uncategorized

जीपीएफ राशि के लिए दर-दर भटक रहा सेवानिवृत्त प्राचार्य,मामला देवसर महाविद्यालय का

सिंगरौली 13 मार्च। शासकीय महाविद्यालय देवसर के पूर्व में पदस्थ सेवानिवृत्त प्रभारी प्राचार्य केपी पाण्डेय जीपीएफ राशि भुगतान पाने सिंगरौली कलेक्टर से लेकर भोपाल तक चक्कर लगा चुके हैं। बावजूद इसके सेवानिवृत्त प्राचार्य को अभी तक संपूर्ण जीपीएफ राशि का भुगतान करने में मौजूदा प्रभारी प्राचार्य टाल मटोल कर रहे हैं। सूत्रों की मानें तो पहले की लड़ाई और पैसों की मांग के चलते सेवानिवृत्त प्राचार्य को टहलाया जा रहा है

सेवानिवृत्त प्राचार्य केपी पाण्डेय का आरोप है कि शासकीय महाविद्यालय देवसर के प्रभारी प्राचार्य डॉ.आरके झा जान बूझकर आज से नहीं वर्षों से परेशान करते आ रहे हैं। श्री पाण्डेय का आरोप है कि पहले मेरी डिग्री डिप्लोमा को ही फर्जी घोषित किया गया था जांच कमेटी द्वारा मेरे दस्तावेजों को सही पाया गया। प्रभारी प्राचार्य का यह आरोप बेबुनियाद निकला। वहीं श्री पाण्डेय ने मौजूदा प्राचार्य आरके झा पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि मेरे सेवानिवृत्त उपरांत एक वर्ष बीतने के बाद स्वत्वों का भुगतान नहीं किया गया। जो मेरे साथ अन्याय है।

प्रभारी प्राचार्य डॉ.झा बिना सक्षम उच्च अधिकारियों के अनुमति व स्वीकृति वगैर छ: माह का अनाधिकृत अनुपस्थिति अवधि का वेतन स्वयं आहरित करा लिया है। यह गंभीर वित्तीय अनियमितता की श्रेणी में माना जाता है। साथ ही जन भागीदार मद से 80 हजार रूपये भी गलत तरीके से आहरित कर लिया गया है। इसके अलावा प्रभारी प्राचार्य पर उच्च शिक्षा विभाग सतपुड़ा भवन भोपाल के आदेशों की अवहेलना करने का आरोप लगाया है। सेवानिवृत्त प्राचार्य ने इस ओर कलेक्टर का ध्यान आकृष्ट कराते हुए जीपीएफ राशि का भुगतान कराये जाने की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button