क्षेत्र कलेक्टोरेट परिसर के अंदर घुस हंगामा करना भारी पड़ गया धरना प्रदर्शन के लिए प्रतिबंधित क्षेत्र में जबरन घुसकर हंगामा करने पर कोतवाली पुलिस ने शिवसैनिक के सिंगरौली जिला अध्यक्ष अशोक सा सीधी के जिला अध्यक्ष विवेक पांडे समेत आधा सैकड़ा अन्य लोगों के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा डालने और धारा 144 का उल्लंघन करने सहित अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया।

बता दें कि शिव सैनिकों ने कलेक्ट्रेट में पहुंचने के बाद न केवल जबरन कलेक्ट्रेट परिसर के भीतर घुसे बल्कि पुलिस कर्मियों के साथ धक्का-मुक्की शुरू कर दिया। यह घटना सोमवार की अपरान्ह करीब 3 बजे के बाद की है। मामला इतना गरमाया कि भारी संख्या में पुलिस बल बुलाना पड़ा। कोतवाली टीआई अरुण पांडे ने बताया कि कलेक्ट्रेट परिसर में हंगामा करने पर कलेक्ट्रेट से मिले प्रतिवेदन के बाद शिवसैनिक सिंगरौली जिला अध्यक्ष अशोक शाह और सीधी जिला अध्यक्ष विवेक पांडे समेत आधा सैकड़ा लोगों के खिलाफ धारा 341 186 188 269 270 34 आईपीसी के तहत मामला दर्ज किया गया है जिन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है जल्द ही उनकी गिरफ्तारी की जाएगी।

दरअसल कोविड-19 की तीसरी लहर के मद्देनजर उस पर नियंत्रण पाने के उद्देश्य से जिले में धारा 144 लागू है। साथ ही कोविड के बढ़ते प्रभाव को देख कलेक्टर ने धरना प्रदर्शन, जुलूश, रैली पर प्रतिबंध लगा दिया है। बावजूद इसके आज शिवसेना के दर्जनों कार्यकर्ताओं ने सरई अंचल के कुछ गांवों की बिजली सहित अन्य मूलभूत सुविधाओं को लेकर रैली निकालते हुए कलेक्टोरेट परिसर में घुस गये और जमकर नारेबाजी करने लगे। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक कलेक्ट्रेट के जिस द्वार पर कलेक्टर का वाहन खड़ा था वहां जाकर घेर लिये और नारेबाजी करने लगे। इसी दौरान पुलिस कर्मी उन्हें यहां से हटने की हिदायत देने लगे। तभी शिव सैनिक पुलिस कर्मियों के साथ धक्का मुक्की करने लगे। मामला इतना गरमाया कि अपर कलेक्टर बाहर निकले और सख्त हिदायत देते हुए भारी भरकम पुलिस बुला लिया। मामला बिगड़ते देख शिव सैनिक धीरे-धीरे पीछे हटने लगे। हालांकि इस दौरान शिव सैनिकों ने पुलिस कर्मियों के साथ अभद्र गाली-गलौज भी किया है। जिसका वीडियो सोशल मीडिया में वायरल भी हो रहा है। अब सवाल उठ रहा है कि जब कोविड-19 के चलते धरना प्रदर्शन पर प्रतिबंध लगा हुआ है और कलेक्टोरेट परिसर में रैली, ज्ञापन, जुलूश प्रतिबंधित है फिर शिव सैनिक इतनी हिमाकत करते हुए अंदर कैसे घुसे। इस बात को लेकर कलेक्टर राजीव रंजन मीना ने काफी खफा हैं। उधर डीपी वर्मन ने शिव सैनिकों को कड़ी हिदायत दिया है।

Back to top button